Breaking News:

अमिताभ बच्चन के बाद अभिषेक बच्चन की जाँच में भी कोरोना पॉजिटिव मिला -

Sunday, July 12, 2020

अमिताभ बच्चन को हुआ कोरोना, अस्पताल में भर्ती -

Saturday, July 11, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3417, आज कुल 45 नए मरीज मिले -

Saturday, July 11, 2020

रिकवरी रेट में उत्तराखण्ड देश में लद्दाख के बाद दूसरे नम्बर पर -

Saturday, July 11, 2020

पांच वर्ष एक झटके में निकल गए : शाहिद कपूर -

Saturday, July 11, 2020

आखिर क्यों मैदान में खिलाड़ी, अंपायर घुटने के बल बैठे, जानिए खबर -

Saturday, July 11, 2020

अमेरिका विश्व स्वास्थ्य संगठन से हुआ अलग, जानिए क्यों -

Saturday, July 11, 2020

प्रत्येक व्यक्ति को अपनी सुविधा और कौशल के अनुसार व्यवसाय चयन करने का रोजगार प्रदान करने का अवसर : मदन कौशिक -

Friday, July 10, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3373, आज कुल 68 नए मरीज मिले -

Friday, July 10, 2020

विकास दुबे पुलिस मुठभेड़ में ढेर, जानिए खबर -

Friday, July 10, 2020

उत्तरांचल पंजाबी महासभा द्वारा कोमल वोहरा को महानगर महिला मोर्चा का अध्यक्ष चुना गया -

Friday, July 10, 2020

देहरादून : सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने व मास्क ना पहनने पर 21 लोगों का चालान -

Friday, July 10, 2020

जरा हटके : 300 वर्ष पुरानी वोगनबेलिया की बेल पेड़ सहित टूटी -

Friday, July 10, 2020

उत्तरांचल पंजाबी महासभा के प्रतिनिधिमंडल ने भेंट की फेस मास्क व फेस शील्ड -

Thursday, July 9, 2020

उत्तराखंड : विश्वविद्यालय स्तर पर अन्तिम वर्ष एवं अन्तिम सेमेस्टर की परीक्षायें 24 अगस्त से 25 सितम्बर -

Thursday, July 9, 2020

गफूर बस्ती के लोगों के उत्पीड़न पर अन्य पिछड़ा वर्ग आयोग सख्त, जानिए खबर -

Thursday, July 9, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3305, आज कुल 47 नए मरीज मिले -

Thursday, July 9, 2020

प्रधानमंत्री द्वारा ‘वोकल फाॅर लोकल एंड मेक इट ग्लोबल’ के लिए किए गए आह्वान को सभी देशवासियों का मिला समर्थन : सीएम त्रिवेंद्र -

Thursday, July 9, 2020

‘देसी गर्ल’ फिर नज़र आएगी हॉलीवुड फ़िल्म में , जानिए खबर -

Thursday, July 9, 2020

कानपुर का मुख्य आरोपी विकास दुबे उज्जैन से गिरफ्तार, जानिए खबर -

Thursday, July 9, 2020

उत्तराखण्ड स्कूलों में वर्चुअल क्लास शुरू करने वाला बना पहला राज्य

500 राजकीय विद्यालयों के लगभग 1 लाख 90 हजार बच्चे होंगे लाभान्वित

देहरादून | उत्तराखण्ड, स्कूली शिक्षा में वर्चुअल क्लासरूम प्रोजेक्ट शुरू करने वाला पहला राज्य बन गया है। शनिवार को मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने प्रदेश के 500 राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में वर्चुअल क्लास का उद्घाटन किया। वर्तमान में 150 विद्यालयां को जोड़ा जा चुका है। कार्यक्रम के दौरान ये सभी विद्यालय ऑनलाईन थे। अगले 15 दिनों में शेष 350 चिन्हित विद्यालयों को भी जोड़ दिया जाएगा। नवोदय विद्यालय, ननूरखेड़ा, देहरादून में आयोजित कार्यक्रम में परियोजना का शुभारम्भ करते हुए मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि प्रदेश में तकनीक के माध्यम से शिक्षा में सुधार किया जा रहा है। अनिर्णय की स्थिति ठीक नहीं होती है। 2010-11 से बजट उपलब्ध था परंतु निर्णय नहीं लिया गया। समय पर निर्णय न लिए जाने से लाखां बच्चे इससे वंचित रह गए। हमने इस पर निर्णय लिया और आज उत्तराखण्ड स्कूली शिक्षा में वर्चुअल क्लास शुरू करने वाल पहला राज्य बन गया है। इससे जहां किसी विषय विशेष के अध्यापक नहीं हैं, वहां वर्चुअल क्लास के माध्यम से उस विषय की पढ़ाई कराई जाएगी। इससे लगभग 1 लाख 90 हजार बच्चे लाभान्वित होंगे। केंद्र सरकार से राज्य को भरपूर सहयोग व सहायता मिलती है। ये हम पर है कि हम किस प्रकार से अच्छे प्रस्ताव बनाकर भेजते हैं।  
मुख्यमंत्री ने कहा कि यह देखा जाएगा कि विद्यालय समय के बाद स्कूल भवन का उपयोग किस प्रकार किया जा सकता है। वर्चुअल क्लास का उपयोग एकेडमिक पढ़ाई के साथ ही कैरियर परामर्श, प्रतियोगिताओं की तैयारी, साक्षरता, मोटिवेशन क्लास में करने की सम्भावना देखी जाएगी। उन्होंने सचिव विद्यालयी शिक्षा को इसके लिए निर्देशित किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि तकनीक से शिक्षक का स्थान नहीं लिया जा सकता है परंतु जहां शिक्षक नहीं हैं, वहां यह उपयोगी रहेगी। इससे शिक्षकों को भी प्रशिक्षित किया जा सकता है। बच्चों का बहुआयामी विकास होगा। उनका सोचने का दायरा बढ़ेगा।
शिक्षा मंत्री श्री अरविंद पाण्डे ने कहा प्रदेश की विद्यालयी शिक्षा के लिए आज का दिन ऐतिहासिक है। भौगोलिक विषमताओं को देखते हुए हाई क्वालिटी एजुकेशन मे यह सुविधा बहुत उपयोगी रहेगी। शिक्षा का स्तर सुधारने के लिए प्रदेश सरकार लगातार प्रयासरत है।
सचिव विद्यालयी शिक्षा आर मीनाक्षी सुंदरम ने बताया कि वर्चुअल क्लासरूम कार्यक्रम, समग्र शिक्षा के अन्तर्गत सूचना एवं संचार तकनीक (आईसीटी) के तहत संचालित है। वर्तमान में 500 राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में संचालित किया जाएगा। वर्चुअल क्लासरूम में सैटेलाईट इन्टरएक्टीव टर्मिनल (एसआईटी) तथा रिसीव ऑन्ली टर्मिनल (आरओटी) के माध्यम से टू-वे सीमलैस इन्टरएक्टीवीटी द्वारा देहरादून स्थित 04 सेंट्रल स्टूडियो से प्रदेश के 500 राजकीय माध्यमिक विद्यालयों को जोड़ा जा रहा है। वर्चुअल क्लासरूम तकनीक नवीनतम तकनीक है। यह स्मार्ट क्लासरूम व आई0सी0टी0 लैब से आधुनिक है। सैन्ट्रलाईज्ड स्टूडियो के माध्यम से विषय विशेषज्ञों द्वारा कक्षा 6-12 तक के विभिन्न विषयों की पढ़ाई संचालित की जाएगी। वर्चुअल क्लासरूम के माध्यम से परीक्षाओं की तैयारी, अतिरिक्त वादनों की व्यवस्था, प्रतियोगी परीक्षाओं जैसे कि जेईई, एनईईटी आदि की तैयारी की जा सकेगी। वर्चुअल क्लासरूम के माध्यम से छात्रों को कैरियर एवं गाइडेन्स भी प्रदान किया जा सकता है, जो उनके भविष्य हेतु लाभदायक होगा। अल्मोड़ा के 52, बागेश्वर के 10, चमोली के 45, चम्पावत के 15, देहरादून के 46, हरिद्वार के 10, नैनीताल के 61, पौड़ी के 82, पिथौरागढ़ के 40, रूद्रप्रयाग के 21 और टिहरी के 52 विद्यालयों में वर्चुअल क्लासरूम की स्थापना की जा रही है। मुख्यमंत्री ने वर्चुअल जुडे विभिन्न विद्यालयों के बच्चों से संवाद भी किया। बच्चों ने उनसे अनेक प्रश्न पूछे जिनका मुख्यमंत्री ने विस्तार से जवाब दिया। 

Leave A Comment