Breaking News:

उत्तराखंड पुलिस ने किया मांउण्ट एवरेस्ट फतह, मुख्यमंत्री ने दी बधाई -

Sunday, May 20, 2018

पीएम मोदी कल करेंगे राष्ट्रपति पुनित के साथ बैठक -

Sunday, May 20, 2018

दिल्ली ने मुंबई इंडियंस को 11 रनों से हराया, मुंबई प्लेऑफ से बाहर -

Sunday, May 20, 2018

छत्तीसगढ़ में नक्सली हमला, आईईडी ब्लास्ट में 6 जवान शहीद -

Sunday, May 20, 2018

रोजा तोड़कर बचाई जान जानिए ख़बर -

Sunday, May 20, 2018

आने वाली पीढ़ियों के लिये रिस्पना को बचाने का प्रयास : सीएम -

Saturday, May 19, 2018

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर प्लेऑफ की दौड़ से बाहर जानिए ख़बर -

Saturday, May 19, 2018

मुख्यमंत्री मोबाइल एप पर शिकायत और मैड मल्ला और तल्ला गाँव के लिए पहुंचा पीने का पानी। -

Saturday, May 19, 2018

फिल्म ‘लस्ट स्टोरीज’ का ट्रेलर हुआ रिलीज -

Saturday, May 19, 2018

पीएम मोदी ने जोजिला सुरंग का किया शिलान्यास, एशिया की सबसे लंबी सुरंग -

Saturday, May 19, 2018

अफगानिस्तान की क्रिकेट टीम देहरादून पहुंची, तीन जून को पहला मैच -

Saturday, May 19, 2018

उत्तराखण्ड में विभिन्न क्षेत्रों में निवेश की अपार सम्भावनाएं : अनूप -

Friday, May 18, 2018

कल श्रीनगर जाएंगे पीएम मोदी -

Friday, May 18, 2018

रिस्पना नदी के पुनर्जीवीकरण हेतु अभियान में सभी दे साथ : सीएम -

Friday, May 18, 2018

कीर्ति व कृष्णा बने मिस्टर एंड मिस नाॅर्थ इंडिया ग्लैम हंट -

Friday, May 18, 2018

चार धाम ऑल वेदर रोड निर्माण कार्यो की हुई समीक्षा -

Friday, May 18, 2018

फिल्म ‘नक्काश’ का पोस्टर लॉन्च -

Friday, May 18, 2018

येदियुरप्पा कल साबित करेंगे बहुमत -

Friday, May 18, 2018

हक की लड़ाई : शीला रावत के समर्थन में अनेक समाजिक एवम राजनीतिक संगठन आये आगे -

Thursday, May 17, 2018

मिशन रिस्पना सरकारी आयोजन नही बल्कि महा जन अभियान है : सीएम -

Thursday, May 17, 2018

जब बिना ड्राइवर के चल पड़ी रेल इंजन…

trainजब दो ट्रेन के इंजन लगभग 10 किमी तक बिना ड्राइवर के चले गए तो उस समय त्रिची रेलवे जंक्शन पर अफरा-तफरी मच गई । बताया जा रहा है कि इनके ब्रेक फेल हो गए थे। इस घटना के बाद रेलवे के अधिकारियों में खलबली मच गई। इन ट्रेन के इंजनों ने दो स्थानीय स्टेशन और एक नदी का पुल पार कर दिया था। 15 मिनट बाद इन पर काबू पाया जा सका। इस घटना में कोई हताहत नहीं हुआ, क्योंकि ट्रेनों का उसी रूट पर जाना पहले से तय था, जिस रास्ते में घटना हुई। रेलवे सूत्रों के मुताबिक, एक लोको पायलट ने प्लेटफॉर्म पर इंजनों को पैसेंजर ट्रेन से जोड़ने के लिए उतारा था। टेक्निकल स्टाफ डिब्बों को जोड़ने ही वाला था कि उसे एक इंजन में गड़बड़ी नजर आई। रेलवे सूत्रों के मुताबिक ड्राइवर दो इंजन को प्लेटफॉर्म नंबर 1A पर इन्हें जोड़ने के लिए लाया था। टेक्निकल स्टाफ जब इनको जोड़ने की तैयारी कर रहा था तभी इंजन अपने आप चलने लगा। आनन फानन में ड्राइवर ने टेक्निकल स्टाफ को सूचना दी कि इतने में दूसरा इंजन भी अपने आप चलने लगा। ब्रेक फेल होने के कारण इनको रोकना मुश्किल हो रहा था। 10 किमी तक ये इंजन बिना चालक के ही चलते रहे फिर पटरियों पर पत्थर रखकर इन्हें रोका जा सका। फिलहाल इस मामले की जांच चल रही है।

Leave A Comment