Breaking News:

उत्तराखंड : निकाय चुनाव का मतदान 18 नवंबर को -

Monday, October 15, 2018

व्यंग्यः कितना दर्द दिया मीटू के टीटू ने…..! -

Monday, October 15, 2018

टिहरी गढ़वाल के बंगसील स्कूल में सफाई अभियान की अनोखी पहल -

Monday, October 15, 2018

गडकरी, एम्स डायरेक्टर समेत आठ लोगों के खिलाफ मातृसदन दर्ज कराएगा हत्या का मुकदमा -

Monday, October 15, 2018

साधन विहीन व निर्बल वर्ग के बच्चों को यथा सम्भव पहुंचे सहायता : राज्यपाल -

Monday, October 15, 2018

#MeToo: बॉलिवुड की अभिनेत्रियों ने आरोपियों के साथ काम करने से किया इंकार -

Monday, October 15, 2018

भारतीय टीम ने वेस्ट इंडीज को हराकर हासिल की शानदार जीत -

Monday, October 15, 2018

“मैड” के सपने को मिला नया नेतृत्व -

Sunday, October 14, 2018

देश के लिए डॉ.कलाम का अद्वितीय योगदान रहा : सीएम त्रिवेंद्र -

Sunday, October 14, 2018

डिप्रेशन विश्व में हार्ट अटैक के बाद मृत्यु का दूसरा बड़ा कारण -

Sunday, October 14, 2018

रूपातंरण कार्यक्रम सराहनीय ही नहीं अनुकरणीय भीः राज्यपाल -

Sunday, October 14, 2018

केदारनाथ यात्रा : 7 लाख के पार पहुंची दर्शनार्थियों की संख्या -

Sunday, October 14, 2018

“उपहार” का निराश्रित बेटियों की शादी में सराहनीय प्रयास -

Sunday, October 14, 2018

अधिकारी एवं कर्मचारी पूरी निष्ठा व ईमानदारी से करे कार्य : सीएम -

Saturday, October 13, 2018

राज्यपाल ने किया पंतनगर विश्वविद्यालय एवं जी.जी.आई.सी.का भ्रमण -

Saturday, October 13, 2018

मिस बॉलीवुड के लिए कॉम्पीटिशन का आयोजन -

Saturday, October 13, 2018

उद्यमी के घर पर भीड़ ने किया हमला -

Saturday, October 13, 2018

उत्तराखण्ड व हरियाणा के मध्य जल्द बहुद्देशीय परियोजनाओं के सम्बन्ध में एमओयू -

Saturday, October 13, 2018

दो दशक के बाद भारत और चीन के बीच फुटबॉल मैच -

Saturday, October 13, 2018

14 अक्टूबर को हाम्रो दशैं कार्यक्रम का भव्य आयोजन -

Friday, October 12, 2018

गढ़ नहीं छोड़ेंगे योगी आदित्यनाथ

yogi

लखनऊ। भाजपा सरकार के इसी महीने 100 दिन पूरे होने वाले हैं और इसी के साथ यह भी लगभग साफ होने लगा है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गोरखपुर के ही किसी क्षेत्र से चुनाव लड़कर विधानसभा की सदस्यता लेंगे। वह गोरखपुर ग्रामीण क्षेत्र से चुनाव लड़ सकते हैं और इसके लिए औपचारिक तैयारियां भी शुरू कर दी गई हैं। हालांकि आधिकारिक रूप से इसकी पुष्टि करने को अभी कोई तैयार नहीं है। इस क्षेत्र से जीते विपिन सिंह की मंदिर के प्रति निष्ठा को देखते हुए भी इस संभावना को बल मिलने लगा है। मुख्यमंत्री समेत उनके दोनों उप मुख्यमंत्रियों केशव प्रसाद, डा.दिनेश शर्मा और दो मंत्रियों स्वतंत्र देव सिंह और मोहसिन रजा के लिए छह माह के भीतर विधानसभा या विधान परिषद की सदस्यता लेना अनिवार्य है। योगी और केशव वर्तमान में सांसद हैं और राष्टन्न्पति चुनाव को देखते हुए अभी पार्टी ने उन्हें इस्तीफा नहीं देने दिया है। जून में राष्टन्न्पति चुनाव हो जाने के बाद पार्टी का पूरा ध्यान इनके विधानसभा चुनाव पर ही होगा। इससे पहले योगी के बुंदेलखंड, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और अयोध्या तक से लड़ने की चर्चाएं अलग-अलग समय पर उठी थीं लेकिन इस माह उनके गोरखपुर दौरों को देखते हुए यह माना जाने लगा है कि वह अपने सियासी गढ़ को नहीं छोड़ेंगे। गोरखपुर ग्रामीण को बीते विधानसभा चुनाव में योगी ने प्रतिष्ठा का प्रश्न बना लिया था और उनकी वजह से ही विपिन सिंह की मामूली अंतर से जीत हुई थी। योगी यहां से लड़ते हैं तो पार्टी का आधार भी और मजबूत होगा। वैसे भी पहले गोरखपुर शहर और ग्रामीण इलाके को मिलाकर दो सीटें थीं, गोरखपुर नगर और मानीराम। मानीराम गोरक्षपीठ की परंपरागत सीट रही है। क्षेत्र से यह लगाव भी उनके यहां से लड़ने की चर्चाओं को बल दे रहा है। इसी तरह उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के फाफाम≈ या फिर उनके पुराने क्षेत्र सिराथू से चुनाव लड़ने की संभावना जताई जा रही है।

Leave A Comment