Breaking News:

राज कम्युनिकेशन के सफलतापूर्वक 15 वर्ष हुए पूरे, जानिए खबर -

Monday, September 21, 2020

उत्तराखंड: आज प्रदेश में मिले 814 कोरोना मरीज, जानिए खबर -

Monday, September 21, 2020

IPL : भारतीय खिलाड़ियों की फिटनेस को लेकर उठ रहे सवाल -

Monday, September 21, 2020

अनुराग-पायल केस में कंगना के बयान से खलबली, जानिए खबर -

Monday, September 21, 2020

सीएम त्रिवेंद्र ने थानो में एग्री बिजनेस ग्रोथ सेंटर का किया लोकार्पण -

Monday, September 21, 2020

केदारनाथ आपदा : सर्च अभियान में मिले चार नर कंकाल -

Monday, September 21, 2020

उत्तराखंड: आज देहरादून में चार सौ से अधिक कोरोना मरीज मिले, जानिए खबर -

Sunday, September 20, 2020

कोरोना महामारी मे मदद का हाथ बढ़ा रहे विरेन्द्र सिंह रावत -

Sunday, September 20, 2020

देहरादून स्थित सभी कोर्ट एक ही परिसर में स्थापित हो : सीएम त्रिवेंद्र -

Sunday, September 20, 2020

चीन को खुफिया जानकारी देने पर पत्रकार समेत तीन गिरफ्तार -

Sunday, September 20, 2020

उत्तराखंड कांग्रेस ने एक सप्ताह तक के सभी सार्वजनिक कार्यक्रम किये रद्द -

Sunday, September 20, 2020

ब्रांडेड कपड़े के नाम पर नकली माल, रहे सावधान, जानिए खबर -

Sunday, September 20, 2020

भारत में खेल प्रेमियों के लिए आने वाला समय उत्साहजनक -

Sunday, September 20, 2020

उत्तराखंड: आज कोरोना का महा कहर , दो हज़ार से अधिक मरीज मिले जानिए खबर -

Saturday, September 19, 2020

हर स्थिति के साथ बढ़ती गयी हिम्मत : नमन भारद्वाज -

Saturday, September 19, 2020

जरा हटके : कोरोना मरीजो के मनोरंजन के लिए गीत संगीत का आयोजन -

Saturday, September 19, 2020

उत्तराखंड की जेलों में बड़ी संख्या में गंभीर रोगी हैैं केैद, जानिए खबर -

Saturday, September 19, 2020

देहरादून : होम आईसोलेशन के लिए जिला सर्विलांस अधिकारी से अनुमति प्राप्त करना अनिवार्यः डीएम -

Saturday, September 19, 2020

कोरोना योद्धा हुए सम्मानित, जानिए खबर -

Friday, September 18, 2020

उत्तराखंड: प्रदेश में कोरोना मरीजो की संख्या 38 हज़ार पार , जानिए खबर -

Friday, September 18, 2020

उत्तराखण्ड स्कूलों में वर्चुअल क्लास शुरू करने वाला बना पहला राज्य

500 राजकीय विद्यालयों के लगभग 1 लाख 90 हजार बच्चे होंगे लाभान्वित

देहरादून | उत्तराखण्ड, स्कूली शिक्षा में वर्चुअल क्लासरूम प्रोजेक्ट शुरू करने वाला पहला राज्य बन गया है। शनिवार को मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने प्रदेश के 500 राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में वर्चुअल क्लास का उद्घाटन किया। वर्तमान में 150 विद्यालयां को जोड़ा जा चुका है। कार्यक्रम के दौरान ये सभी विद्यालय ऑनलाईन थे। अगले 15 दिनों में शेष 350 चिन्हित विद्यालयों को भी जोड़ दिया जाएगा। नवोदय विद्यालय, ननूरखेड़ा, देहरादून में आयोजित कार्यक्रम में परियोजना का शुभारम्भ करते हुए मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि प्रदेश में तकनीक के माध्यम से शिक्षा में सुधार किया जा रहा है। अनिर्णय की स्थिति ठीक नहीं होती है। 2010-11 से बजट उपलब्ध था परंतु निर्णय नहीं लिया गया। समय पर निर्णय न लिए जाने से लाखां बच्चे इससे वंचित रह गए। हमने इस पर निर्णय लिया और आज उत्तराखण्ड स्कूली शिक्षा में वर्चुअल क्लास शुरू करने वाल पहला राज्य बन गया है। इससे जहां किसी विषय विशेष के अध्यापक नहीं हैं, वहां वर्चुअल क्लास के माध्यम से उस विषय की पढ़ाई कराई जाएगी। इससे लगभग 1 लाख 90 हजार बच्चे लाभान्वित होंगे। केंद्र सरकार से राज्य को भरपूर सहयोग व सहायता मिलती है। ये हम पर है कि हम किस प्रकार से अच्छे प्रस्ताव बनाकर भेजते हैं।  
मुख्यमंत्री ने कहा कि यह देखा जाएगा कि विद्यालय समय के बाद स्कूल भवन का उपयोग किस प्रकार किया जा सकता है। वर्चुअल क्लास का उपयोग एकेडमिक पढ़ाई के साथ ही कैरियर परामर्श, प्रतियोगिताओं की तैयारी, साक्षरता, मोटिवेशन क्लास में करने की सम्भावना देखी जाएगी। उन्होंने सचिव विद्यालयी शिक्षा को इसके लिए निर्देशित किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि तकनीक से शिक्षक का स्थान नहीं लिया जा सकता है परंतु जहां शिक्षक नहीं हैं, वहां यह उपयोगी रहेगी। इससे शिक्षकों को भी प्रशिक्षित किया जा सकता है। बच्चों का बहुआयामी विकास होगा। उनका सोचने का दायरा बढ़ेगा।
शिक्षा मंत्री श्री अरविंद पाण्डे ने कहा प्रदेश की विद्यालयी शिक्षा के लिए आज का दिन ऐतिहासिक है। भौगोलिक विषमताओं को देखते हुए हाई क्वालिटी एजुकेशन मे यह सुविधा बहुत उपयोगी रहेगी। शिक्षा का स्तर सुधारने के लिए प्रदेश सरकार लगातार प्रयासरत है।
सचिव विद्यालयी शिक्षा आर मीनाक्षी सुंदरम ने बताया कि वर्चुअल क्लासरूम कार्यक्रम, समग्र शिक्षा के अन्तर्गत सूचना एवं संचार तकनीक (आईसीटी) के तहत संचालित है। वर्तमान में 500 राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में संचालित किया जाएगा। वर्चुअल क्लासरूम में सैटेलाईट इन्टरएक्टीव टर्मिनल (एसआईटी) तथा रिसीव ऑन्ली टर्मिनल (आरओटी) के माध्यम से टू-वे सीमलैस इन्टरएक्टीवीटी द्वारा देहरादून स्थित 04 सेंट्रल स्टूडियो से प्रदेश के 500 राजकीय माध्यमिक विद्यालयों को जोड़ा जा रहा है। वर्चुअल क्लासरूम तकनीक नवीनतम तकनीक है। यह स्मार्ट क्लासरूम व आई0सी0टी0 लैब से आधुनिक है। सैन्ट्रलाईज्ड स्टूडियो के माध्यम से विषय विशेषज्ञों द्वारा कक्षा 6-12 तक के विभिन्न विषयों की पढ़ाई संचालित की जाएगी। वर्चुअल क्लासरूम के माध्यम से परीक्षाओं की तैयारी, अतिरिक्त वादनों की व्यवस्था, प्रतियोगी परीक्षाओं जैसे कि जेईई, एनईईटी आदि की तैयारी की जा सकेगी। वर्चुअल क्लासरूम के माध्यम से छात्रों को कैरियर एवं गाइडेन्स भी प्रदान किया जा सकता है, जो उनके भविष्य हेतु लाभदायक होगा। अल्मोड़ा के 52, बागेश्वर के 10, चमोली के 45, चम्पावत के 15, देहरादून के 46, हरिद्वार के 10, नैनीताल के 61, पौड़ी के 82, पिथौरागढ़ के 40, रूद्रप्रयाग के 21 और टिहरी के 52 विद्यालयों में वर्चुअल क्लासरूम की स्थापना की जा रही है। मुख्यमंत्री ने वर्चुअल जुडे विभिन्न विद्यालयों के बच्चों से संवाद भी किया। बच्चों ने उनसे अनेक प्रश्न पूछे जिनका मुख्यमंत्री ने विस्तार से जवाब दिया। 

Leave A Comment