Breaking News:

उत्तराखंड सरकार की हाईकोर्ट ने की तारीफ -

Monday, December 11, 2017

शादीशुदा जोड़ों का अनोखा शो ‘‘आपकी खूबसूरती उनकी नज़र से’’ -

Monday, December 11, 2017

जज्बा हो तो सब मुमकिन है, जानिये खबर -

Monday, December 11, 2017

जन क्रांति विकास मोर्चा ने ड्रग माफियाओं का फूंका पुतला -

Monday, December 11, 2017

गरीब बच्चो का हक न मारे रावत सरकार : आम आदमी पार्टी -

Monday, December 11, 2017

पर्वतीय क्षेत्र में विकास मील का पत्थर होगा साबित : मुख्यमंत्री -

Monday, December 11, 2017

मैड संस्था ने नगर निगम को सुझाया साफ़ सफाई रूपी “रास्ते” -

Monday, December 11, 2017

मां नहीं बन सकी पर 51 बेसहारा बच्चों की है माँ -

Saturday, December 9, 2017

गहरी निंद्रा में सोया है आपदा प्रबंधन विभाग, जानिए खबर -

Saturday, December 9, 2017

राज्य सरकार लोकायुक्त को लेकर गंभीर नहींः इंदिरा ह्रदयेश -

Saturday, December 9, 2017

सरकार ने जनता की आशाओं को विश्वास में बदलाः सीएम -

Saturday, December 9, 2017

उत्तराखण्ड क्रिकेट के हित में एक मंच पर आएं क्रिकेट एसोसिएशन: दिव्य नौटियाल -

Saturday, December 9, 2017

बीजेपी सांसद मोदी की कार्यशैली से नाराज होकर दिया इस्तीफा -

Friday, December 8, 2017

चीन की रिटेल कारोबार पर बढ़ती पकड़ से भारतीय रिटेलर परेशान -

Friday, December 8, 2017

जरूरतमंद लोगों के लिए गर्म कपड़े डोनेशन कैंप की शुरूआत -

Friday, December 8, 2017

बाल रंग शिविर का आयोजन -

Friday, December 8, 2017

युवाओं को देश प्रेम और देश भक्ति की सीख दे रहा यूथ फ़ाउंडेशन -

Friday, December 8, 2017

निकायों में सीमा विस्तार को लेकर विरोध प्रदर्शन तेज़ -

Thursday, December 7, 2017

गुजरात चुनाव : इस बार मणिनगर सीट है “हॉट” -

Thursday, December 7, 2017

पाकिस्तान ने ‘कपूर हवेली’ में दी श्रद्धांजलि, जानिये खबर -

Thursday, December 7, 2017

जब बिना ड्राइवर के चल पड़ी रेल इंजन…

trainजब दो ट्रेन के इंजन लगभग 10 किमी तक बिना ड्राइवर के चले गए तो उस समय त्रिची रेलवे जंक्शन पर अफरा-तफरी मच गई । बताया जा रहा है कि इनके ब्रेक फेल हो गए थे। इस घटना के बाद रेलवे के अधिकारियों में खलबली मच गई। इन ट्रेन के इंजनों ने दो स्थानीय स्टेशन और एक नदी का पुल पार कर दिया था। 15 मिनट बाद इन पर काबू पाया जा सका। इस घटना में कोई हताहत नहीं हुआ, क्योंकि ट्रेनों का उसी रूट पर जाना पहले से तय था, जिस रास्ते में घटना हुई। रेलवे सूत्रों के मुताबिक, एक लोको पायलट ने प्लेटफॉर्म पर इंजनों को पैसेंजर ट्रेन से जोड़ने के लिए उतारा था। टेक्निकल स्टाफ डिब्बों को जोड़ने ही वाला था कि उसे एक इंजन में गड़बड़ी नजर आई। रेलवे सूत्रों के मुताबिक ड्राइवर दो इंजन को प्लेटफॉर्म नंबर 1A पर इन्हें जोड़ने के लिए लाया था। टेक्निकल स्टाफ जब इनको जोड़ने की तैयारी कर रहा था तभी इंजन अपने आप चलने लगा। आनन फानन में ड्राइवर ने टेक्निकल स्टाफ को सूचना दी कि इतने में दूसरा इंजन भी अपने आप चलने लगा। ब्रेक फेल होने के कारण इनको रोकना मुश्किल हो रहा था। 10 किमी तक ये इंजन बिना चालक के ही चलते रहे फिर पटरियों पर पत्थर रखकर इन्हें रोका जा सका। फिलहाल इस मामले की जांच चल रही है।

Leave A Comment