Breaking News:

दर – दर भटक रही है अपने बच्चे के साथ यह महिला, जानिए खबर -

Thursday, January 18, 2018

बिग बॉस के इस प्रतिभागी का चेहरा सर्जरी से हुआ खराब, जानिए है कौन -

Thursday, January 18, 2018

प्रदेश में भू कानून में परिवर्तन की मांग को लेकर “हम” का धरना -

Thursday, January 18, 2018

शासकीय योजनाओं का हो व्यापक प्रचार-प्रसार : डाॅ.पंकज कुमार पाण्डेय -

Thursday, January 18, 2018

केंद्रीय वित्तमंत्री के समक्ष सीएम ने रखी ग्रीन बोनस की मांग -

Thursday, January 18, 2018

कांटों वाले बाबा को हर कोई देख है दंग … -

Wednesday, January 17, 2018

फिल्म पद्मावत फिर पहुंची एक बार कोर्ट, जानिए खबर -

Wednesday, January 17, 2018

बालिकाओ ने जूडो, बैडमिंटन, फुटबाल, वालीबाल, बाक्सिंग में दिखाई दम -

Wednesday, January 17, 2018

उत्तराखंड के उत्पादों का एक ही ब्रांड नेम होना चाहिए : उत्पल कुमार सिंह -

Wednesday, January 17, 2018

पर्वतीय राज्यों को मिले 2 प्रतिशत ग्रीन बोनस : सीएम -

Wednesday, January 17, 2018

सिर दर्द हो तो करे यह उपाय …. -

Monday, January 15, 2018

उत्तरायणी महोत्सव में रंगारंग कार्यक्रमों की धूम -

Monday, January 15, 2018

सौर ऊर्जा से चलने वाली कार का दिया प्रस्तुतीकरण -

Monday, January 15, 2018

सीएम ने ईको फ्रेण्डली किल वेस्ट मशीन का किया उद्घाटन -

Monday, January 15, 2018

औद्योगीकरण को बढ़ावा देने को लेकर प्रदेश में सिंगल विंडो सिस्टम लागू -

Monday, January 15, 2018

युवा क्रिकेटर के लिए भारतीय तेज गेंदबाज आरपी सिंह ने मांगी मदद -

Sunday, January 14, 2018

कक्षा सात की बालिका ने प्रधानमंत्री के लिए लिखी चिट्ठी, जानिए खबर -

Sunday, January 14, 2018

हरियाली डेवलपमेंट फाउंडेशन ने की गरीब, अनाथ एवं बेसहारा लोगो की मदद -

Sunday, January 14, 2018

रेडिमेड वस्त्रों के 670 सेंटर स्थापित किये जायेंगेः सीएम -

Sunday, January 14, 2018

सीएम ने 14 विकास योजनाओं का किया शिलान्यास -

Saturday, January 13, 2018

ग्रामीण बस्ती बचाने को भगवान की शरण में, जानिये खबर

JRA HATKE

विकासनगर। कहीं सुनवाई न होने के बाद ग्रामीण अब बस्ती बचाने को भगवान की शरण में पहुंचे हैं। प्रशासन की ओर से शीशमबाड़ा में परिवारों की बस्ती को अवैध घोषित करने के बाद ध्वस्तीकरण की चेतावनी दिए जाने से परेशान स्थानीय बाशिंदों ने अब भगवान की शरण ली है। बस्ती बचाने को मुख्यमंत्री, राज्यपाल, मानवाधिकार आयोग सहित राष्ट्रपति तक से गुहार लगाने के बावजूद काई ठोस आश्वासन नहीं मिलने पर रविवार को बस्ती के मंदिर में ही पूजा-अर्चना कर बस्ती को बचाने की मन्नत मांगी। जबकि सोमवार को हवन के साथ ही भंडारा भी आयोजित किया जाएगा। स्थानीय बाशिंदों ने बताया कि इस बस्ती को उन्होंने मेहनत से बसाया है। हालांकि जमीन उन्होंने सस्ते दामों पर खरीदी, लेकिन कोई भी बाशिंदा यहां अवैध रूप से नहीं बसा है। जबकि प्रशासन बिल्डर को फायदा पहुंचाने के लिए साजिश के तहत बस्ती को अवैध करार दे रहा है। शीशमबाड़ा में दो सौ अस्सी परिवारों की बस्ती को प्रशासन ने कुछ समय पूर्व अवैध करार देते हुए खाली करने की मुनादी कराई थी। मुनादी के वक्त जिला व तहसील का प्रशासनिक अमला बस्ती में मौजूद रहा। प्रशासन की कार्रवाई के बाद बस्ती उजड़ने की आशंका से भयभीत स्थानीय बाशिदों ने सीएम, राज्यपाल से लेकर राष्ट्रपति तक से न्याय की गुहार लगाई। लेकिन कहीं से कोई ठोस आश्वासन नहीं मिला। हालांकि कुछ दिन पूर्व क्षेत्रीय विधायक सहदेव पुंडीर ने जरूर बस्ती के बाशिंदों के समर्थन में तहसील प्रशासन को ध्वस्तीकरण की कार्रवाई नहीं करने के निर्देश दिए थे। लेकिन विधायक के मौखिक निर्देश भी स्थानीय बाशिंदों को ठोस आश्वासन नहीं दे पाए। लिहाजा शासन, प्रशासन से निराश बस्ती के बा¨शदे अब भगवान की शरण में गए हैं। रविवार को स्थानीय बाशिंदों ने बस्ती के मंदिर में सामूहिक पूजा-अर्चना कर ईश्वर से न्याय की गुहार लगाई। इस दौरान विजेंद्र, लक्ष्मण, पवन, रजनीश, मधुबाला, मोती लाल, अवधेश, महिपाल आदि मौजूद रहे।

Leave A Comment