Breaking News:

जान की बाजी लगा कर अपने कर्तव्यों से होमगार्ड्स पीछे नहीं हटते : सीएम त्रिवेंद्र -

Saturday, December 7, 2019

हैदराबाद : एनकाउंटर में मारे गये चारो बलात्कारी -

Friday, December 6, 2019

इस अभिनेत्री को एक घंटे के परफॉर्मेंस के लिए मिलेंगे 3 करोड़ -

Friday, December 6, 2019

उत्तराखंड : सरकार ने सदन में पेश किया अनुपूरक बजट -

Friday, December 6, 2019

स्वीडन के राजा और रानी ने की मां गंगा की पूजा -

Friday, December 6, 2019

11 साल के छात्र ने बनाया हवा से चलने वाली बाइक -

Friday, December 6, 2019

देहरादून रेलवे स्टेशन दिखेगा नए रंग और ढंग में, जानिए खबर -

Friday, December 6, 2019

हरिद्वार में सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट का हुआ लोकार्पण, जानिए खबर -

Thursday, December 5, 2019

वर्तमान पीढ़ी अपने माता-पिता के त्याग एवं समर्पण को सदैव याद रखे : राज्यपाल -

Thursday, December 5, 2019

बलात्कार की क्रूर घटनाओ का कारण है पोर्न साइट्स : भास्कर चुग -

Thursday, December 5, 2019

दुःखद : ट्रेन से कट कर युवक की मौत -

Thursday, December 5, 2019

गैरसैंण: पूर्व सीएम हरीश रावत का उपवास -

Thursday, December 5, 2019

सीएम त्रिवेंद्र ने पोर्टल ‘सहयोग’ किया लांच -

Thursday, December 5, 2019

ऑपरेशन मुक्ति : पठन-पाठन सामग्री एवं जूते और स्वेटर वितरित -

Wednesday, December 4, 2019

प्याज 120 रुपये प्रति किलो तक बिका, जानिए खबर -

Wednesday, December 4, 2019

उत्तराखंड विधानसभा का शीतकालीन सत्र शुरू, जानिए खबर -

Wednesday, December 4, 2019

डिजिटल फैशन, फैशन इंडस्ट्री और ग्राहकों की सोच को बदल रहाः रूपल दलाल -

Wednesday, December 4, 2019

नागरिकता बिल के प्रस्तावित संशोधन का स्वागत : सीएम त्रिवेंद्र -

Wednesday, December 4, 2019

खेत खोद हज़ारों रुपयों के प्याज़ चुरा ले गये चोर, जानिए खबर -

Wednesday, December 4, 2019

एक ही परिवार के दो लोगो की हत्या , हत्या कर तीनों ने की आत्महत्या -

Tuesday, December 3, 2019

एसीजेएम अनुराधा गर्ग हुई बर्खास्त , जानिए खबर

भ्रष्टाचार के थे गंभीर आरोप

देहरादून । काशीपुर की एसीजीएम अनुराधा गर्ग को सेवा से बर्खास्त किया गया है। प्रदेश में पहली बार किसी जज को बर्खास्त किया गया है। अनुराधा पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप थे। अनुराधा गर्ग 2005 बैच की न्यायिक अधिकारी हैं। अनुराधा गर्ग 2015 से निलंबित चल रही थीं, निलंबन के 4 साल बाद उन्हें सेवा से बर्खास्त कर दिया गया है। उनके खिलाफ की गई गोपनीय जांच में उनके ऊपर लगे भ्रष्टाचार के आरोप सच पाए गए हैं। नैनीताल हाई कोर्ट की फुल बेंच ने उनकी बर्खास्तगी की अनुशंसा उत्तराखंड शासन को भेजी थी जिसके आधार पर कार्मिक विभाग ने उनकी बर्खास्तगी का आदेश जारी कर दिया है। हाईकोर्ट की संस्तुति व राज्यपाल की मंजूरी के बाद काशीपुर की अतिरिक्त मुख्य न्यायाधीश मजिस्ट्रेट अनुराधा गर्ग को भ्रष्टाचार के मामले में बर्खास्त कर दिया गया है। उत्तराखंड शासन ने इस बाबत आदेश जारी किया है। सेवा समाप्त करने का यह आदेश उच्च न्यायालय की सिफारिश पर जारी किया गया है। जानकारी हो कि अनुराधा गर्ग 2015 से निलम्बित चल ही थीं। उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायधीश ने प्राथमिक जांच के आदेश दिए थे। राज्य बनने के 19 साल में पहली बार भ्रष्टाचार के मामले में न्यायिक अफसर को बर्खास्त किया गया है। अनुराध 2008 की न्यायिक सेवा की अधिकारी थी। उच्च न्यायालय के रजिस्ट्रार जनरल डीपी गैरोला ने मुख्य न्यायाधीश के निर्देश पर 27 मार्च को आदेश जारी कर एडिशनल चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट एसीजेएम काशीपुर ऊधमसिंह नगर अनुराधा गर्ग को प्रारंभिक जांच रिपोर्ट में अनियमितताएं व भ्रष्टाचार की बात सामने आने पर निलंबित कर दिया था। मामले में हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार ज्यूडिशियल नरेंद्र दत्त को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया था। उनकी ओर से की गई प्रारंभिक जांच के बाद 24 मार्च 2015 को रिपोर्ट चीफ जस्टिस के समक्ष पेश की गई। रिपोर्ट में अनियमितता और भ्रष्टाचार की बात कही गई थी। इसके बाद मुख्य न्यायाधीश के निर्देश पर हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार जनरल डीपी गैरोला ने निलंबन आदेश जारी किए थे।

Leave A Comment