Breaking News:

श्री विश्वनाथ मां जगदीशिला डोली के आयोजन स्थलों पर पौधारोपण होगा : नैथानी -

Friday, May 29, 2020

हरेला पर 16 जुलाई को वृहद स्तर पर पौधारोपण किया जाएगाः सीएम -

Friday, May 29, 2020

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी का निधन -

Friday, May 29, 2020

ज्योतिषी बेजन दारूवाला का निधन -

Friday, May 29, 2020

ब्लैकमेल : न्यूज़ पोर्टल संचालक हुआ गिरफ्तार -

Friday, May 29, 2020

कोरोना का कोहराम : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 716, आज सबसे अधिक 216 मरीज मिले -

Friday, May 29, 2020

उत्तराखंड : उत्तराखंड में कोरोना मरीजों की संख्या हुई 602 , देहरादून में आज आये 54 नए मामले -

Friday, May 29, 2020

उत्तराखंड : दुकान खुलने का समय प्रातः 7 बजे से सांय 7 बजे तक हुआ -

Thursday, May 28, 2020

कोरोना कहर : उत्तराखंड में कोरोना मरीजों की संख्या पहुँची 500 -

Thursday, May 28, 2020

टीवी अभिनेत्री का सड़क हादसे में हुई मौत -

Thursday, May 28, 2020

बिहार की बेटी ज्योति के मुरीद हुए विदेशी भी, जानिए खबर -

Thursday, May 28, 2020

मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना’’ का शुभारंभ हुआ -

Thursday, May 28, 2020

उत्तराखंड : कोरोना मरीजो की संख्या हुई 493 -

Thursday, May 28, 2020

उत्तराखंड : मुख्यमंत्री राहत कोष में आज यह दिए दान, जानिए खबर -

Wednesday, May 27, 2020

देहरादून से विशेष ट्रेन द्वारा हज़ारो मजदूर बिहार एंव उत्तर प्रदेश के लिए रवाना, जानिए खबर -

Wednesday, May 27, 2020

उत्तराखंड : कोरोना मरीजो की संख्या हुई 469, आज 69 मरीज मिले कोरोना के -

Wednesday, May 27, 2020

ऋषिकेश-धरासू हाइवे पर 440 मीटर लंबी टनल हुई तैयार, सीएम त्रिवेंद्र ने जताया आभार -

Wednesday, May 27, 2020

कोरोना का कहर : उत्तराखंड में कोरोना मरीज हुए 438 -

Wednesday, May 27, 2020

उत्तराखंड : राज्य में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 401 -

Tuesday, May 26, 2020

“आप” पार्टी से जुड़े कई लोग, जानिए खबर -

Tuesday, May 26, 2020

केदारनाथ आपदा के होटल व्यवसायियों की बैंक ऋण माफ़ हो

kedarnath-disaster

होटल एशोसिएशन रूद्रप्रयाग द्वारा मुख्यमंत्री व प्रधानमंत्री को ज्ञापन भेजा गया है। जिसमें 16-17 जून 2013 को केदारनाथ में आयी प्राकृतिक आपदा से सबसे अधिक प्रभावित होटल व्यवसायियों की बैंक ऋण पर न्याय संगत निर्णय लेने का अनुरोध किया गया है। एसोसिएसन द्वारा कहा गया है कि 16-17 जून 2013 को आई प्राकृतिक आपदा से रूद्रप्रयाग जनपद पूरी तरह से प्रभावित हुआ रूद्रप्रयाग जिला मुख्यालय जो केदारनाथ के साथ-साथ बद्रीनाथ जाने का भी मुख्य केन्द्र है इस आपदा की वजह से पर्यटन व्यवसाय पूरी तरह ठप हो गया जबकि लोगों ने बैंकों से ऋण लेकर होटल निर्माण कर रखे है, यद्यपि मुख्यमंत्री द्वारा तिलवाड़ा से ऊपर के सभी व्यवसायों का एक साल का बैंक ऋण माफ तथा बिजली व पानी के बिल माफ करने की घोषणा की गई है किंतु अभी तक बैंको का एक साल का ऋण माफी का भी कोई शासनादेश जारी नहीं हुआ है, हम यहां यह भी निवेदन करना चाहते है कि इस आपदा से पूरे जनपद के लिए एक ही आदेश किये जाने की आवश्यकता है, कोई भी होटल व्यवसायी बैंक का ऋण नहीं लौटाने के पक्ष में नही है, किंतु जब सम्पूर्ण उत्तराखण्ड की आर्थिक स्थिति बहुत ही चिंता जनक हो गई है और आय का कोई श्रोत नहीं रह गया, जब कि बैंको द्वारा होटल व्यवसायिओं को एक मुश्त सम्पूर्ण धनराशि जमा करने का नोटिस जारी किये गये है यह स्थिति समस्त व्यवसाओं के लिए अत्यंत संकट की हो गई है। होटल व्यवसायियों द्वारा लिये गये ऋण की समयावधि कम से कम तीन साल बढ़ाई जाए, होटल व्यवसायियों का तीन वर्ष का ब्याज माफ किया जाय तथा समस्त जनपद के होटल व्यवसायियों का तीन साल का बिजली एवं पानी का बिल भी माफ किया जाए। ज्ञापन देने वालो में होटल एशोशिएसन के अध्यक्ष हिमपाल सिंह भण्डारी तथा सचिव अरविन्द सिंह नेगी के साथ ही जनपद रूद्रप्रयाग के विभिन्न होटल व्यवसायी शामिल है।

Leave A Comment