Breaking News:

राज कम्युनिकेशन के सफलतापूर्वक 15 वर्ष हुए पूरे, जानिए खबर -

Monday, September 21, 2020

उत्तराखंड: आज प्रदेश में मिले 814 कोरोना मरीज, जानिए खबर -

Monday, September 21, 2020

IPL : भारतीय खिलाड़ियों की फिटनेस को लेकर उठ रहे सवाल -

Monday, September 21, 2020

अनुराग-पायल केस में कंगना के बयान से खलबली, जानिए खबर -

Monday, September 21, 2020

सीएम त्रिवेंद्र ने थानो में एग्री बिजनेस ग्रोथ सेंटर का किया लोकार्पण -

Monday, September 21, 2020

केदारनाथ आपदा : सर्च अभियान में मिले चार नर कंकाल -

Monday, September 21, 2020

उत्तराखंड: आज देहरादून में चार सौ से अधिक कोरोना मरीज मिले, जानिए खबर -

Sunday, September 20, 2020

कोरोना महामारी मे मदद का हाथ बढ़ा रहे विरेन्द्र सिंह रावत -

Sunday, September 20, 2020

देहरादून स्थित सभी कोर्ट एक ही परिसर में स्थापित हो : सीएम त्रिवेंद्र -

Sunday, September 20, 2020

चीन को खुफिया जानकारी देने पर पत्रकार समेत तीन गिरफ्तार -

Sunday, September 20, 2020

उत्तराखंड कांग्रेस ने एक सप्ताह तक के सभी सार्वजनिक कार्यक्रम किये रद्द -

Sunday, September 20, 2020

ब्रांडेड कपड़े के नाम पर नकली माल, रहे सावधान, जानिए खबर -

Sunday, September 20, 2020

भारत में खेल प्रेमियों के लिए आने वाला समय उत्साहजनक -

Sunday, September 20, 2020

उत्तराखंड: आज कोरोना का महा कहर , दो हज़ार से अधिक मरीज मिले जानिए खबर -

Saturday, September 19, 2020

हर स्थिति के साथ बढ़ती गयी हिम्मत : नमन भारद्वाज -

Saturday, September 19, 2020

जरा हटके : कोरोना मरीजो के मनोरंजन के लिए गीत संगीत का आयोजन -

Saturday, September 19, 2020

उत्तराखंड की जेलों में बड़ी संख्या में गंभीर रोगी हैैं केैद, जानिए खबर -

Saturday, September 19, 2020

देहरादून : होम आईसोलेशन के लिए जिला सर्विलांस अधिकारी से अनुमति प्राप्त करना अनिवार्यः डीएम -

Saturday, September 19, 2020

कोरोना योद्धा हुए सम्मानित, जानिए खबर -

Friday, September 18, 2020

उत्तराखंड: प्रदेश में कोरोना मरीजो की संख्या 38 हज़ार पार , जानिए खबर -

Friday, September 18, 2020

उत्तराखंड : युवा इनोवेटर्स ने विकसित किए ऊर्जा दक्ष वाहन

देहरादून । बढ़ती आबादी और सस्टेनेबल जीवनस्तर की मांग ऐसी दो चुनौतियां है कि जो अधिक संख्या में ऊर्जा के हरित स्रोत विकसित करने की आवश्यकता को बढ़ावा दे रही हैं। कार्बन उत्सर्जन घटाने की आवश्यकता और जलवायु कार्यवाहियों के चलते अब दुनिया ने विकास को बढ़ावा देने के लिए नए ईंधन और अवसरों की तलाश कर रही है। इसके जवाब में, उत्तराखंड के इंजीनियरिंग छात्रों ने ऐसे वाहन डिजाइन किए हैं जो हरित भविष्य विकसित करने की राह में काफी मददगार साबित होंगे। शैल की मेक द फ्यूचर लिव 2019 के तहत शैल ईको-मैराथन में इन वाहनों का परीक्षण किया जाएगा। यह प्रोग्राम 19 से 22 नवंबर तक शैल टेक्नोलॉजी सेंटर बेंगलुरु (एसटीसीबी) में आयोजित किया जाना है। उत्तराखंड का प्रतिनिधित्व 3 टीमें करेंगी और ये टीमें देष भर के इंजीनियरिंग कॉलेजों से आई  21 टीमों से मुकाबला करेंगीः-नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी की टीम हिल स्प्रिंटर्ज इलेक्ट्रिक वाहन श्रेणी में प्रतिभागिता कर रही है और इसका लक्ष्य 150 किलोमीटरध्यूनिट का माइलेज हासिल करना है। ग्राफिक एरा यूनिवर्सिटी की 2 भी पहली बार शैल ईको-मैराथन में हिस्सा ले रही है और टीम इलेक्ट्रिक वाहन श्रेणी में प्रतिभागिता करेगी। इनके प्रोटोटाइप की बॉडी बेकार कागजों और अखबारों का इस्तेमाल कर बनाई गई है और यह वॉटरप्रूफ होने के साथ ही फायरप्रूफ भी है। ग्राफिक एरा यूनिवर्सिटी की ही टीम जीईयू मोटरस्पोर्ट्स गैसोलिन श्रेणी में हिस्सा ले रही है और इसका लक्ष्य 125 किलोमीटर प्रति लीटर का माइलेज हासिल करना है। इस टीम के प्रोटोटाइप में स्लाइडिंग कॉकपिट डोर, स्पिल्ट बॉडीवर्क, स्ट्रिप से जुड़ी ब्रेक लाइट और सेल्फ मेड एक्सहॉस्ट शामिल है। शैल ईको-मैराथन, दुनिया में सबसे लंबे समय तक चलने वाली छात्र प्रतियोगिता है। दुनिया के कई देशों में इस प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है और इसका उद्देश्य इंजीनियरिंग छात्रों को ऐसे ऊर्जा दक्ष वाहन बनाने, उन्हें टेस्ट और ड्राइव करने का अवसर उपलब्ध कराना है, जो दुनिया की स्वच्छ ऊर्जा सॉल्यूशंस की मांग पूरी करने में योगदान कर सकें। 

Leave A Comment