Breaking News:

बच्चों के जन्म एवं विवाह पर पौधे अवश्य लगाए : वन मंत्री हरक सिंह -

Thursday, July 18, 2019

स्नातकोत्तर महाविद्यालय ऋषिकेश को विवि का परिसर बनाने को मिली हरी झंडी -

Thursday, July 18, 2019

एसीजेएम अनुराधा गर्ग हुई बर्खास्त , जानिए खबर -

Thursday, July 18, 2019

समाज में महिलाओं को हुनरमंद बनाया जाना समय की जरूरत : मुख्यमंत्री -

Thursday, July 18, 2019

सिंधु की क्वॉर्टर फाइनल में एंट्री, जानिए ख़बर -

Thursday, July 18, 2019

अक्षय कुमार की फिल्म ‘मिशन मंगल’ का ट्रेलर रिलीज , जानिए ख़बर -

Thursday, July 18, 2019

हरेला के महत्व पर मुख्यमंत्री ने लिखा ब्लॉग -

Wednesday, July 17, 2019

हंस फाउंडेशन की सहयोग से बनेगा आदर्श विद्यालय -

Wednesday, July 17, 2019

रिक्शा चलाने वाले का बेटा बना IAS अफसर, जानिए खबर -

Wednesday, July 17, 2019

दिव्‍यांग फैन ने पैर से बनाई सलमान की तस्‍वीर, जानिए ख़बर -

Wednesday, July 17, 2019

वर्ल्ड चैंपियनशिप के लिए चुनी जाएगी रेसलिंग टीम, जानिए ख़बर -

Wednesday, July 17, 2019

संजय दत्त को पसंद आया ‘ओ साकी साकी’ गाने के रीमेक -

Tuesday, July 16, 2019

शराब बॉटलिंग प्लांट के खिलाफ पूर्व सीएम भुवन चंद्र खंडूड़ी , जानिए खबर -

Tuesday, July 16, 2019

पांच वर्षीय बालिका के साथ दुराचार करने वाला आरोपी गिरफ्तार -

Tuesday, July 16, 2019

उफनती गोरी नदी में गिरी कार, तीन लोगों की मौत -

Tuesday, July 16, 2019

हरेला पर्व : रिस्पना से ऋषिपर्णा अभियान के तहत सीएम त्रिवेंद्र ने किया वृक्षारोपण -

Tuesday, July 16, 2019

बजाज हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड के होम्स एंड लोन्स के साथ प्रॉपर्टी ढूँढें और फाइनेंस कराएं -

Tuesday, July 16, 2019

विराट को नहीं मिली आईसीसी वर्ल्ड कप टूर्नमेंट की टीम में जगह -

Monday, July 15, 2019

बिहार में टैक्‍स फ्री हुई ‘सुपर 30’, जानिये ख़बर -

Monday, July 15, 2019

सरकारी योजनाओं व अधिकारों की जानकारी महिलाओं को होना आवश्यक -

Monday, July 15, 2019

आईएसबीटी का फ्लाईओवर फिर विवादों के घेरे में….

देहरादून । आईएसबीटी के पास बना वाईशेफ फ्लाईओवर उद्घाटन के बाद से विवादों में घिर गया है। पहले सीधे आकार में बने इस फ्लाई ओवर के बीचों बीच वाई शेप वाला हिस्सा जोड़ने से आई तकनीकी खामियों की वजह से दुर्घटनाओं के आसार बढ़ गए हैं। दरअसल, पहले तैयार फ्लाई ओवर के जिस बीच वाले भाग पर वाई शेप जोड़ा गया, जिससे हरिद्वार रोड की तरफ से आने वाला ट्रैफिक के लिए स्प्रिंग पोस्ट लगा दिए गए हैं, जिसकी वजह से फ्लाई ओवर बीच के हिस्से से संकरा हो गया है। इतना ही नहीं दोनों लेन की डेड एंड सीधा है, जिस वजह से वाहनों का आपस में टकरने जैसी स्थिति बन जाती है। आईएसबीटी के इस वाई शेप फ्लाई ओवर पर तकनीकी समस्या इसलिए सामने आ रही है क्योंकि इस इसाका निर्माण पहले वाई शेप डिजाइन के तहत नहीं हुआ था। बाद में ट्रैफिक को डायवर्ट करने के लिए सीधे फ्लाई ओवर पर वाई शेप का हिस्सा जोड़ा गया। वाई शेप फ्लाई ओवर वन-वे ट्रैफिक के लिए है, जिसका इस्तेमाल हरिद्वार बाईपास रोड से सहारनपुर तरफ जाने के लिए किया जा रहा है। ऐसे में हरिद्वार रोड से आने वाला ट्रैफिक सीधे शहर के बाहर चला जाएगा। बताया जा रहा है कि यह वाई शेप फ्लाई ओवर पूर्व कांग्रेस सरकार की कैबिनेट में रहे एक मंत्री के राजनीतिक दबाव के कारण बनाया गया है। इस मामले में संबंधित लोक निर्माण विभाग के आला अधिकारियों की मानें तो फ्लाईओवर के निर्माण को लेकर साफ तौर फ्लाईओवर के विवादों में घिरने को लेकर सरकारी कार्यदायी संस्था उत्तराखंड लोक निर्माण विभाग के प्रभारी चीफ इंजीनियर हरिओम शर्मा ने खतरा होने से इनकार कर दिया है। उन्होंने बताया कि पहले से तैयार हो रहे फोर लेन फ्लाई ओवर में एक अलग से हिस्सा वाई शेप वाली एक नयी लेन जोड़ना बड़ी समस्या का कारण बन रहा था। क्योंकि रोड के दोनों तरफ दुकानों और सड़क की वजह से निर्माण में मार्जन नहीं मिल रहा था। ऐसे में फोरलेन वाले सीधे फ्लाईओवर पर ही वाई शेप हिस्सा जोड़ दिया गया। हालांकि, फ्लाईओवर के बीच में एंगल ऑफ कंवर्जन का ध्यान रखा गया है, जो 15 से 20 डिग्री के एंगल पर रखा जाता है. चीफ इंजीनियर का मानना है कि फ्लाई ओवर पर ट्रैफिक सुरक्षा के बंदोबस्त कर दिए गए हैं। आईएसबीटी वाई शेप वाले इस फ्लाई ओवर विवादों के घेरे में फंसने के बाद शासन द्वारा इसकी तकनीकी जांच के आदेश हो चुके हैं। इसके बाद अब इसके निर्माण कार्य और तकनीकी खामियों को बारिकियों से देखा जा रहा है। हालांकि शासन द्वारा इस फ्लाईओवर की जांच वाले आदेश पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं। कहा जा रहा है कि जब लोक निर्माण विभाग ने इस फ्लाईओवर को पहले ही जोड़ने से मना कर दिया था तो जांच किस तरह से आगे बढ़ेगी। पर तकनीकी समस्या का हवाला देते हुए विभागीय इंजीनियरों ने पहले इस डिजाइन से फ्लाई ओवर नहीं बनाया था।

Leave A Comment