Breaking News:

रणजी ट्रॉफीः जम्मू कश्मीर ने 253 रनों से जीता पहला मुकाबला -

Wednesday, December 11, 2019

कार और बोलेरो गहरी खाई में गिरने से मामा-भांजे समेत दो की मौत -

Wednesday, December 11, 2019

कैग रिपोर्ट : अनियमितता करने वाले नहीं बख्शे जाएगा -

Wednesday, December 11, 2019

नवनिर्मित दून हाट का सीएम त्रिवेंद्र कल करेंगे लोकार्पण, जानिए खबर -

Wednesday, December 11, 2019

मंत्रियों को दिया जा रहा विधानसभा मे ई-कैबिनेट का प्रशिक्षण -

Wednesday, December 11, 2019

नैनी झीलः जल स्तर छह फीट नीचे पहुंचा -

Tuesday, December 10, 2019

राशन कार्ड बनवाने में नई गाइडलाइन जारी, जानिए खबर -

Tuesday, December 10, 2019

सीएम त्रिवेंद्र ने 38 करोड़ 99 लाख रूपए की धनराशि स्वीकृत किए जाने का किया अनुरोध, जानिए खबर -

Tuesday, December 10, 2019

रायपुर : एक और गैंग रेप -

Tuesday, December 10, 2019

राष्ट्रीय राइफल शूटिंग प्रतियोगिता में क्वालीफाई कर कुंवर आदित्य ने बढ़ाया राज्य का गौरव -

Tuesday, December 10, 2019

वरिष्ठ पत्रकार का शव बरामद, जानिए खबर -

Monday, December 9, 2019

उत्तराखंड : विपक्ष के शोर-शराबे के बीच छह विधेयक पारित -

Monday, December 9, 2019

बिग बॉस’ के घर से बाहर हुए सिद्धार्थ शुक्ला, जानिए खबर -

Monday, December 9, 2019

श्राइन बोर्ड का विरोध : सड़कों पर उतरे तीर्थ पुरोहित -

Monday, December 9, 2019

हवा से चलने वाली बाइक बनाने वाले छात्र अद्वैत क्षेत्री ने सीएम से की मुलाकात -

Monday, December 9, 2019

ब्लाइड क्रिकेट टी-20: भारत ने नेपाल को हराकर क्लीन स्वीप किया -

Sunday, December 8, 2019

दुःखद : बस स्टैंड पहुँच युवक ने जहर गटका, जीवनलीला की समाप्त -

Sunday, December 8, 2019

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने माँ दुर्गा का किया पूजा अर्चना -

Sunday, December 8, 2019

वन विभाग की टीम पर खनन माफिया ने किया हमला -

Sunday, December 8, 2019

महिला को गुलदार ने बनाया निवाला, जानिए खबर -

Sunday, December 8, 2019

उत्तराखण्ड स्कूलों में वर्चुअल क्लास शुरू करने वाला बना पहला राज्य

500 राजकीय विद्यालयों के लगभग 1 लाख 90 हजार बच्चे होंगे लाभान्वित

देहरादून | उत्तराखण्ड, स्कूली शिक्षा में वर्चुअल क्लासरूम प्रोजेक्ट शुरू करने वाला पहला राज्य बन गया है। शनिवार को मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने प्रदेश के 500 राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में वर्चुअल क्लास का उद्घाटन किया। वर्तमान में 150 विद्यालयां को जोड़ा जा चुका है। कार्यक्रम के दौरान ये सभी विद्यालय ऑनलाईन थे। अगले 15 दिनों में शेष 350 चिन्हित विद्यालयों को भी जोड़ दिया जाएगा। नवोदय विद्यालय, ननूरखेड़ा, देहरादून में आयोजित कार्यक्रम में परियोजना का शुभारम्भ करते हुए मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि प्रदेश में तकनीक के माध्यम से शिक्षा में सुधार किया जा रहा है। अनिर्णय की स्थिति ठीक नहीं होती है। 2010-11 से बजट उपलब्ध था परंतु निर्णय नहीं लिया गया। समय पर निर्णय न लिए जाने से लाखां बच्चे इससे वंचित रह गए। हमने इस पर निर्णय लिया और आज उत्तराखण्ड स्कूली शिक्षा में वर्चुअल क्लास शुरू करने वाल पहला राज्य बन गया है। इससे जहां किसी विषय विशेष के अध्यापक नहीं हैं, वहां वर्चुअल क्लास के माध्यम से उस विषय की पढ़ाई कराई जाएगी। इससे लगभग 1 लाख 90 हजार बच्चे लाभान्वित होंगे। केंद्र सरकार से राज्य को भरपूर सहयोग व सहायता मिलती है। ये हम पर है कि हम किस प्रकार से अच्छे प्रस्ताव बनाकर भेजते हैं।  
मुख्यमंत्री ने कहा कि यह देखा जाएगा कि विद्यालय समय के बाद स्कूल भवन का उपयोग किस प्रकार किया जा सकता है। वर्चुअल क्लास का उपयोग एकेडमिक पढ़ाई के साथ ही कैरियर परामर्श, प्रतियोगिताओं की तैयारी, साक्षरता, मोटिवेशन क्लास में करने की सम्भावना देखी जाएगी। उन्होंने सचिव विद्यालयी शिक्षा को इसके लिए निर्देशित किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि तकनीक से शिक्षक का स्थान नहीं लिया जा सकता है परंतु जहां शिक्षक नहीं हैं, वहां यह उपयोगी रहेगी। इससे शिक्षकों को भी प्रशिक्षित किया जा सकता है। बच्चों का बहुआयामी विकास होगा। उनका सोचने का दायरा बढ़ेगा।
शिक्षा मंत्री श्री अरविंद पाण्डे ने कहा प्रदेश की विद्यालयी शिक्षा के लिए आज का दिन ऐतिहासिक है। भौगोलिक विषमताओं को देखते हुए हाई क्वालिटी एजुकेशन मे यह सुविधा बहुत उपयोगी रहेगी। शिक्षा का स्तर सुधारने के लिए प्रदेश सरकार लगातार प्रयासरत है।
सचिव विद्यालयी शिक्षा आर मीनाक्षी सुंदरम ने बताया कि वर्चुअल क्लासरूम कार्यक्रम, समग्र शिक्षा के अन्तर्गत सूचना एवं संचार तकनीक (आईसीटी) के तहत संचालित है। वर्तमान में 500 राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में संचालित किया जाएगा। वर्चुअल क्लासरूम में सैटेलाईट इन्टरएक्टीव टर्मिनल (एसआईटी) तथा रिसीव ऑन्ली टर्मिनल (आरओटी) के माध्यम से टू-वे सीमलैस इन्टरएक्टीवीटी द्वारा देहरादून स्थित 04 सेंट्रल स्टूडियो से प्रदेश के 500 राजकीय माध्यमिक विद्यालयों को जोड़ा जा रहा है। वर्चुअल क्लासरूम तकनीक नवीनतम तकनीक है। यह स्मार्ट क्लासरूम व आई0सी0टी0 लैब से आधुनिक है। सैन्ट्रलाईज्ड स्टूडियो के माध्यम से विषय विशेषज्ञों द्वारा कक्षा 6-12 तक के विभिन्न विषयों की पढ़ाई संचालित की जाएगी। वर्चुअल क्लासरूम के माध्यम से परीक्षाओं की तैयारी, अतिरिक्त वादनों की व्यवस्था, प्रतियोगी परीक्षाओं जैसे कि जेईई, एनईईटी आदि की तैयारी की जा सकेगी। वर्चुअल क्लासरूम के माध्यम से छात्रों को कैरियर एवं गाइडेन्स भी प्रदान किया जा सकता है, जो उनके भविष्य हेतु लाभदायक होगा। अल्मोड़ा के 52, बागेश्वर के 10, चमोली के 45, चम्पावत के 15, देहरादून के 46, हरिद्वार के 10, नैनीताल के 61, पौड़ी के 82, पिथौरागढ़ के 40, रूद्रप्रयाग के 21 और टिहरी के 52 विद्यालयों में वर्चुअल क्लासरूम की स्थापना की जा रही है। मुख्यमंत्री ने वर्चुअल जुडे विभिन्न विद्यालयों के बच्चों से संवाद भी किया। बच्चों ने उनसे अनेक प्रश्न पूछे जिनका मुख्यमंत्री ने विस्तार से जवाब दिया। 

Leave A Comment