Breaking News:

अधिकारियों व कार्मिकों को निरन्तर प्रशिक्षण की जरूरत , जानिए खबर -

Tuesday, December 11, 2018

एनआईटी मामला : हाईकोर्ट ने राज्य,एनआईटी और केंद्र सरकार को जवाब दाखिल करने को कहा -

Tuesday, December 11, 2018

जनसंपर्क और मीडिया लोक कल्याणकारी राज्य की प्रमुख विशेषता : राज्यपाल -

Monday, December 10, 2018

मानव अधिकार दिवस : इस वर्ष 2090 वाद में से 1434 वाद निस्तारित -

Monday, December 10, 2018

एकता कपूर व माही गिल गंगाआरती में हुए शामिल -

Monday, December 10, 2018

एकता कपूर और जितेंद्र हरिद्वार में करेंगे महाआरती , जानिए खबर -

Monday, December 10, 2018

पहल : एक साथ विवाह बंधन में बंधे 21 जोड़े -

Monday, December 10, 2018

सीएम ने की विभिन्न निर्माण कार्यों का शिलान्यास, जानिए खबर -

Sunday, December 9, 2018

पौराणिक मेले हमारी पहचान : सीएम त्रिवेंद्र -

Sunday, December 9, 2018

मैड और एनसीसी की टीम ने रिस्पना को किया साफ़ -

Sunday, December 9, 2018

राष्ट्रीय जनसंपर्क सम्मेलन : हिमालय और गंगा राष्ट्र का गौरव -

Sunday, December 9, 2018

दून नगर निगम बढ़ाएगा हाउस टैक्स, जानिए खबर -

Sunday, December 9, 2018

आईएमए पीओपीः 347 कैडेट बने भारतीय सेना का हिस्सा -

Saturday, December 8, 2018

सीएम त्रिवेंद्र 40वें आॅल इण्डिया पब्लिक रिलेशन्स काॅन्फ्रेंस का किया शुभारम्भ -

Saturday, December 8, 2018

कर्ज से परेशान किसान ने की आत्महत्या की कोशिश, हालत गंभीर -

Saturday, December 8, 2018

सीएम त्रिवेंद्र किये कई घोषणाएं , जानिए खबर -

Saturday, December 8, 2018

‘केदारनाथ’ फिल्म के नाम से ऐतराज: सतपाल महाराज -

Saturday, December 8, 2018

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र करेंगे राष्ट्रीय जनसंपर्क सम्मेलन का शुभारंभ -

Friday, December 7, 2018

सीएम एप ने दिलाई गरीब परिवारों को धुएं से मुक्ति, जानिए खबर -

Friday, December 7, 2018

गावस्कर : विराट नहीं भारत के ओपनर करेंगे सीरीज का फैसला -

Friday, December 7, 2018

खादी मात्र कपड़ा ही नही बल्कि एक विचारधारा भी है : त्रिवेंद्र सिंह रावत

uk

देहरादून |  मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने परेड ग्राउण्ड, देहरादून में आयोजित हो रही राष्ट्रीय खादी एवं ग्रामोद्योग प्रदर्शनी का उद्घाटन किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने कहा कि खादी मात्र कपड़ा ही नही बल्कि एक विचारधारा भी है। खादी, वस्त्रों की आवश्यकता की पूर्ति तो करती ही है, रोजगार का भी माध्यम है। लाखों लोग खादी से रोजगार प्राप्त कर रहे है। खादी को बढ़ावा देने के लिये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ’’खादी फाॅर नेशन, खादी फाॅर फैशन’’ का नारा दिया है। खादी आज फैशन में भी आगे है। खादी को फैशन डिजाइन के क्षेत्र में बढ़ावा देने के लिए विदेशी भी काम कर रहे है। देश में खादी की बिक्री में 33 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 2000 करोड रूपये का व्यापार हुआ है। खादी हमारे रोजगार व स्वरोजगार का साधन बने, इसके लिये प्रयास किये जाने चाहिए। उन्होंने रेशेदार पौधों की खेती को बढ़ावा देने तथा बुनकरों की संख्या में वृद्धि के प्रयासों पर भी बल दिया। उत्तराखण्ड में सहतूत से सिल्क तैयार करने की बहुत संभावनाएं हैं। भीमल व रामबांस आदि रेशा आधारित पौधो द्वारा प्राप्त मोटे रेशे से पर्दे, फुटमैट तैयार किये जा सकते है, इस दिशा में भी मुख्यमंत्री ने शोध की जरूरत बतायी। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के गढवाल एवं कुमाऊं मण्डल के साथ ही दूर-दराज क्षेत्रों में भी ऐसे मेलो का आयोजन किया जाना चाहिए। इसके साथ ही इन क्षेत्रों में रेशेदार पौधों के अलावा भीमल, सहतूत आदि की पैदावार व उनके उत्पादों पर कार्यशाला का भी आयोजन किया जाना चाहिए, ताकि ग्रामीण क्षेत्रों में यह स्वरोजगार का साधन बनें। सामान्य आदमी तक हमारे प्राकृतिक उत्पादों के व्यवसायीकरण का लाभ पहुंचे, इस दिशा में भी कार्य किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस बार आयोजित खादी प्रदर्शनी में देश के 11 राज्यों के प्रतिभागियों का शामिल होना खादी को बढ़ावा देने का भी बड़ा प्रयास है। राष्ट्रीय खादी एवं ग्रामोद्योग प्रदर्शनी के अवसर पर मुख्यमंत्री ने विभिन्न स्टाॅलों का भी अवलोकन किया तथा स्टाॅल संचालकों को शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर विधायक खजान दास, प्रमुख सचिव मनीषा पंवार, निदेशक उद्योग श्री सुधीर नौटियाल, निदेशक खादी ग्रामोद्योग भारत सरकार यशपाल सिंह, भाजपा नेता सुनील गामा आदि उपस्थित थे।

Leave A Comment