Breaking News:

अगर तैयारी पूरी थी तो परिणाम क्यों नहीं, जानिए खबर -

Wednesday, May 23, 2018

देश मे तापमान 40 डिग्री के पार, उत्तराखण्ड में अलर्ट -

Wednesday, May 23, 2018

स्वरोजगार से लगेगा पलायन पर अंकुश : मुख्यमंत्री -

Wednesday, May 23, 2018

दिल्ली सरकार ने 575 निजी स्कूलों को दिया बढ़ी फीस वापस करने का आदेश -

Wednesday, May 23, 2018

पीएम द्वारा चारधाम महामार्ग विकास परियोजना के प्रगति की सराहना, जानिए ख़बर -

Wednesday, May 23, 2018

कुमारस्वामी बने कर्नाटक के सीएम, विपक्षी ने दिखाई एकता -

Wednesday, May 23, 2018

उत्तराखण्ड में होगी टी.वी. सीरियल स्पिलिट विला सीजन 11 की शूटिंग जानिए ख़बर -

Tuesday, May 22, 2018

कुमारस्वामी कल लेंगे मुख्यमंत्री पद की शपथ -

Tuesday, May 22, 2018

हाईकोर्ट ने एकलपीठ के आदेश को किया रद्द, निकाय चुनाव कराने का रास्ता साफ -

Tuesday, May 22, 2018

फिल्म ‘सूरमा’ का नया पोस्टर रिलीज, फिल्म 13 जुलाई को होगी रिलीज -

Tuesday, May 22, 2018

एसबीआई का घाटा 7718 करोड़ पर पहुंचा जानिए ख़बर -

Tuesday, May 22, 2018

सीएम त्रिवेंद्र ने केदारनाथ धाम में 10 बैड के अस्पताल का किया उद्घाटन -

Monday, May 21, 2018

शराब दुकानों के आवंटन में करोड़ो का खेल : विकेश सिंह नेगी -

Monday, May 21, 2018

एक खतरनाक वायरस जो चमगादड़ से फैलता है जानिए ख़बर -

Monday, May 21, 2018

पुजारी ने सीएम नायडू पर लगाया 100 करोड़ के घोटाले का आरोप, जानिए ख़बर -

Monday, May 21, 2018

हरियाणा बोर्ड ने 10वीं का रिजल्‍ट जारी किया, 51% बच्‍चे पास -

Monday, May 21, 2018

आंध्र प्रदेश स्पेशल ट्रेन में ग्वालियर के पास 4 डिब्बों में लगी आग जानिए ख़बर -

Monday, May 21, 2018

भारत ने किया ब्रह्मोस मिसाइल का सफल परीक्षण जानिए ख़बर -

Monday, May 21, 2018

उत्तराखंड पुलिस ने किया मांउण्ट एवरेस्ट फतह, मुख्यमंत्री ने दी बधाई -

Sunday, May 20, 2018

पीएम मोदी कल करेंगे राष्ट्रपति पुनित के साथ बैठक -

Sunday, May 20, 2018

‘‘इंटर यूनिवर्सिटी स्पोर्ट्स मीट’’ का हुआ शुभारम्भ

uk

देहरादून | राज्यपाल डाॅ. कृष्ण कांत पाल, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत व उच्च शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत ने दून विश्वविद्यालय में आयोजित प्रथम ‘‘इंटर यूनिवर्सिटी स्पोर्ट्स मीट’’ का शुभारम्भ किया। 26 अक्टूबर से 29 अक्टूबर तक आयोजित स्पोर्ट्स मीट के लिए आयोजक दून विश्वविद्यालय को बधाई देते हुए राज्यपाल ने कहा कि राज्य के विश्वविद्यालयों को क्वालिटी एजुकेशन, उच्च स्तरीय व मौलिक शोध व स्पोर्ट्स का सेंटर बनाने के लिए अनेक पहल की गई हैं। प्रयास किया जा रहा है कि विश्वविद्यालयों के छात्र-छात्राओं के बहुमुखी व्यक्तित्व का विकास हो। राज्यपाल ने कहा कि अभी पहला आयोजन होने के कारण इस प्रतियोगिता में कम इवेंट्स शामिल की गई हैं। अगले वर्षों में इसमें और भी खेलों को शामिल किया जाएगा। राज्य में पहली बार ‘‘इंटर यूनिवर्सिटी स्पोर्ट्स मीट’’ आयोजित की गई है। शुरूआत छोटी जरूर है परंतु मजबूत शुरूआत है। प्रतिभागी खिलाड़ियों के जोश में कोई कमी नहीं दिख रही है। राज्यपाल ने कार्यक्रम में उपस्थित मुख्यमंत्री व उच्च शिक्षा मंत्री को प्रदेश में अंतर महाविद्यालय 20-20 क्रिकेट प्रतियोगिता कराए जाने का सुझाव दिया। उन्होंने कहा कि इससे बड़ी संख्या में राज्य की प्रतिभाएं उभर कर सामने आएंगी। राज्यपाल ने कहा कि शिक्षा व खेल एक दूसरे के पूरक हैं। चरित्र निर्माण में जितना महत्व शिक्षा का है उतना ही महत्व खेलों का भी है। राज्यपाल ने ओलम्पियन मनीष रावत का उदाहरण देते हुए कहा कि खिलाड़ी भी युवाओ के लिए रोल माॅडल हैं। उत्तराखंड की भौगोलिक स्थितियां खिलाड़ियों के स्टेमिना केा बढ़ाने में सहायक है। राज्य में खेल प्रतिभाओं की कमी नहीं है। इन्हें समुचित प्लेटफार्म उपलब्ध करवाए जाने की जरूरत है। इसके लिए सरकार प्रयासरत भी है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने प्रथम अंतर विश्वविद्यालय खेल प्रतियोगिता के आयोजन के लिए राज्यपाल डाॅ. के.के.पाल की पहल पर आभार व्यक्त करते हुए प्रतियोगिता के लिए 11 लाख रूपए दिए जाने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि खेलों से शारीरिक और मानसिक विकास ही नहीं बल्कि टीम भावना और सामूहिकता की भावना का विकास भी होता है । यह खेल प्रतियोगिता, युवा छात्र छात्राओं के लिए एक बढ़िया अवसर है। खिलाड़ियों द्वारा किए गए मार्च पास्ट की सराहना करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि मार्च पास्ट में खिलाड़ियों के जज्बे और रुचि की झलक दिखाई दी । उन्होंने आशा व्यक्त की कि युवा खिलाड़ी आज विश्वविद्यालय ,कल प्रदेश और फिर देश के लिए खेलेंगे । कार्यक्रम में उच्च शिक्षा राज्य मंत्री धन सिंह रावत ने कहा कि सरकार प्रदेश को उच्च शिक्षा के क्षेत्र में अग्रणी बनाने के लिए प्रतिबद्ध है । उन्होंने उच्च शिक्षा के क्षेत्र में उठाए जा रहे विभिन्न कदमों की जानकारी देते हुए कहा कि सभी विश्वविद्यालय अखिल भारतीय स्वच्छता रैंकिंग में अनिवार्य रूप से प्रतिभाग करें । इसी प्रकार सभी विश्वविद्यालय और महाविद्यालय एनएसी रैंकिंग हेतु भी अनिवार्य रूप से आवेदन करें । उन्होंने कहा कि उत्तराखंड ऐसा पहला स्टेट हो गया है जहां सभी डिग्री कॉलेज में शतप्रतिशत प्राचार्यों की तैनाती है । अब सरकार ने प्राचार्यों को असिस्टेंट प्रोफेसर की कमी की स्थिति में गेस्ट फैकल्टी की सेवाएं लेने का अधिकार भी दे दिया है। सरकार उच्च शिक्षा की गुणवत्ता पर पूरा ध्यान दे रही है ।

Leave A Comment