Breaking News:

जुलाई में उत्तराखण्ड में दस्तक देगा मानसून -

Sunday, June 24, 2018

पर्वतीय क्षेत्र में एनसीसी मुख्यालय एवं एकेडमी के लिए जगह होगी उपलब्ध -

Sunday, June 24, 2018

उदय शंकर नाट्य अकादमी में कलाकारों ने दी सांस्कृतिक प्रस्तुतियां -

Sunday, June 24, 2018

पौधारोपण के क्षेत्र में मैती आंदोलन के प्रयास सराहनीय : सीएम त्रिवेन्द्र -

Sunday, June 24, 2018

उत्तराखण्ड में शूटिंग करना मेरा सौभाग्य : मधुरिमा तुली -

Sunday, June 24, 2018

महाराष्ट्र व उत्तराखण्ड के सूचना विभाग ने साझा किये अपने अपने अनुभव -

Sunday, June 24, 2018

अनुसूचित जाति व जनजाति में उद्यमशीलता को बढ़ावा देने पर फोकस : सीएम त्रिवेंद्र -

Saturday, June 23, 2018

‘‘ओक तसर विकास परियोजना’’ का सीएम त्रिवेंद्र ने किया शुभारम्भ -

Saturday, June 23, 2018

चैलाई के प्रसाद के रूप में तीन गुना मिल रहा फायदा, जानिए ख़बर -

Saturday, June 23, 2018

अमित शाह 24 जून को दून दौरे पर, जानिए ख़बर -

Saturday, June 23, 2018

औद्योगिक विकास योजना को लेकर कार्यशाला का आयोजन, जानिए ख़बर -

Saturday, June 23, 2018

साहसिक पर्यटन गतिविधियों पर रोक के फैसले का अध्ययन किया जा रहा : मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र -

Friday, June 22, 2018

हाईकोर्ट ने गंगा में राफ्टिंग सहित सभी वॉटर स्पोर्ट्स पर लगया बैन जानिए ख़बर -

Friday, June 22, 2018

सीएम ने की अनेक विभागो के कार्यो की जनपदवार समीक्षा , जानिए ख़बर -

Friday, June 22, 2018

पति ने पत्नी को पीटने की मांगी इजाजत जानिए ख़बर -

Friday, June 22, 2018

देश की रक्षा के लिए उत्तराखंड का एक और लाल शहीद -

Friday, June 22, 2018

फिल्म ‘सत्यमेव जयते’ का पहला पोस्टर रिलीज़ -

Friday, June 22, 2018

जम्मू कश्मीर में एनएसजी कमांडो तैनात, करेंगे आतंकियों का सफाया -

Friday, June 22, 2018

यात्रियों को विमान से उतारने के लिए AC किया तेज़, जानिए ख़बर -

Friday, June 22, 2018

योग महोत्सव कार्यक्रम की सफल आयोजन पर सभी का धन्यवाद : सीएम त्रिवेंद्र -

Thursday, June 21, 2018

आशा कार्यकत्रियों के लिए 33 करोड़ रूपये की प्रोत्साहन राशि जारी : सीएम

देहरादून | मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि प्रदेश की आशा कार्यकत्रियों को वर्ष 2012-13 से रूकी हुई वार्षिक प्रोत्साहन धनराशि हेतु 33 करोड़ रूपये जारी कर दिये गये हैं। गौरतलब है कि वर्ष 2012 से आशा कार्यकत्रियों को 5 हजार रूपये प्रतिवर्ष प्रोत्साहन राशि देने की योजना शुरू की गयी थी, जिसका कभी भी नियमित रूप से भुगतान नहीं हो पाया। आशा कार्यकत्रियों द्वारा इसकी लगातार माँग की जा रही थी। ‘आपकी राय, आपका बजट‘ कार्यक्रम के दौरान भी इस लम्बित राशि को जारी किए जाने का सुझाव प्राप्त हुआ था। आशा कार्यकत्रियों की मांग का संज्ञान लेते हुए मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने योजना की शुरूआत से अब तक की लम्बित पूर्ण 33 करोड़ की धनराशि जारी कर दी है। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के दिन जारी हुई इस राशि से प्रदेश की 12000 आशा कार्यकत्रियों में से प्रत्येक को न्यूनतम 25 हजार रूपये प्राप्त होंगे।

481 डाॅक्टरों एवं 293 महिला स्वास्थ्य कार्यकत्री की भर्ती प्रक्रिया पूर्ण

अध्यक्ष, चिकित्सा चयन बोर्ड श्री डी.एस. रावत ने बताया कि वर्तमान में चालू भर्ती प्रक्रिया में 481 चिकित्सकों का चयन और हुआ है। जिसमें से 193 महिला चिकित्सक तथा  86 विशेषज्ञ डाॅक्टर सम्मिलित हैं। महानिदेशक चिकित्सा ने बताया कि चिकित्सा विभाग में 440 महिला स्वास्थ्य कार्यकत्री के रिक्त पदों के सापेक्ष 293 पदों पर चयन कर लिया गया है तथा 380 पदों पर चयन हेतु विज्ञप्ति जारी कर दी गयी है।

स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर बनाना राज्य सरकार की प्राथमिकता

मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र ने कहा कि प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर बनाना राज्य सरकार की शीर्ष प्राथमिकताओं में हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार बनने के बाद पहले वर्ष एक हजार डाॅक्टरों की नियुक्ति का लक्ष्य रखा गया था, जिसके मुकाबले 1140 डाॅक्टरों की नियुक्ति की जा चुकी है। सूचना प्रौद्योगिकी का उपयोग करते हुए सरकार ने टेली मेडिसिन, टेली रेडियोलाॅजी एवं डिजिटल पैथोलाॅजी के क्षेत्र में तेजी से आगे बढ़ रही है। प्रदेश के 12 अस्पताल टेली रेडियोलाॅजी एवं 24 अस्पताल टेली मेडिसिन से जुड़ चुके हैं। उन्होंने कहा कि देश में 147 सेटरों में आॅन लाइन रजिस्ट्रेशन की सुविधा है, जिसमें से 47 सेंटर उत्तराखण्ड के हैं। उन्होंने कहा कि इस वर्ष राज्य के सभी जिला अस्पतालों में आईसीयू की सुविधा उपलब्ध कराई जायेगी। पिथौरागढ़, पौड़ी एवं टिहरी के जिला अस्पतालों में आईसीयू के लिए कार्य प्रारम्भ हो चुका है।

अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर प्रदेश में बाल लिंगानुपात को संतुलित करने का सबको संकल्प लेना होगा

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि  इस वर्ष अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस की थीम है ‘प्रेस फाॅर प्रोग्रेस’। प्रदेश में बाल लिंगानुपात में बेटियों की संख्या में 2011 की जनगणना के बाद वृद्धि तो हुई है, लेकिन इसको संतुलित करने के लिए व्यापक स्तर पर जन जागरूकता जरूरी है। 2011 में उत्तराखण्ड में बाल लिंगानुपात 890 था जो वर्तमान में 934 तक पहुंच गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 2020 तक बाल लिंगानुपात को 950 से अधिक पहुंचाना होगा।

महिला सशक्तीकरण की दिशा में राज्य सरकार अग्रसर

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने कहा कि अगर महिला मजबूत होगी तो समाज को मजबूती मिलेगी। यदि समाज के दो पहिये समान रूप से विकास में अपना योगदान देंगे तो प्रदेश एवं समाज का विकास तेजी से होगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार महिला सशक्तीकरण हेतु कृत संकल्पित है। महिला स्वयं सहायता समूहों को स्वरोजगार के लिए प्रशिक्षण दिये जा रहे हैं।

Leave A Comment