Breaking News:

मां नहीं बन सकी पर 51 बेसहारा बच्चों की है माँ -

Saturday, December 9, 2017

गहरी निंद्रा में सोया है आपदा प्रबंधन विभाग, जानिए खबर -

Saturday, December 9, 2017

राज्य सरकार लोकायुक्त को लेकर गंभीर नहींः इंदिरा ह्रदयेश -

Saturday, December 9, 2017

सरकार ने जनता की आशाओं को विश्वास में बदलाः सीएम -

Saturday, December 9, 2017

उत्तराखण्ड क्रिकेट के हित में एक मंच पर आएं क्रिकेट एसोसिएशन: दिव्य नौटियाल -

Saturday, December 9, 2017

बीजेपी सांसद मोदी की कार्यशैली से नाराज होकर दिया इस्तीफा -

Friday, December 8, 2017

चीन की रिटेल कारोबार पर बढ़ती पकड़ से भारतीय रिटेलर परेशान -

Friday, December 8, 2017

जरूरतमंद लोगों के लिए गर्म कपड़े डोनेशन कैंप की शुरूआत -

Friday, December 8, 2017

बाल रंग शिविर का आयोजन -

Friday, December 8, 2017

युवाओं को देश प्रेम और देश भक्ति की सीख दे रहा यूथ फ़ाउंडेशन -

Friday, December 8, 2017

निकायों में सीमा विस्तार को लेकर विरोध प्रदर्शन तेज़ -

Thursday, December 7, 2017

गुजरात चुनाव : इस बार मणिनगर सीट है “हॉट” -

Thursday, December 7, 2017

पाकिस्तान ने ‘कपूर हवेली’ में दी श्रद्धांजलि, जानिये खबर -

Thursday, December 7, 2017

बढ़ सकती है आधार लिंक करने की आखिरी तारीख -

Thursday, December 7, 2017

अपर निदेशक सूचना ने दिवंगत पत्रकार की पत्नी को तीन लाख का चैक सौंपा -

Wednesday, December 6, 2017

तो इटली में विराट और अनुष्का बधेंगे शादी के बंधन में …! -

Wednesday, December 6, 2017

एबीवीपी ने मनाया सामाजिक समरसता दिवस -

Wednesday, December 6, 2017

सीएम ने मृतक होमगार्ड जवानों की पत्नियों को 5-5 लाख की धनराशि किये वितरित -

Wednesday, December 6, 2017

भीख मांगते मिली थी मेजर की बेटी, जानिए खबर -

Tuesday, December 5, 2017

17 दिसम्बर को आयोजित मैराथन में भाग जरूर ले , जानिये खबर -

Tuesday, December 5, 2017

चोटी मार : UP से लेकर दिल्ली और MP तक दहशत में लोग

india

देश में महिलाओं की चोटियां कटने की वारदातों ने हर किसी को उलझा रखा है | यूपी, मध्य प्रदेश, हरियाणा, दिल्ली-एनसीआर और राजस्थान जैसे एक बड़े इलाके और कई राज्यों में जारी ऐसी वारदात से शासन प्रशासन सकते में है . ऐसे लोगों की कोई कमी नहीं, जो इसके पीछे रुहानी ताकत को जिम्मेदार मानते हैं. इस मामले को सुलझाने के लिए दिल्ली पुलिस ने पूरी ताकत झोंक दी हैं. वो मुखबिरों से जानकारी जुटाने के साथ-साथ साइंटिफिक और सायकोलॉजिकल इंवेस्टिगेशन का सहारा ले रही है. ताकि कहीं से कोई ऐसा सिरा मिले, जिससे इस मामले का राज फाश हो. सबसे बड़ा सवाल तो यही है कि यदि इसके पीछे किसी शरारती शख्स या गैंग का ही हाथ है, तो ये गैंग इतनी जल्दी देश भर में अलग-अलग जगह पर महिलाओं को निशाना कैसे बना रहा है? इस गैंग के शख्स को कोई देख क्यों नहीं पाता? ज्यादातर मामलों में चोटियां कटने का शिकार होने वाली महिलाएं सोती हुई क्यों होती हैं या बेहोश क्यों हो जाती हैं? जाहिर है, यही वो सवाल है, जो इस वाकयों के रहस्यों गहरा कर रहे हैं. लेकिन इन सबके बीच सबसे बड़ी चुनौती पुलिस के सामने है. दिल्ली पुलिस के पास अबतक ऐसे 11 कॉल आ चुके हैं. कुछ लोग इन सब के पीछे किसी रूहानी ताकत, भूत या शैतान का हाथ बता रहे हैं, लेकिन पुलिस और कानून भूत-पिशाच जैसी बातों पर यकीन कर नहीं सकता. ऐसे में अब पुलिस साइंटिफिक इंवेस्टिगेशन का सहारा ले रही है. मौका-ए-वारदातों से फॉरेंसिक एविडेंस जुटाए जा रहे हैं. मनोचिकित्सकों की मदद लेनी शुरू की गई है. मनोचिकित्सालय ‘इबहास’ के डॉक्टर भी जांच में जुटे हैं. डॉक्टरों ने कुछ पीड़ितों का एसेसमेंट किया है, काउंसिलिंग बाक़ी है. दिल्ली पुलिस ने इस पर हाई लेवल की मीटिंग भी की है. हर जतन करने की बात कही गई है.

Leave A Comment