Breaking News:

समाज सेवा के लिये रहा पंडित दीन दयाल उपाध्याय का सम्पूर्ण जीवन : सीएम -

Monday, September 24, 2018

राधा क्यूँ गोरी मै क्यू काला …… -

Monday, September 24, 2018

लखनऊ : सीएम त्रिवेंद्र ने मध्य क्षेत्रीय परिषद् की बैठक में किया प्रतिभाग -

Monday, September 24, 2018

मंत्री ने राज्यसभा सदस्य अनिल बलूनी की पहल का किया स्वागत -

Monday, September 24, 2018

खुलेगा 300 बेड का नया जच्चा-बच्चा अस्पताल , जानिए खबर -

Monday, September 24, 2018

अखबारों की विश्वसनीयता आज भी बरकरार : प्रकाश पंत -

Monday, September 24, 2018

सीएम त्रिवेंद्र ने आयुष्मान भारत योजना के गोल्डन कार्ड किए वितरित -

Sunday, September 23, 2018

एक साथ एक समय चुनाव करवाने से धन, ऊर्जा व समय की होगी बचतः सीएम -

Sunday, September 23, 2018

जिलाधिकरी मंगेश घिल्डियाल चन्द्रशिला से तुंगनाथ धाम तक की साफ सफाई -

Sunday, September 23, 2018

मुंबई के एक शख्स ने एक ही लड़की की दो बार बचाई जान , जानिए खबर -

Sunday, September 23, 2018

रणवीर-दीपिका को टालनी पड़ी अपनी शादी,जानिए खबर -

Sunday, September 23, 2018

रमेश सिप्पी, शर्मन जोशी ने छात्रों से की खास मुलाकात , जानिये खबर -

Sunday, September 23, 2018

राज्यपाल ने की ‘ज्ञान कुंभ’ की तैयारियों की समीक्षा की -

Saturday, September 22, 2018

यात्री वाहन खाई में पलटा, 13 की मौत -

Saturday, September 22, 2018

ई हेल्थ-सेवा डेशबोर्ड का सीएम ने शुभारम्भ किया -

Saturday, September 22, 2018

मिस उत्तराखंड प्रतियोगिता “फस्ट लुक” आयोजित -

Saturday, September 22, 2018

सीएम ने किया ‘स्वच्छता ही सेवा’ अभियान के तहत श्रमदान -

Saturday, September 22, 2018

जल्द नजर आएंगे विराट कोहली बड़े पर्दे,जानिए खबर -

Saturday, September 22, 2018

30 साल से बिना वेतन के संभालते हैं गंगाराम जी ट्रैफिक, जानिए खबर -

Saturday, September 22, 2018

रमेश सिप्पी को भा गई दून की वादियां, उत्तराखंड फिल्म इंडस्ट्री का भविष्य -

Saturday, September 22, 2018

अतिथि शिक्षकों को पूर्व मुख्यमंत्री नारायण दत्त तिवारी ने दिया समर्थन

ND

देहरादून । प्रदेश भर में कार्यरत 6214 अतिथि शिक्षकों की पुनर्नियुक्ति की मांग को लेकर राजकीय माध्यमिक अतिथि शिक्षक संघ के बैनर तले अपना अनिश्चितकालीन आंदोलन आरंभ कर दिया गया और कहा कि इस ओर सकारात्मक कार्यवाही नहीं की गई तो सड़कों पर उतरकर जन आंदोलन किया जायेगा। वहीं प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री पंडित नारायण दत्त तिवारी भी धरना स्थल पहुंचे और उन्होंने अतिथि शिक्षकों की मांगों को जायज बताते हुए राज्यपाल एवं शिक्षा सचिव से इस दिशा में कार्यवाही किये जाने का अनुरोध् किया है। यहां परेड ग्राउंड स्थित धरना स्थल में अतिथि शिक्षकों का पुर्ननियुक्ति की मांग को लेकर अनिश्चितकालीन धरना जारी रहा और पूर्व मुख्यमंत्री पंडित नारायण दत्त तिवारी ने कहा कि अतिथि शिक्षकों की मांगें जायज है और उनका समाधान किया जाना चाहिए, इसके लिए राज्यपाल एवं शिक्षा सचिव को उतिच कार्यवाही करनी चाहिए, उनका कहना है कि वह भी इस दिशा में पत्र लिखेंगें। उनका कहना है कि वह भी इस लडाई में अतिथि शिक्षकों के साथ है। इस अवसर पर संघ के अध्यक्ष शांति स्वरूप सिंह ने कहा कि अतिथि शिक्षकों को पहले कैबिनेट मंजूरी के बाद ही शासनादेश के बाद ही नियुक्ति मिली थी, जबकि अब राष्ट्रपति शासन में बिना कारणों के और बिना शासनादेश के अतिथि शिक्षकों हटाया जाना न्याय संगत नहीं है। उन्होंने कहा कि आज भी कई दुर्गम स्थान ऐसे हैं जहां पर शिक्षकों की कमी है और वहां पर स्थानीय शिक्षक मिल जाने से छात्रों और स्थानीय निवासियों में काफी उत्साह है, परन्तु अब अतिथि शिक्षकों हटाने से क्षेत्रीय जनता में काफी आदेश है। जिसके लिये राज्यपाल महोदय, शिक्षा सचिव, माčयमिक शिक्षा अधिकारी को खण्ड शिक्षा अधिकारी और डीएम, एसडीएम के माčयम से कई सौ ज्ञापन भेजे गये परन्तु किसी भी प्रकार की कोई कार्यवाही नहीं की गई है। उनका कहना है कि चयन प्रक्रिया में सभी अर्हताओं को अनिवार्य रूप से मांगा गया है एवं यह वह शिक्षक हैं जो बचपन से लेके अपने पूर्ण शिक्षा काल तक उत्तम स्थान प्राप्त करते रहे हैं एवं जब इनको 89 दिनों के अनुबंध में प्रयोग के रूप में विद्यालयों में रखा गया तो शिक्षा का स्तर बेहतर हो गया एवं जो विद्यार्थी शिक्षकों की कमी की वजह से मजबूरन प्राइवेट विद्यालयों में ज्यादा फीस देकर वहां पढ़ने को मजबूर थे वह आज सरकारी विद्यालयों की और लौट रहे हैं। इस अवसर पर संघ के संरक्षक विजय सिंह पोखरियाल, हरीश आर्य, कविन्द्र सिंह कैंतुरा, दीपक कुमार, देहरादून जिला अध्यक्ष विवेक यादव, बलबीर तोमर,नरेंद्र मनी, दिनेश यादव, नरेश प्रसाद, शान्त बड़ोला, विपिन सकलानी, संजय, सुनील, प्रियंका नवानी, दयाल कृष्ण भटट, हरीश थपलियाल सहित कई अतिथि शिक्षक मौजूद थे।

Leave A Comment