Breaking News:

आखिर क्यों मैदान में खिलाड़ी, अंपायर घुटने के बल बैठे, जानिए खबर -

Saturday, July 11, 2020

अमेरिका विश्व स्वास्थ्य संगठन से हुआ अलग, जानिए क्यों -

Saturday, July 11, 2020

प्रत्येक व्यक्ति को अपनी सुविधा और कौशल के अनुसार व्यवसाय चयन करने का रोजगार प्रदान करने का अवसर : मदन कौशिक -

Friday, July 10, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3373, आज कुल 68 नए मरीज मिले -

Friday, July 10, 2020

विकास दुबे पुलिस मुठभेड़ में ढेर, जानिए खबर -

Friday, July 10, 2020

उत्तरांचल पंजाबी महासभा द्वारा कोमल वोहरा को महानगर महिला मोर्चा का अध्यक्ष चुना गया -

Friday, July 10, 2020

देहरादून : सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने व मास्क ना पहनने पर 21 लोगों का चालान -

Friday, July 10, 2020

जरा हटके : 300 वर्ष पुरानी वोगनबेलिया की बेल पेड़ सहित टूटी -

Friday, July 10, 2020

उत्तरांचल पंजाबी महासभा के प्रतिनिधिमंडल ने भेंट की फेस मास्क व फेस शील्ड -

Thursday, July 9, 2020

उत्तराखंड : विश्वविद्यालय स्तर पर अन्तिम वर्ष एवं अन्तिम सेमेस्टर की परीक्षायें 24 अगस्त से 25 सितम्बर -

Thursday, July 9, 2020

गफूर बस्ती के लोगों के उत्पीड़न पर अन्य पिछड़ा वर्ग आयोग सख्त, जानिए खबर -

Thursday, July 9, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3305, आज कुल 47 नए मरीज मिले -

Thursday, July 9, 2020

प्रधानमंत्री द्वारा ‘वोकल फाॅर लोकल एंड मेक इट ग्लोबल’ के लिए किए गए आह्वान को सभी देशवासियों का मिला समर्थन : सीएम त्रिवेंद्र -

Thursday, July 9, 2020

‘देसी गर्ल’ फिर नज़र आएगी हॉलीवुड फ़िल्म में , जानिए खबर -

Thursday, July 9, 2020

कानपुर का मुख्य आरोपी विकास दुबे उज्जैन से गिरफ्तार, जानिए खबर -

Thursday, July 9, 2020

दुःखद : भारी बारिश के चलते ढहा मकान, मां व दो बेटियों की मौत -

Thursday, July 9, 2020

उत्तराखंड : अपराधियों की एंट्री पर लगेगी रोक -

Thursday, July 9, 2020

उत्तराखंड राज्य कैबिनेट बैठक : लिए गए कई अहम फैसले, जानिए खबर -

Wednesday, July 8, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3258, आज कुल 28 नए मरीज मिले -

Wednesday, July 8, 2020

दुःखद : फिल्मी कलाकार अशोक मल्ल का हुआ निधन -

Wednesday, July 8, 2020

आईएएस ऑफिसर ने आंगनवाड़ी के बच्‍चों का बनाया भविष्‍य , जानिए खबर

वक्त के इस भागमभाग भरे दौर में अच्छे सामाजिक रास्ते पर चलना भी एक सुकून भरा पल होता है यही नही कामयाबी के बाद अपने लिए बेहतर ज़िंदगी तो सभी चुनते है पर ऐसे लोग बहुत कम होते हैं जो खुद सुकून से रहने के बाद भी दूसरों की ज़िंदगी बेहतर बनाने की सोचते हैं. जी हां आज हम आज हम एक ऐसी ही आईएएस ऑफिसर की बात कर रहे है, जिन्होंने आंगनवाड़ी को गोद लेकर निजी खर्चे से बच्‍चों का भविष्‍य बनाया. यह है आईएएस ऑफिसर गरिमा सिंह जो आईएएस ऑफिसर गरिमा सिंह ने 2015 में यूपीएससी परीक्षा में 55 रैंक हासिल की 55 वां स्थान पाने से पहले गरिमा सिंह इससे पूर्व वह आईपीएस ऑफिसर थीं | महिला हेल्पलाइन 1090 को स्थापित करने में भी उनका अहम योगदान रहा है गरिमा सिंह अपने कार्यक्षेत्र में आंगनवाड़ी को गोद लेकर उसका स्‍वरूप बदलने के लिए सुर्खियों में हैं | गरिमा ने दिल्ली यूनिवर्सिटी के सेंट स्टीफन कॉलेज से बीए और एम.ए. (हिस्ट्री) किया. यूपी के बलिया की गरिमा ने सिविल सर्विसेज एग्जाम पहली बार 2012 में दिया. आईपीएस बनकर लखनऊ में 2 साल तक अंडर ट्रेनी एएसपी तैनात रहीं. दूसरी पोस्टिंग झांसी में बतौर एसपी सिटी हुई. ड्यूटी के साथ आईएएस की तैयारी की | 2016 में गरिमा को झारखंड के हजारीबाग में आईएएस ऑफिसर एवं समाज सेवक ऑफिसर की पोस्टिंग मिली. समाज सेवा के क्षेत्र में विशेषकर बच्चों की शिक्षा पर काम करने का मौका मिला | गरिमा ने हजारीबाग की आंगनवाड़ी की जर्जर हालत देख मटवारी मस्जिद हजारीबाग की आंगनवाड़ी को गोद उन्होंने ने लिया निजी खर्च पर गरिमा आंगनवाड़ी की इमारत को नया रूप दिया साथ ही उसमे स्पोर्ट्स सामान, कुर्सी-टेबल, ब्लॉक, खिलौनो की व्यवस्था भी किये , सरकार ने इसी तर्ज पर 31 मार्च तक 50 ऐसे सेंटरों के पुनर्निर्माण की घोषणा भी कर दी है |

Leave A Comment