Breaking News:

पानी बचाने के लिए , 84 साल का ‘नौजवान’ लगा रहा जी-जान -

Monday, June 17, 2019

वर्ल्ड कप 2019 : जीत के बाद विराट ने की रोहित और कुलदीप की सराहना -

Monday, June 17, 2019

वर्ल्ड कप की जीत से खुशी से झूमे रणवीर सिंह -

Monday, June 17, 2019

कथक नृत्य ने लोगो का मोहा मन ….. -

Sunday, June 16, 2019

केदारनाथ त्रासदी के छह साल, बदली तस्वीर -

Sunday, June 16, 2019

अटल आयुष्मान का “सिस्टम” मरीजों पर भारीः जन संघर्ष मोर्चा -

Sunday, June 16, 2019

सीएम त्रिवेंद्र ने महाकुंभ तैयारियों की समीक्षा की -

Sunday, June 16, 2019

पिथौरागढ़ भ्रमण पर पंहुचे मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र -

Sunday, June 16, 2019

युवा डाॅक्टर गावों में 4-5 वर्ष की सेवा जरूर देंः राज्यपाल -

Saturday, June 15, 2019

मानव संसाधन विकास मंत्री निशंक ने किये भोले बाबा के दर्शन -

Saturday, June 15, 2019

उत्तराखण्ड को इको सिस्टम सर्विसेज के बदले मिले प्रोत्साहन राशिः सीएम -

Saturday, June 15, 2019

गंगा की सहायक नदियों से संबंधित प्रस्ताव नमामि गंगे में हो स्वीकृत -

Saturday, June 15, 2019

नहीं दर्ज होंगे पत्रकारों पर सीधे मुकदमे : डीजीपी -

Saturday, June 15, 2019

फिल्म ‘दिल तेरे संग’ की शूटिंग देहरादून एवं मसूरी में -

Saturday, June 15, 2019

ब्रिज एवम मार्ग का सीएम त्रिवेंद्र ने किया लोकार्पण -

Friday, June 14, 2019

“ब्लड फ्रेंडस” से बड़ा कोई फ्रेंडस नही …. -

Friday, June 14, 2019

16 जून : केदारनाथ आपदा के 6 साल, जख्म आज भी हरे -

Friday, June 14, 2019

त्रिवेंद्र कैबिनेट के विस्तार की मांग पकड़ने लगी जोर….. -

Friday, June 14, 2019

15 जून से डीएवी पीजी कॉलेज में स्नातक प्रथम वर्ष के होंगे रजिस्ट्रेशन -

Friday, June 14, 2019

मेयर ने किया ‘वचन दियूॅं छौं’ वीडियो का विमोचन -

Friday, June 14, 2019

जरा हट के : मिस्त्री से कलेक्टर बनने का सफर , जानिए खबर

जबलपुर | मध्य प्रदेश में जबलपुर के सुमित विश्वकर्मा ने उन लोगों को आईना दिखाया है, जो अभाव को असफलता की वजह बताते हैं | सुमित ने बीई और एमटेक की उपाधि हासिल की, और नौकरी नहीं मिली तो मजदूरी (मिस्त्री) को जीवकोपार्जन का जरिया बना लिया | मगर सरकारी नौकरी पाने का उद्देश्य उन्होंने हमेशा सामने रखा | दिन में मजदूरी और रात को पढ़ाई | आज उन्होंने संघ लोकसेवा आयोग (यूपीएससी) की परीक्षा में 53वां स्थान हासिल किया है | इन दिनों मध्य प्रदेश में सोशल मीडिया पर एक तस्वीर तेजी से वायरल हो रही है. इसमें एक नौजवान तेज धूप में मिस्त्री का काम करते नजर आ रहा है और उसके आगे लिखा है कि ‘मिस्त्री से बना कलेक्टर’| यह संदेश हर किसी को चमत्कृत कर देता है, मगर यह सच है |सुमित मूल रूप से जबलपुर के नजदीकी जिले सिवनी के बम्हौड़ी गांव के रहने वाले हैं | उनके पिता कृष्ण कुमार गांव में आय का जरिए न होने के कारण जबलपुर आ गए | सुमित बताते हैं कि उनकी इच्छा सरकारी नौकरी करने की थी | उन्होंने बीई करने के बाद सरकारी नौकरी के प्रयास किए, मगर सफलता नहीं मिली |कॉलेज कैंपस में कई कंपनियां आईं, मगर उस समय परिस्थितियों के कारण नौकरी करने वह बाहर नहीं जा सके| उन्हें एक कॉलेज में नौकरी मिली, मगर वह नौकरी भी ज्यादा दिन साथ नहीं दे सकी |सुमित आगे कहते हैं, “जब कोई नौकरी नहीं मिली तो मिस्त्री का काम करने लगा | दिन में मकान निर्माण का काम करते और रात को दो बजे तक नियमित रूप से पढ़ाई. मन में सरकारी नौकरी पाने की तमन्ना थी, लिहाजा उसी दिशा में जुटा रहा | मध्य प्रदेश लोकसेवा आयोग की परीक्षा में सफल नहीं हो पाया, मगर हिम्मत नहीं हारी | फिर यूपीएससी की तैयारी शुरू की. बीते 10 सालों से पिता के साथ मजदूरी के काम में हाथ बंटाता आ रहा हूं| ” सुमित की प्राथमिक और माध्यमिक शिक्षा गांव में ही हुई है | उसके बाद नवमीं कक्षा की पढ़ाई जबलपुर में हुई. पारिवारिक परिस्थितियों के कारण वापस गांव लौटना पड़ा, क्योंकि गांव में दादी अकेली थीं. सुमित ने 12वीं तक की पढ़ाई फिर गांव में ही की | बाद में उसका चयन जबलपुर के इंजीनियरिंग कॉलेज में हो गया | यहीं से उसने बीई और एमटेक की पढ़ाई पूरी की | सुमित बताते हैं, “वर्ष 2010 में मैंने संकल्प लिया कि सरकारी नौकरी पा कर ही रहेंगे | इसके लिए तैयारी शुरू की. वर्ष 2017 में मप्र पीएससी में सफलता नहीं मिली, मगर मैंने हिम्मत नहीं हारी | दिन में मजदूरी और फिर रात दो बजे तक पढ़ाई करता. वन विभाग में कार्यरत बड़े भाई (मनीष विश्वकर्मा) लगातार सरकारी नौकरी के लिए प्रेरित करते | ” अपनी तैयारी को लेकर सुमित बताते हैं, “गांव में पढ़ाई के कारण अंग्रेजी अच्छी नहीं थी | इसके लिए मैंने कोचिंग क्लास जॉइन की | दो साल की मेहनत से अंग्रेजी बेहतर हुई | यूपीएससी के साक्षात्कार को लेकर बड़ा दवाब था | साक्षात्कार लेने वालों ने पहले अपराध विज्ञान से संबंधित प्रश्न पूछे, उसके बाद व्यक्तिगत सवालों पर आए |

Leave A Comment