Breaking News:

उत्तराखंड : दुकान खुलने का समय प्रातः 7 बजे से सांय 7 बजे तक हुआ -

Thursday, May 28, 2020

कोरोना कहर : उत्तराखंड में कोरोना मरीजों की संख्या पहुँची 500 -

Thursday, May 28, 2020

टीवी अभिनेत्री का सड़क हादसे में हुई मौत -

Thursday, May 28, 2020

बिहार की बेटी ज्योति के मुरीद हुए विदेशी भी, जानिए खबर -

Thursday, May 28, 2020

मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना’’ का शुभारंभ हुआ -

Thursday, May 28, 2020

उत्तराखंड : कोरोना मरीजो की संख्या हुई 493 -

Thursday, May 28, 2020

उत्तराखंड : मुख्यमंत्री राहत कोष में आज यह दिए दान, जानिए खबर -

Wednesday, May 27, 2020

देहरादून से विशेष ट्रेन द्वारा हज़ारो मजदूर बिहार एंव उत्तर प्रदेश के लिए रवाना, जानिए खबर -

Wednesday, May 27, 2020

उत्तराखंड : कोरोना मरीजो की संख्या हुई 469, आज 69 मरीज मिले कोरोना के -

Wednesday, May 27, 2020

ऋषिकेश-धरासू हाइवे पर 440 मीटर लंबी टनल हुई तैयार, सीएम त्रिवेंद्र ने जताया आभार -

Wednesday, May 27, 2020

कोरोना का कहर : उत्तराखंड में कोरोना मरीज हुए 438 -

Wednesday, May 27, 2020

उत्तराखंड : राज्य में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 401 -

Tuesday, May 26, 2020

“आप” पार्टी से जुड़े कई लोग, जानिए खबर -

Tuesday, May 26, 2020

उत्तराखंड : प्रदेश भाजपा ने विभिन्न समितियों का गठन किया -

Tuesday, May 26, 2020

कोरोना संक्रमित लोगों की जाँच कर रहे अस्पतालो को मिलेगा 50 लाख रूपए की प्रोत्साहन राशि -

Tuesday, May 26, 2020

उत्तराखंड : 51 कोरोना मरीज और मिले, संख्या हुई 400 -

Tuesday, May 26, 2020

नेक कार्य : पर्दे के हीरो से रियल हीरो बने सोनू सूद -

Monday, May 25, 2020

संक्रमण का दौर है सभी जनता अपनी जिम्मेदारियों को समझे : सीएम त्रिवेंद्र -

Monday, May 25, 2020

उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या 349 हुई -

Monday, May 25, 2020

उत्तराखंड : राज्य में कोरोना मरीजो की संख्या 332 हुई -

Monday, May 25, 2020

अपने सपने एनजीओ ने ‘ऐटलिस्ट वन’ प्रोजेक्ट का किया शुरुआत

apne-sapne

अपने सपने संस्था के सदस्यों ने दो सरकारी विद्यालयों (प्राइमरी स्कूल भारुवाला ग्रांट और राजकीय कन्या पूर्व माध्यमिक विद्यालय) के 150 छात्रो को संस्था के प्रोजेक्ट ‘ऐटलिस्ट वन’ के तहत स्टेशनरी वितरित की। गौरतलब है की संस्था के वोलेंटियर्स प्रत्येक शनिवार इन दोनों सरकारी विद्यालयों में अपना एक दिन का समय दान देते है। उसी दौरान संस्था ने ध्यान दिया की इन विद्यालयों के बच्चो को सरकार द्वारा किताबे-भोजन-ड्रेस तो दी जाती है, परन्तु पढाई के लिए सबसे ज्यादा जरूरी स्टेशनरी (नोटबुक्स, पेंसिल, रबर कटर आदि) नही दिए जाते। संस्था को यह भी मेहशूस हुआ की इन विद्यालयों में ऐसे परिवारों के बच्चे पढ़ते है जो पहले से ही आर्थिक रूप से कमजोर होने के कारण उनके स्टेशनरी आइटम्स का खर्च नही उठा सकते है। संस्था को यह भी लगा की यह सिर्फ एक सरकारी स्कूल की स्थिति नही बल्कि अधिकतर स्कूलों की ऐसी ही स्थिति है। इसी को ध्यान में रखते हुए संस्था के कोषाध्यक्ष चन्द्रशेखर कोठियाल ने एक प्रोजेक्ट बनाया जिसका नाम है ‘ऐटलिस्ट वन’ इस प्रोजेक्ट के तहत संस्था समाज के प्रत्येक व्यक्ति से स्टेशनरी आइटम्स (नोटबुक्स-पेन्सिल-रबर-कटर) में से कम-से-कम एक आइटम दान लेंगे, और फिर उन्हें शहर के विभिन्न सरकारी विद्यालयों में देंगे। संस्था के इस प्रोजेक्ट के तहत यह पहला वितरण कार्यक्रम था। जल्द ही ऐसे वितरण कार्यक्रम शहर के अन्य सरकारी विद्यालयों में करने की योजना है। वितरण कार्यक्रम के मौके पर विद्यालय की प्रधानाचार्य लक्ष्मी सिंघ्वाला ने संस्था के इस कार्य के धन्यवाद दिया और कहा की उनकी आशा है की संस्था आगे भी ऐसे परोपकारी कार्यो द्वारा समाज के बेहतरी के लिए कार्य करेगी। संस्था के अध्यक्ष अरुण कुमार यादव ने संस्था के कोषाध्यक्ष और इस “ऐटलिस्ट वन प्रोजेक्ट” के प्रोजेक्ट हेड चन्द्रशेखर की भूरी-भूरी प्रशंसा की, कि उन्होंने इन बच्चो की स्टेशनरी के लिए इस प्रोजेक्ट के बारे में सोचा। संस्था के सचिव दीपक कोठियाल ने जानकारी दी की इस संस्था ने यह स्टेशनरी ग्राफिक एरा यूनिवर्सिटी के छात्रो, शिखर कोचिंग इंस्टीट्यूट और डेस्टिनेशन कोचिंग इंस्टीट्यूट के छात्रों से एकत्रित की गयी थी। उन्होंने आगे यह भी बताया की अब ऐसे कलेक्शन के कार्यक्रम शहर के अन्य नामी गिरामी इंस्टीट्यूटस और स्कूलों में भी चलाएगी और फिर उन स्टेशनरी को ऐसे छात्रो में वितरित करेगी, जिन्हें उनकी आवश्यकता है। स्टेशनरी वितरण के दौरान संस्था के अध्यक्ष अरुण कुमार यादव, उपाध्यक्ष प्रियंका अनेजा, सचिव दीपक कोठियाल, उपसचिव विकास चौहान, कोषाध्यक्ष चन्द्रशेखर के अतिरिक्त कमला परिहार, मनीषा चम्याल, दीप प्रकाश पन्त, आकाश, अमित रावत आदि सदस्य भी मौजूद रहे।

Leave A Comment