Breaking News:

ईरान एवं भारत में है गहरा सांस्कृतिक सम्बन्धः डॉ पण्ड्या -

Monday, November 18, 2019

गांधी पार्क में ओपन जिम का सीएम त्रिवेंद्र ने किया लोकार्पण -

Monday, November 18, 2019

स्मार्ट सिटी हेतु 575 करोड़ रूपए के कामों का हुआ शिलान्यास, जानिए खबर -

Sunday, November 17, 2019

मिसेज दून दिवा सेशन-2 के फिनाले में पहुंचे राहुल रॉय , जानिए खबर -

Sunday, November 17, 2019

शीघ्र ही नई शिक्षा नीति : निशंक -

Sunday, November 17, 2019

उत्तराखंड : युवा इनोवेटर्स ने विकसित किए ऊर्जा दक्ष वाहन -

Sunday, November 17, 2019

यमकेश्वर : कार्यरत स्टार्ट अप को मुख्यमंत्री ने दिए 10 लाख रूपए -

Sunday, November 17, 2019

भगवा रक्षा दल : पंकज कपूर बने प्रदेश मीडिया प्रभारी -

Saturday, November 16, 2019

उत्तराखण्ड स्कूलों में वर्चुअल क्लास शुरू करने वाला बना पहला राज्य -

Saturday, November 16, 2019

सूचना कर्मचारी संघ चुनाव : भुवन जोशी अध्यक्ष , सुषमा उपाध्यक्ष एवं सुरेश चन्द्र भट्ट चुने गए महामंत्री -

Saturday, November 16, 2019

रेस लगाना पड़ा महंगा, हादसे में तीन की मौत -

Saturday, November 16, 2019

पब्लिक रिलेशंस सोसाइटी आफ इंडिया : 41वीं नेशनल कान्फ्रेंश के ब्रोशर का हुआ विमोचन -

Saturday, November 16, 2019

अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलन में भारत से साध्वी भगवती सरस्वती ने किया सहभाग -

Saturday, November 16, 2019

देहरादून में हुआ भाजपा के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा का भव्य स्वागत, जानिए खबर -

Friday, November 15, 2019

भिक्षा मांग रहे बच्चो को भिक्षा की जगह शिक्षा दे : एडीजी अशोक कुमार -

Friday, November 15, 2019

हरिद्वार : पर्यटकों के लिए खुले राजा जी रिजर्व पार्क के दरवाजे -

Friday, November 15, 2019

शहर में दूसरा प्लास्टिक बैंक हुई स्थापित, जानिए खबर -

Friday, November 15, 2019

उत्तराखण्ड में ‘‘सबका साथ-सबका विकास’’ जनयोजना अभियान 2 दिसम्बर से , जानिए खबर -

Friday, November 15, 2019

उत्तराखण्ड : सीएम त्रिवेंद्र ने सांसद आदर्श ग्राम योजना की समीक्षा की -

Thursday, November 14, 2019

अंगीठी की गैस से दम घुटने के कारण मां-बेटी की मौत -

Thursday, November 14, 2019

चाय बेच कर गुजारा चला रही है अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी बंदना

bandana

भोपाल | सपनो की उड़ान आखो में लिए कराटे की अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी बंदना अब बेबसी और बदहाली को अपने कंधो पर ले कर चल रही है | अंतर्राष्ट्रीय स्तर की कराटे खिलाड़ी बंदना जो अपने हाथो से प्रतिद्वंदियों के छक्के छुड़ाती थी आज इस अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी के हाथो में चाय की केतली शोभा दे रही है | यह हाल है भोपाल की बंदना सूर्यवंशी का | जो अब चाय की एक दुकान चला रही है | बंदना ने बताया की आर्थिक तंगी ने ३ वर्षो से चाय बेचने पर मजबूर किया |

bandana2

सरकार की तरफ से कोई मदद न मिलने पर आज देश एक खिलाड़ी को खो दिया जो देश और परिवार के लिए सपने देखती थी | इतना सब कुछ होने पर भी वह चाय बेचने के साथ साथ आर्थिक रूप से कमजोर बच्चो को निशुल्क कराटे सिखाती है | बंदना का कहना है की मै इन छात्रों की स्थिति को हमसे अधिक कौन समझ सकता है |

Leave A Comment