Breaking News:

छात्रा ने की आत्महत्या -

Tuesday, October 17, 2017

आखिर क्यों पिघल रही है कार , जानिए खबर….. -

Tuesday, October 17, 2017

दीपावली : घर की साज सज्जा करे वास्तु शास्त्र के अनुसार -

Tuesday, October 17, 2017

उत्तराखंड क्रिकेट : बीसीसीआई मान्यता जल्द -

Monday, October 16, 2017

कांग्रेस सरकार के कार्यकाल की योजनाओं का शिलान्यास व उद्घाटन करेंगे नरेन्द्र मोदी : रावत -

Monday, October 16, 2017

बिना जूतों के दौड़े और इसके बावजूद भी मेडल , गरीबी को दी मात , जानिये खबर -

Monday, October 16, 2017

WWE रिंग में मुकाबला करने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बनी कविता -

Monday, October 16, 2017

उत्तराखंड : कांग्रेसी नेता के आफिस में घुसे बदमाश, जेवर व नगदी लूटी -

Sunday, October 15, 2017

मुख्यमंत्री से ब्लाइन्ड क्रिकेट ऐसोसिएशन के सदस्यों ने की शिष्टाचार भेंट -

Sunday, October 15, 2017

मैड एवं अपने सपने समेत अनेक संगठनों ने दीवाली पर बम पटाखे न फोड़ने की संयुक्त अपील -

Sunday, October 15, 2017

यूथ आईकॉन से 39 हस्तियों का हुआ सम्मान -

Sunday, October 15, 2017

डीएम व अपर सचिव ने किया गुच्चू पानी में सफाई अभियान -

Sunday, October 15, 2017

“मैड” ने बदली गन्दी दीवार की कायाकल्प -

Saturday, October 14, 2017

कौन बनेगा करोड़पति शो अंतिम पड़ाव में …. -

Saturday, October 14, 2017

T20 : आखिरी मैच रद्द , सीरीज बराबरी पर समाप्त -

Saturday, October 14, 2017

15 वर्षीय प्रिया बाल विवाह कुप्रथा के खिलाफ लड़ रही जंग -

Saturday, October 14, 2017

नहीं ढूंढ पा रही एक माह से बहन व भांजी को पुलिस -

Friday, October 13, 2017

प्रधानों को मंत्री ने जूस पिलाकर अनशन तुड़वाया -

Friday, October 13, 2017

द एशियन स्कूल में प्रदर्शनी का आयोजन -

Friday, October 13, 2017

सीपीएम कार्यालय पर हुए हमले की प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने की निंदा -

Friday, October 13, 2017

कैबिनेट ने पेरिस समझौते पर हुए हस्ताक्षर को मंजूरी दी

pj

पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन (स्वतंत्र प्रभार) राज्य मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून द्वारा बुलाए गए एक उच्चस्तरीय हस्ताक्षर समारोह में भारत की तरफ से इस समझौते पर हस्ताक्षर करेंगे। जलवायु परिवर्तन पर पेरिस समझौता वैश्विक जलवायु सहयोग में एक मील का पत्थर है। इस सम्मेलन के कार्यान्वयन को आगे बढ़ाने तथा बराबरी और साझा लेकिन अलग-अलग जिम्मेदारियो और संबंधित अपनी-अपनी क्षमताओं के सिद्धांतों की विभिन्न राष्ट्रीय परिस्थितियों के आलोक में पहचान करने कार्य करता है।

पेरिस समझौते की मुख्य विशेषताएं
पेरिस समझौता विकासशील देशों की विकास की अनिवार्यताओं को स्वीकार करता है। यह समझौता विकास के लिए विकासशील देशों के विकास के अधिकारों तथा पर्यावरण के साथ विकास को मान्यता देता है। पेरिस समझौता स्थायी जीवनशैली और विकसित देशों के साथ खपत के साथ सतत प्रणाली के महत्व को पहचानता है और अपनी प्रस्तावना में ‘जलवायु न्याय’ की महत्ता को मानता है।यह समझौता सम्मेलन के कार्यान्वयन को सुनिश्चित करता है लेकिन अलग-अलग जिम्मेदारियों और क्षमता के सिद्धांतों को दर्शाता है। इस समझौते का उद्देश्य यह सुनिश्चित करता है कि यह समन केन्द्रित नहीं है और इसमें अन्य महत्वपूर्ण तत्व जैसे अनुकूलनता, नुकसान और क्षति, वित्त, प्रौद्योगिकी, क्षमता निर्माण और पारदर्शिता तथा सहयोग शामिल है।

Leave A Comment