Breaking News:

देहरादून में शुरू हुआ सैनिटाइजेशन का कार्य, जानिए खबर -

Saturday, June 6, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या 1303 -

Saturday, June 6, 2020

सोशल मीडिया पर कार्तिक आर्यन की मां की चर्चा , जानिए खबर -

Saturday, June 6, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1245 , जिनमे 422 मरीज हुए ठीक -

Saturday, June 6, 2020

नेक कार्य : सोनू सूद ने जहाज बुक कर उत्तराखंड के प्रवासियों को घर भेजा -

Saturday, June 6, 2020

गैरसैण बनेगी ई-विधानसभा : सीएम त्रिवेंद्र -

Friday, June 5, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1215 , ठीक हुए मरीजो की संख्या हुई 344 -

Friday, June 5, 2020

“उत्तराखंड की शान भैजी विरेन्द्र सिंह रावत” ऑडियो वीडियो का हुआ शुभारम्भ -

Friday, June 5, 2020

डेंगू से बचाव के लिए जागरूकता जरूरी -

Friday, June 5, 2020

कोरोना से बचे : कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1199, देहरादून में 15 नए मामले मिले -

Friday, June 5, 2020

7 जून से “एसपीओ” द्वारा राष्ट्रीय ऑनलाइन योगा प्रतियोगिता का आयोजन -

Friday, June 5, 2020

उत्तराखंड : 10वीं च 12वीं की शेष परीक्षाएं 25 जून से पहले होंगी -

Friday, June 5, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1153 आज 68 नए मरीज मिले -

Thursday, June 4, 2020

पांच जून को अधिकांश जगह बारिश की संभावना -

Thursday, June 4, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1145 -

Thursday, June 4, 2020

जागरूकता और सख्ती पर विशेष ध्यान हो : सीएम त्रिवेंद्र -

Thursday, June 4, 2020

दुःखद : बॉलीवुड कास्टिंग निदेशक का निधन -

Thursday, June 4, 2020

वक्त का फेर : चैम्पियन तीरंदाज सड़क पर बेच रही सब्जी -

Thursday, June 4, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या 1085 हुई , 42 नए मरीज मिले -

Wednesday, June 3, 2020

अभिनेत्री ने जहर खाकर की खुदकुशी, जानिए खबर -

Wednesday, June 3, 2020

गरीब बच्चों को पढ़ाने में बिताता है अपनी छुट्टियां, जानिए खबर

pahal

भोपाल |अपने घर से दूर दूसरे शहर में काम करने वाले वीकेंड में अपने घर पहुचंना चाहते हैं। वे पहली ट्रेन पकड़कर साप्ताहिक छुट्टियां मनाने घर जाते हैं, लेकिन भोपाल का एक इंजिनियर ऐसा है जो अपनी साप्ताहिक छुट्टियों में पहली ट्रेन पकड़ता है लेकिन घर के लिए नहीं बल्कि जरूरतमंद गरीब बच्चों को पढ़ाने के लिए। राहुल टीकमगढ़ में काम करता है। वह हर हफ्ते ट्रेन से भोपाल आते हैं। यहां के दुर्गा नगर स्लम में बने स्कूल में आकर गरीब बच्चों को फ्री में पढ़ाते हैं। उनका यह सफल चार साल पहले शुरू हुआ था। तब राहुल एमएएनआईटी के छात्र थे। उन्होंने राज्य शिक्षा केंद्र द्वारा शुरू किए गए इस स्कूल में पढ़ाना शुरू किया। दुर्गानगर में यह एकलौता ऐसा स्कूल है जो संचालित है। लोहे की चादर के नीचे चलने वाले इस स्कूल में स्लम के 25 बच्चे आते हैं, वे यहां पढ़ते हैं, पेंट करते हैं, खेलते और नई-नई चीजें सीखते हैं। राहुल कहते हैं, ‘मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं इस तरह से बच्चों के साथ जुड़ूंगा और इतने लंबे समय तक जुड़ा रहूंगा लेकिन जब मैंने इन बच्चों का टैलंट देखा तो इनसे जुड़ गया।’राहुल हर महीने इस स्कूल के बच्चों पर आठ हजार रुपये खर्च करते हैं। कहते हैं, ‘हम लोगों ने पहले डेली क्लासेस शुरू कीं जिसमें दो दिन खेल के तौर पर खिलाते थे। अब पंद्रह दिन में एक बार क्विज प्रतियोगिता का आयोजन करते हैं। 30 बच्चे जो स्कूल में आते हैं उनमें से कुछ सरकारी स्कूल में भी पढ़ते जाते हैं। जो सरकारी स्कूल नहीं जाते हैं वे यहीं पर पढ़ना और लिखना सीखते हैं।’

Leave A Comment