Breaking News:

श्री विश्वनाथ मां जगदीशिला डोली के आयोजन स्थलों पर पौधारोपण होगा : नैथानी -

Friday, May 29, 2020

हरेला पर 16 जुलाई को वृहद स्तर पर पौधारोपण किया जाएगाः सीएम -

Friday, May 29, 2020

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी का निधन -

Friday, May 29, 2020

ज्योतिषी बेजन दारूवाला का निधन -

Friday, May 29, 2020

ब्लैकमेल : न्यूज़ पोर्टल संचालक हुआ गिरफ्तार -

Friday, May 29, 2020

कोरोना का कोहराम : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 716, आज सबसे अधिक 216 मरीज मिले -

Friday, May 29, 2020

उत्तराखंड : उत्तराखंड में कोरोना मरीजों की संख्या हुई 602 , देहरादून में आज आये 54 नए मामले -

Friday, May 29, 2020

उत्तराखंड : दुकान खुलने का समय प्रातः 7 बजे से सांय 7 बजे तक हुआ -

Thursday, May 28, 2020

कोरोना कहर : उत्तराखंड में कोरोना मरीजों की संख्या पहुँची 500 -

Thursday, May 28, 2020

टीवी अभिनेत्री का सड़क हादसे में हुई मौत -

Thursday, May 28, 2020

बिहार की बेटी ज्योति के मुरीद हुए विदेशी भी, जानिए खबर -

Thursday, May 28, 2020

मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना’’ का शुभारंभ हुआ -

Thursday, May 28, 2020

उत्तराखंड : कोरोना मरीजो की संख्या हुई 493 -

Thursday, May 28, 2020

उत्तराखंड : मुख्यमंत्री राहत कोष में आज यह दिए दान, जानिए खबर -

Wednesday, May 27, 2020

देहरादून से विशेष ट्रेन द्वारा हज़ारो मजदूर बिहार एंव उत्तर प्रदेश के लिए रवाना, जानिए खबर -

Wednesday, May 27, 2020

उत्तराखंड : कोरोना मरीजो की संख्या हुई 469, आज 69 मरीज मिले कोरोना के -

Wednesday, May 27, 2020

ऋषिकेश-धरासू हाइवे पर 440 मीटर लंबी टनल हुई तैयार, सीएम त्रिवेंद्र ने जताया आभार -

Wednesday, May 27, 2020

कोरोना का कहर : उत्तराखंड में कोरोना मरीज हुए 438 -

Wednesday, May 27, 2020

उत्तराखंड : राज्य में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 401 -

Tuesday, May 26, 2020

“आप” पार्टी से जुड़े कई लोग, जानिए खबर -

Tuesday, May 26, 2020

जब बिना ड्राइवर के चल पड़ी रेल इंजन…

trainजब दो ट्रेन के इंजन लगभग 10 किमी तक बिना ड्राइवर के चले गए तो उस समय त्रिची रेलवे जंक्शन पर अफरा-तफरी मच गई । बताया जा रहा है कि इनके ब्रेक फेल हो गए थे। इस घटना के बाद रेलवे के अधिकारियों में खलबली मच गई। इन ट्रेन के इंजनों ने दो स्थानीय स्टेशन और एक नदी का पुल पार कर दिया था। 15 मिनट बाद इन पर काबू पाया जा सका। इस घटना में कोई हताहत नहीं हुआ, क्योंकि ट्रेनों का उसी रूट पर जाना पहले से तय था, जिस रास्ते में घटना हुई। रेलवे सूत्रों के मुताबिक, एक लोको पायलट ने प्लेटफॉर्म पर इंजनों को पैसेंजर ट्रेन से जोड़ने के लिए उतारा था। टेक्निकल स्टाफ डिब्बों को जोड़ने ही वाला था कि उसे एक इंजन में गड़बड़ी नजर आई। रेलवे सूत्रों के मुताबिक ड्राइवर दो इंजन को प्लेटफॉर्म नंबर 1A पर इन्हें जोड़ने के लिए लाया था। टेक्निकल स्टाफ जब इनको जोड़ने की तैयारी कर रहा था तभी इंजन अपने आप चलने लगा। आनन फानन में ड्राइवर ने टेक्निकल स्टाफ को सूचना दी कि इतने में दूसरा इंजन भी अपने आप चलने लगा। ब्रेक फेल होने के कारण इनको रोकना मुश्किल हो रहा था। 10 किमी तक ये इंजन बिना चालक के ही चलते रहे फिर पटरियों पर पत्थर रखकर इन्हें रोका जा सका। फिलहाल इस मामले की जांच चल रही है।

Leave A Comment