Breaking News:

उत्तराखंड : निकाय चुनाव का मतदान 18 नवंबर को -

Monday, October 15, 2018

व्यंग्यः कितना दर्द दिया मीटू के टीटू ने…..! -

Monday, October 15, 2018

टिहरी गढ़वाल के बंगसील स्कूल में सफाई अभियान की अनोखी पहल -

Monday, October 15, 2018

गडकरी, एम्स डायरेक्टर समेत आठ लोगों के खिलाफ मातृसदन दर्ज कराएगा हत्या का मुकदमा -

Monday, October 15, 2018

साधन विहीन व निर्बल वर्ग के बच्चों को यथा सम्भव पहुंचे सहायता : राज्यपाल -

Monday, October 15, 2018

#MeToo: बॉलिवुड की अभिनेत्रियों ने आरोपियों के साथ काम करने से किया इंकार -

Monday, October 15, 2018

भारतीय टीम ने वेस्ट इंडीज को हराकर हासिल की शानदार जीत -

Monday, October 15, 2018

“मैड” के सपने को मिला नया नेतृत्व -

Sunday, October 14, 2018

देश के लिए डॉ.कलाम का अद्वितीय योगदान रहा : सीएम त्रिवेंद्र -

Sunday, October 14, 2018

डिप्रेशन विश्व में हार्ट अटैक के बाद मृत्यु का दूसरा बड़ा कारण -

Sunday, October 14, 2018

रूपातंरण कार्यक्रम सराहनीय ही नहीं अनुकरणीय भीः राज्यपाल -

Sunday, October 14, 2018

केदारनाथ यात्रा : 7 लाख के पार पहुंची दर्शनार्थियों की संख्या -

Sunday, October 14, 2018

“उपहार” का निराश्रित बेटियों की शादी में सराहनीय प्रयास -

Sunday, October 14, 2018

अधिकारी एवं कर्मचारी पूरी निष्ठा व ईमानदारी से करे कार्य : सीएम -

Saturday, October 13, 2018

राज्यपाल ने किया पंतनगर विश्वविद्यालय एवं जी.जी.आई.सी.का भ्रमण -

Saturday, October 13, 2018

मिस बॉलीवुड के लिए कॉम्पीटिशन का आयोजन -

Saturday, October 13, 2018

उद्यमी के घर पर भीड़ ने किया हमला -

Saturday, October 13, 2018

उत्तराखण्ड व हरियाणा के मध्य जल्द बहुद्देशीय परियोजनाओं के सम्बन्ध में एमओयू -

Saturday, October 13, 2018

दो दशक के बाद भारत और चीन के बीच फुटबॉल मैच -

Saturday, October 13, 2018

14 अक्टूबर को हाम्रो दशैं कार्यक्रम का भव्य आयोजन -

Friday, October 12, 2018

जब बिना ड्राइवर के चल पड़ी रेल इंजन…

trainजब दो ट्रेन के इंजन लगभग 10 किमी तक बिना ड्राइवर के चले गए तो उस समय त्रिची रेलवे जंक्शन पर अफरा-तफरी मच गई । बताया जा रहा है कि इनके ब्रेक फेल हो गए थे। इस घटना के बाद रेलवे के अधिकारियों में खलबली मच गई। इन ट्रेन के इंजनों ने दो स्थानीय स्टेशन और एक नदी का पुल पार कर दिया था। 15 मिनट बाद इन पर काबू पाया जा सका। इस घटना में कोई हताहत नहीं हुआ, क्योंकि ट्रेनों का उसी रूट पर जाना पहले से तय था, जिस रास्ते में घटना हुई। रेलवे सूत्रों के मुताबिक, एक लोको पायलट ने प्लेटफॉर्म पर इंजनों को पैसेंजर ट्रेन से जोड़ने के लिए उतारा था। टेक्निकल स्टाफ डिब्बों को जोड़ने ही वाला था कि उसे एक इंजन में गड़बड़ी नजर आई। रेलवे सूत्रों के मुताबिक ड्राइवर दो इंजन को प्लेटफॉर्म नंबर 1A पर इन्हें जोड़ने के लिए लाया था। टेक्निकल स्टाफ जब इनको जोड़ने की तैयारी कर रहा था तभी इंजन अपने आप चलने लगा। आनन फानन में ड्राइवर ने टेक्निकल स्टाफ को सूचना दी कि इतने में दूसरा इंजन भी अपने आप चलने लगा। ब्रेक फेल होने के कारण इनको रोकना मुश्किल हो रहा था। 10 किमी तक ये इंजन बिना चालक के ही चलते रहे फिर पटरियों पर पत्थर रखकर इन्हें रोका जा सका। फिलहाल इस मामले की जांच चल रही है।

Leave A Comment