Breaking News:

हेल्प मी वेलफेयर सोसायटी ने गरीबों की मदद किये -

Tuesday, April 7, 2020

उत्तराखंड में पांच और कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आए, संक्रमित मरीजों की संख्या हुई 31 -

Monday, April 6, 2020

सीएम ने उत्तराखंड के जवानों की शहादत को नमन किया -

Monday, April 6, 2020

उत्तराखंड : मुख्यमंत्री कैम्प कार्यालय में बेहतर समन्वय के लिए बनाया गया कंट्रोल रूम -

Monday, April 6, 2020

पौड़ी : पाबौ में चट्टान से गिरने से महिला की मौत -

Monday, April 6, 2020

जुबिन नौटियाल ने ऑनलाइन शो से कोरोना फाइटर्स को कहा थैंक्यू -

Monday, April 6, 2020

अनूप नौटियाल व डा. दिनेश चौहान रहे कोरोना वाॅरियर -

Monday, April 6, 2020

पहल : देहरादून में 7745 भोजन पैकेट वितरित किये गये -

Sunday, April 5, 2020

सीएम त्रिवेन्द्र ने परिवार संग दीप जला कर हौसला बढाने का दिया सन्देश -

Sunday, April 5, 2020

उत्तराखंड में चार और कोरोना पाॅजीटिव मामले सामने आए, संख्या 26 हुई -

Sunday, April 5, 2020

दुःखद : जंगल की आग में जिंदा जली दो महिलाएं -

Sunday, April 5, 2020

आम आदमी की रसोईः जरूरतमंदों को दे रही भोजन और राशन -

Sunday, April 5, 2020

5 अप्रैल को रात 9 बजे 9 मिनट के लिए अपने घरों में लाईट बंद कर दीपक जलाए : सीएम त्रिवेंद्र -

Saturday, April 4, 2020

लापता व्यक्ति का शव पाषाण देवी के मंदिर पास झील से बरामद हुआ -

Saturday, April 4, 2020

देहरादून : स्वयंसेवी संस्थाओं के सहयोग से 9482 भोजन पैकेट वितरित किये गये -

Saturday, April 4, 2020

उत्तराखंड में कोरोना पॉजिटिव मामलों की संख्या हुई 22 -

Saturday, April 4, 2020

सोशियल पॉलीगोन ग्रुप ऑफ कंपनी ने मुख्यमंत्री राहत कोष में 5 लाख का चेक दिया -

Saturday, April 4, 2020

लॉकडाउन : रचायी जा रही शादी पुलिस ने रुकवाई, 15 लोगों पर मुकदमा दर्ज -

Friday, April 3, 2020

उत्तराखंड : त्रिवेन्द्र सरकार ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए जारी किये 85 करोङ रूपए -

Friday, April 3, 2020

ऋषियों का मूल मंत्र ’तमसो मा ज्योतिर्गमय’ एक अद्भुत आइडियाः स्वामी चिदानन्द सरस्वती -

Friday, April 3, 2020

गोकुलधाम सोसायटी छोड़ी चंपक चाचा और तप्पू !

tarak

इस समय एपिसोड ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ में चंपक चाचा गोकुलधाम सोसायटी के लोगों को बताते हैं कि उन्होंने घर छोड़ने का फैसला लिया है। इससे सभी लोग परेशान हो जाते हैं। सभी लोग चंपक चाचा और तप्पू से कहते हैं कि वे उनके घर में रुक जाएं लेकिन वे दोनों मना कर देते हैं। वह उन्हें बताते हैं कि जेठालाल की हरकत से वह काफी शर्मिंदा हैं और अब वह किसी को अपनी शक्ल नहीं दिखा सकते। मेहता और अन्य लोग चंपक चाचा से पूछते हैं कि वह कहां रुकेंगे। वह कहते हैं कि वह वापस अपने गांव जा रहे हैं और वहां पर कुछ खेती करने की कोशिश करेंगे। वह नट्टू काका और बागा को कहते हैं कि वह उनकी मजदूरी हर महीने भेज दिया करेंगे। नट्टू काका और बागा कहते हैं कि वह अपनी रोजी रोटी कमा लेंगे। चंपक चाचा ने कहा कि जब कोई बैंक घोटाला करता है तो बाकी सभी आम लोग परेशान होते हैं। जैसे ही वे जाने वाले होते हैं तभी तप्पू अपने दादाजी से कहता है कि वह जाएंगे कैसे क्योंकि उनके पास सफर करने के लिए तो पैसा है ही नहीं। चंपक चाचा वापस जाते हैं और गोकुलधाम सोसायटी के लोगों से कुछ पैसे मांगते हैं और पैसा वापस करने का वादा भी करते हैं। इसके अलावा चंपक चाचा भिडे को वादा करते हैं कि वह हर महीने मेनटेनेंस की फीस देंगी। तभी वहां मीडिया के लोग पहुंच जाते हैं और चंपक चाचा को परेशान करने लगते हैं। वे उनसे बैंक धोखाधड़ी के बारे में सवाल पूछते हैं। चाचा को बचाने के लिए पोपटलाल आता है। वह मीडिया के लोगों से वहां से जाने को कहता है। इस सारे घटनाक्रम से चंपक चाचा और तप्पू इमोशनल हो जाते है। वह सोसायटी के सारे लोगों से गले मिलते हैं और सोसायटी से बाहर चले जाते हैं।

Leave A Comment