Breaking News:

पिता नही,भूखे रहकर पढ़ाई की,अब मप्र की दसवीं की टॉपर, जानिए खबर -

Tuesday, July 7, 2020

अरविंद पांडेय ने हरेला कार्यक्रम के अंर्तगत “मेरा गांव हरा भरा गांव” अभियान का किया शुभारंभ -

Monday, July 6, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3161, आज कुल 37 नए मरीज मिले -

Monday, July 6, 2020

विरेन्द्र सिंह रावत बने खेलों मास्टर गेम्स फाउंडेशन इंडिया उत्तराखंड के महासचिव -

Monday, July 6, 2020

उत्तराखंड के हित में सदैव करते रहेंगे धरने प्रदर्शनः आप -

Monday, July 6, 2020

डॉ0 रमेश पोखरियाल ’निशंक’ ने पब्लिक रिलेशंस सोसायटी ऑफ इण्डिया के ’विजय भारत अभियान’ का किया शुभारम्भ -

Monday, July 6, 2020

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना में गड़बड़ी पर डीएसओ होंगे जिम्मेवार : सीएम त्रिवेंद्र -

Monday, July 6, 2020

सीएम त्रिवेंद्र ने कहा कोविड-19 को लेकर पांच बातों पर विशेष जोर जरूरी, जानिए खबर -

Sunday, July 5, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3124, आज कुल 31 नए मरीज मिले -

Sunday, July 5, 2020

अनुष्का विराट और कोरोना महामारी का समय …… -

Sunday, July 5, 2020

उत्तराखंड : तीन महिलाओं की कोसी नदी में डूबने की खबर, एक महिला का मिला शव -

Sunday, July 5, 2020

जरा हटके : यह शख्स सोने के मास्क का कर रहे उपयोग -

Sunday, July 5, 2020

देहरादून : सिटी बस संघ के 145 चालकों एवं परिचालकों को दिया राशन -

Saturday, July 4, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3093, आज कुल 45 नए मरीज मिले -

Saturday, July 4, 2020

कोरोना की लड़ाई में लगातार सतर्कता जरूरी: सीएम उत्तराखंड -

Saturday, July 4, 2020

आरडी प्रोडक्शन पूरे करेगा मॉडलिंग और एक्टिंग के सपने , जानिए खबर -

Saturday, July 4, 2020

“दिल बेचारा” सुशांत की आखिरी फ़िल्म को लेकर खुलासा -

Saturday, July 4, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3048, आज कुल 64 नए मरीज मिले -

Friday, July 3, 2020

आरटीआई कार्यकर्ता सैफअली सिद्दीकी के पत्र पर राज्य अल्पसंख्यक आयोग ने जांच के आदेश दिए , जानिए खबर -

Friday, July 3, 2020

उत्तराखंड में बने जड़ी बूटी मंडी : डा. राणा -

Friday, July 3, 2020

खुद से ज्यादा नशा औरों को पहुँचाता है नुकसानः डॉ पण्ड्या

हरिद्वार । गायत्री तीर्थ शांतिकुंज इन दिनों नशा भारत छोड़ों व व्यसन मुक्ति पर एक विशेष अभियान को गति देने में जुटा है। इस निमित्त तीन दिवसीय व्यसन मुक्ति राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन हुआ, जिसमें उत्तराखण्ड, उप्र, गुजरात, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, मप्र, हिमाचल प्रदेश, राजस्थान, हरियणा व चण्डीगढ़  राज्यों के चयनित प्रतिनिधि शामिल रहे। अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख डॉ. प्रणव पण्ड्या व  शैलदीदी से प्रतिनिधियों ने भेंटकर वर्तमान समय की सबसे बड़ी समस्याओं में से एक बढ़ते नशा व दुर्व्यसनों का प्रयोग पर अंकुश लगाने हेतु मार्गदर्शन लिया। इस अवसर पर युवा चेतना के उद्घोषक डॉ. पण्ड्या ने कहा कि यदि भारत को विकसित, सभ्य व सुसंस्कृत राष्ट्र की श्रेणी में लाना है, तो नशा व नशीले पदार्थों पर अंकुश लगाना आवश्यक है। युवाओं सहित समाज के प्रत्येक वर्ग को इस दिशा में सार्थक पहल करने के लिए व्यसन मुक्ति आन्दोलन से जुड़कर स्वयं को नशा व दुर्व्यसन से दूर रखना होगा। नशा जितना पीने वाले का नुकसान करता है, उससे ज्यादा परिवार व समाज का। उन्होंने कहा कि बैनर्स, लघुनाटिका, नुक्कड़ नाटक आदि के माध्यम से जन जागरण अभियान को गति दिया जा सकता है। श्रद्धेया शैलदीदी ने युवावर्ग को नशा से मुक्त करने पर बल देते विभिन्न उदाहरणों के माध्यम से दुर्व्यसनों से होने वाली हानियों पर प्रकाश डाला। समापन सत्र को संबोधित करते हुए शांतिकुंज के वरिष्ठ कार्यकर्ता वीरेश्वर उपाध्याय ने कहा कि भारत से नशा व दुर्व्यसनों को जड़ से उखाड़ फेंकने का समय आ गया है। इन दिनों तमाम तरह की बुराइयाँ अपनी जड़े जमा रखी हैं, व्यसन मुक्ति अभियान के अंतर्गत चलाये जा रहे रचनात्मक कार्यों को स्कूलों, महाविद्यालयों से लेकर जन-जन को नशा से होने नुकसानों के प्रति सचेत करें। शिविर समन्वयक ने बताया कि तीन दिन चले इस कार्यशाला में सैद्धांतिक व व्यावहारिक के कुल पन्द्रह सत्र हुए, जिसे डॉ. ओपी शर्मा, डॉ. बृजमोहन गौड़, डॉ. शिवानन्द साहू, चक्रधर थपलियाल, सदांनद अंबेकर आदि ने संबोधित किया।

Leave A Comment