Breaking News:

दर – दर भटक रही है अपने बच्चे के साथ यह महिला, जानिए खबर -

Thursday, January 18, 2018

बिग बॉस के इस प्रतिभागी का चेहरा सर्जरी से हुआ खराब, जानिए है कौन -

Thursday, January 18, 2018

प्रदेश में भू कानून में परिवर्तन की मांग को लेकर “हम” का धरना -

Thursday, January 18, 2018

शासकीय योजनाओं का हो व्यापक प्रचार-प्रसार : डाॅ.पंकज कुमार पाण्डेय -

Thursday, January 18, 2018

केंद्रीय वित्तमंत्री के समक्ष सीएम ने रखी ग्रीन बोनस की मांग -

Thursday, January 18, 2018

कांटों वाले बाबा को हर कोई देख है दंग … -

Wednesday, January 17, 2018

फिल्म पद्मावत फिर पहुंची एक बार कोर्ट, जानिए खबर -

Wednesday, January 17, 2018

बालिकाओ ने जूडो, बैडमिंटन, फुटबाल, वालीबाल, बाक्सिंग में दिखाई दम -

Wednesday, January 17, 2018

उत्तराखंड के उत्पादों का एक ही ब्रांड नेम होना चाहिए : उत्पल कुमार सिंह -

Wednesday, January 17, 2018

पर्वतीय राज्यों को मिले 2 प्रतिशत ग्रीन बोनस : सीएम -

Wednesday, January 17, 2018

सिर दर्द हो तो करे यह उपाय …. -

Monday, January 15, 2018

उत्तरायणी महोत्सव में रंगारंग कार्यक्रमों की धूम -

Monday, January 15, 2018

सौर ऊर्जा से चलने वाली कार का दिया प्रस्तुतीकरण -

Monday, January 15, 2018

सीएम ने ईको फ्रेण्डली किल वेस्ट मशीन का किया उद्घाटन -

Monday, January 15, 2018

औद्योगीकरण को बढ़ावा देने को लेकर प्रदेश में सिंगल विंडो सिस्टम लागू -

Monday, January 15, 2018

युवा क्रिकेटर के लिए भारतीय तेज गेंदबाज आरपी सिंह ने मांगी मदद -

Sunday, January 14, 2018

कक्षा सात की बालिका ने प्रधानमंत्री के लिए लिखी चिट्ठी, जानिए खबर -

Sunday, January 14, 2018

हरियाली डेवलपमेंट फाउंडेशन ने की गरीब, अनाथ एवं बेसहारा लोगो की मदद -

Sunday, January 14, 2018

रेडिमेड वस्त्रों के 670 सेंटर स्थापित किये जायेंगेः सीएम -

Sunday, January 14, 2018

सीएम ने 14 विकास योजनाओं का किया शिलान्यास -

Saturday, January 13, 2018

केदारनाथ आपदा के होटल व्यवसायियों की बैंक ऋण माफ़ हो

kedarnath-disaster

होटल एशोसिएशन रूद्रप्रयाग द्वारा मुख्यमंत्री व प्रधानमंत्री को ज्ञापन भेजा गया है। जिसमें 16-17 जून 2013 को केदारनाथ में आयी प्राकृतिक आपदा से सबसे अधिक प्रभावित होटल व्यवसायियों की बैंक ऋण पर न्याय संगत निर्णय लेने का अनुरोध किया गया है। एसोसिएसन द्वारा कहा गया है कि 16-17 जून 2013 को आई प्राकृतिक आपदा से रूद्रप्रयाग जनपद पूरी तरह से प्रभावित हुआ रूद्रप्रयाग जिला मुख्यालय जो केदारनाथ के साथ-साथ बद्रीनाथ जाने का भी मुख्य केन्द्र है इस आपदा की वजह से पर्यटन व्यवसाय पूरी तरह ठप हो गया जबकि लोगों ने बैंकों से ऋण लेकर होटल निर्माण कर रखे है, यद्यपि मुख्यमंत्री द्वारा तिलवाड़ा से ऊपर के सभी व्यवसायों का एक साल का बैंक ऋण माफ तथा बिजली व पानी के बिल माफ करने की घोषणा की गई है किंतु अभी तक बैंको का एक साल का ऋण माफी का भी कोई शासनादेश जारी नहीं हुआ है, हम यहां यह भी निवेदन करना चाहते है कि इस आपदा से पूरे जनपद के लिए एक ही आदेश किये जाने की आवश्यकता है, कोई भी होटल व्यवसायी बैंक का ऋण नहीं लौटाने के पक्ष में नही है, किंतु जब सम्पूर्ण उत्तराखण्ड की आर्थिक स्थिति बहुत ही चिंता जनक हो गई है और आय का कोई श्रोत नहीं रह गया, जब कि बैंको द्वारा होटल व्यवसायिओं को एक मुश्त सम्पूर्ण धनराशि जमा करने का नोटिस जारी किये गये है यह स्थिति समस्त व्यवसाओं के लिए अत्यंत संकट की हो गई है। होटल व्यवसायियों द्वारा लिये गये ऋण की समयावधि कम से कम तीन साल बढ़ाई जाए, होटल व्यवसायियों का तीन वर्ष का ब्याज माफ किया जाय तथा समस्त जनपद के होटल व्यवसायियों का तीन साल का बिजली एवं पानी का बिल भी माफ किया जाए। ज्ञापन देने वालो में होटल एशोशिएसन के अध्यक्ष हिमपाल सिंह भण्डारी तथा सचिव अरविन्द सिंह नेगी के साथ ही जनपद रूद्रप्रयाग के विभिन्न होटल व्यवसायी शामिल है।

Leave A Comment