Breaking News:

कांटों वाले बाबा को हर कोई देख है दंग … -

Wednesday, January 17, 2018

फिल्म पद्मावत फिर पहुंची एक बार कोर्ट, जानिए खबर -

Wednesday, January 17, 2018

बालिकाओ ने जूडो, बैडमिंटन, फुटबाल, वालीबाल, बाक्सिंग में दिखाई दम -

Wednesday, January 17, 2018

उत्तराखंड के उत्पादों का एक ही ब्रांड नेम होना चाहिए : उत्पल कुमार सिंह -

Wednesday, January 17, 2018

पर्वतीय राज्यों को मिले 2 प्रतिशत ग्रीन बोनस : सीएम -

Wednesday, January 17, 2018

सिर दर्द हो तो करे यह उपाय …. -

Monday, January 15, 2018

उत्तरायणी महोत्सव में रंगारंग कार्यक्रमों की धूम -

Monday, January 15, 2018

सौर ऊर्जा से चलने वाली कार का दिया प्रस्तुतीकरण -

Monday, January 15, 2018

सीएम ने ईको फ्रेण्डली किल वेस्ट मशीन का किया उद्घाटन -

Monday, January 15, 2018

औद्योगीकरण को बढ़ावा देने को लेकर प्रदेश में सिंगल विंडो सिस्टम लागू -

Monday, January 15, 2018

युवा क्रिकेटर के लिए भारतीय तेज गेंदबाज आरपी सिंह ने मांगी मदद -

Sunday, January 14, 2018

कक्षा सात की बालिका ने प्रधानमंत्री के लिए लिखी चिट्ठी, जानिए खबर -

Sunday, January 14, 2018

हरियाली डेवलपमेंट फाउंडेशन ने की गरीब, अनाथ एवं बेसहारा लोगो की मदद -

Sunday, January 14, 2018

रेडिमेड वस्त्रों के 670 सेंटर स्थापित किये जायेंगेः सीएम -

Sunday, January 14, 2018

सीएम ने 14 विकास योजनाओं का किया शिलान्यास -

Saturday, January 13, 2018

एयरटेल और एमेजाॅन ने मिलाया हाथ , किया मेंबरशिप पेशकश -

Saturday, January 13, 2018

किसने ठुकराया 15 करोड़ रूपये का का ऑफर …. -

Saturday, January 13, 2018

परीक्षा में टॉप कीजिए सड़क आप के नाम ….. -

Saturday, January 13, 2018

महापुरुषों में से एक थे स्वामी विवेकानंद…. -

Friday, January 12, 2018

पवित्र ग्रंथों का ‘डिजिटलाइजेशन’ करेगा IIT कानपुर -

Friday, January 12, 2018

उत्तराखंड सरकार द्वारा रिस्पना को पुनर्जीवित करने की पहल का मैड ने किया स्वागत

MAD

देहरादून | देहरादून के शिक्षित छात्रो के संगठन मैड संस्था उत्तराखंड सरकार की रिस्पना नदी को साफ व स्वस्थ करने की पहल का स्वागत करती है। सरकार के विभिन्न विभागो तथा समाज के सम्मानित पर्यावरणविदो के एकत्रित प्रयास और संकल्प को देख कर एक उम्मीद जगी है कि अब आखिरकार सही दिशा मे सरकार ने कदम उठाया है तो रिस्पना को नया जीवन मिल पाएगा। मैड इस बात से खुश है कि देहरादून की नदियो को बचाने के उसके पिछले साढे छः वर्षो के सतत प्रयासो के फलस्वरूप वह आज सरकार और समाज का ध्यान रिस्पना की ओर खीचने मे सफल रही है। मैड संस्था एन.अई.एच. रूडकी, आई.आई.टी रूडकी और एफ.आर.आई. के रूप मे वैज्ञानिको को साथ लेकर चलने के सरकार के निर्णय का स्वागत करती है। साथ ही साथ मैड सदस्य अपनी मांग को दोहराना चाहते है जिसमे वे एन.अई.एच. रूडकी की उस रिपोर्ट के सुझाव को अमल मे लाने की बात कहते आये है जो वैज्ञानिको के एक दल ने 2014 मे मैड के आग्रह पर ही रिस्पना के उद्गम क्षेत्र का सर्वे कर के तैयार की थी। मैड सदस्य इस बात की उम्मीद करते है कि आज के संकल्प का एक सफल परिणाम निकले। सरकार सभी पक्षो को साथ मे लेकर समय बद्ध और चरणबद्ध तरीके से एक व्यापक प्रयास करती रहेगी तो वह दिन दूर नही जब देहरादून को रिस्पना और बिंदाल के रूप मे अपनी खोई हुई पहचान वापिस मिल सकेगी।

 

 

Leave A Comment