Breaking News:

सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज बने देश के पहले लोकपाल, जानिए ख़बर -

Tuesday, March 19, 2019

सेल्समैन ने लौटाया दस लाख रुपयों से भरा बैग, जानिए ख़बर -

Tuesday, March 19, 2019

संजय दत्त पहनेंगे ‘पानीपत’ में 35 किलो का कवच ! -

Tuesday, March 19, 2019

जेईई मेन के अंक और रैंक में सुधार करने का दूसरा मौका, जानिए खबर -

Tuesday, March 19, 2019

लोकसभा चुनाव : सी-विजिल एप पर 857 शिकायतें एवम टोल फ्री नम्बर 1950 पर 33 हजार काॅल आईं -

Tuesday, March 19, 2019

‘कलंक’ फिल्म देखने को बेहद उत्‍साहित हैं जाह्नवी कपूर, जानिए ख़बर -

Monday, March 18, 2019

गोवा के मुख्यमंत्री बनेगे बीजेपी के प्रमोद सावंत , जानिए ख़बर -

Monday, March 18, 2019

दो साल में प्रदेश के ढाई लाख युवाओं को जोड़ा गया रोजगार से : सीएम -

Monday, March 18, 2019

युवा मतदाताओं के लिए ‘‘इन्टरेविटव सेशन‘‘ का हुआ आयोजन -

Monday, March 18, 2019

होली खेलें समय त्वचा का रखें खास ख्यालः डा. आशुतोष -

Monday, March 18, 2019

शहर कोतवाल के मौसेरे भाई की गोली मारकर हत्या -

Monday, March 18, 2019

कांग्रेस और भाजपा के बीच एक नई वॉर शुरू -

Sunday, March 17, 2019

उत्तरांचल प्रेस क्लब ने मनाया धूमधाम से होली मिलन समारोह -

Sunday, March 17, 2019

लंबे समय से कैंसर से पीड़ित ,गोवा के सीएम मनोहर पर्रिकर का निधन -

Sunday, March 17, 2019

प्रिया प्रकाश की फिल्‍म ‘श्रीदेवी बंगलो’ का टीजर रिलीज -

Sunday, March 17, 2019

राजनीतिक विज्ञापनों का पूर्व सर्टिफिकेशन आवश्यक , जानिए खबर -

Sunday, March 17, 2019

लोकसभा निर्वाचन में मीडिया की भूमिका महत्वपूर्ण : डीएम दीपक रावत -

Sunday, March 17, 2019

बीसी खंड़ूड़ी के पुत्र मनीष खंडूड़ी हुए कांग्रेस में शामिल -

Saturday, March 16, 2019

देहरादून रैली : पीएम मोदी पर जमकर बरसे राहुल गांधी -

Saturday, March 16, 2019

बीसीसीआई ने शहीदों के परिवारों के लिए उठाया सराहनीय कदम -

Saturday, March 16, 2019

आशा कार्यकत्रियों के लिए 33 करोड़ रूपये की प्रोत्साहन राशि जारी : सीएम

देहरादून | मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि प्रदेश की आशा कार्यकत्रियों को वर्ष 2012-13 से रूकी हुई वार्षिक प्रोत्साहन धनराशि हेतु 33 करोड़ रूपये जारी कर दिये गये हैं। गौरतलब है कि वर्ष 2012 से आशा कार्यकत्रियों को 5 हजार रूपये प्रतिवर्ष प्रोत्साहन राशि देने की योजना शुरू की गयी थी, जिसका कभी भी नियमित रूप से भुगतान नहीं हो पाया। आशा कार्यकत्रियों द्वारा इसकी लगातार माँग की जा रही थी। ‘आपकी राय, आपका बजट‘ कार्यक्रम के दौरान भी इस लम्बित राशि को जारी किए जाने का सुझाव प्राप्त हुआ था। आशा कार्यकत्रियों की मांग का संज्ञान लेते हुए मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने योजना की शुरूआत से अब तक की लम्बित पूर्ण 33 करोड़ की धनराशि जारी कर दी है। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के दिन जारी हुई इस राशि से प्रदेश की 12000 आशा कार्यकत्रियों में से प्रत्येक को न्यूनतम 25 हजार रूपये प्राप्त होंगे।

481 डाॅक्टरों एवं 293 महिला स्वास्थ्य कार्यकत्री की भर्ती प्रक्रिया पूर्ण

अध्यक्ष, चिकित्सा चयन बोर्ड श्री डी.एस. रावत ने बताया कि वर्तमान में चालू भर्ती प्रक्रिया में 481 चिकित्सकों का चयन और हुआ है। जिसमें से 193 महिला चिकित्सक तथा  86 विशेषज्ञ डाॅक्टर सम्मिलित हैं। महानिदेशक चिकित्सा ने बताया कि चिकित्सा विभाग में 440 महिला स्वास्थ्य कार्यकत्री के रिक्त पदों के सापेक्ष 293 पदों पर चयन कर लिया गया है तथा 380 पदों पर चयन हेतु विज्ञप्ति जारी कर दी गयी है।

स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर बनाना राज्य सरकार की प्राथमिकता

मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र ने कहा कि प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर बनाना राज्य सरकार की शीर्ष प्राथमिकताओं में हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार बनने के बाद पहले वर्ष एक हजार डाॅक्टरों की नियुक्ति का लक्ष्य रखा गया था, जिसके मुकाबले 1140 डाॅक्टरों की नियुक्ति की जा चुकी है। सूचना प्रौद्योगिकी का उपयोग करते हुए सरकार ने टेली मेडिसिन, टेली रेडियोलाॅजी एवं डिजिटल पैथोलाॅजी के क्षेत्र में तेजी से आगे बढ़ रही है। प्रदेश के 12 अस्पताल टेली रेडियोलाॅजी एवं 24 अस्पताल टेली मेडिसिन से जुड़ चुके हैं। उन्होंने कहा कि देश में 147 सेटरों में आॅन लाइन रजिस्ट्रेशन की सुविधा है, जिसमें से 47 सेंटर उत्तराखण्ड के हैं। उन्होंने कहा कि इस वर्ष राज्य के सभी जिला अस्पतालों में आईसीयू की सुविधा उपलब्ध कराई जायेगी। पिथौरागढ़, पौड़ी एवं टिहरी के जिला अस्पतालों में आईसीयू के लिए कार्य प्रारम्भ हो चुका है।

अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर प्रदेश में बाल लिंगानुपात को संतुलित करने का सबको संकल्प लेना होगा

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि  इस वर्ष अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस की थीम है ‘प्रेस फाॅर प्रोग्रेस’। प्रदेश में बाल लिंगानुपात में बेटियों की संख्या में 2011 की जनगणना के बाद वृद्धि तो हुई है, लेकिन इसको संतुलित करने के लिए व्यापक स्तर पर जन जागरूकता जरूरी है। 2011 में उत्तराखण्ड में बाल लिंगानुपात 890 था जो वर्तमान में 934 तक पहुंच गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 2020 तक बाल लिंगानुपात को 950 से अधिक पहुंचाना होगा।

महिला सशक्तीकरण की दिशा में राज्य सरकार अग्रसर

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने कहा कि अगर महिला मजबूत होगी तो समाज को मजबूती मिलेगी। यदि समाज के दो पहिये समान रूप से विकास में अपना योगदान देंगे तो प्रदेश एवं समाज का विकास तेजी से होगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार महिला सशक्तीकरण हेतु कृत संकल्पित है। महिला स्वयं सहायता समूहों को स्वरोजगार के लिए प्रशिक्षण दिये जा रहे हैं।

Leave A Comment