Breaking News:

“डीआरएस” में बदलाव की जरूरत : सचिन -

Wednesday, July 15, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3686, आज कुल 78 नए मरीज मिले -

Tuesday, July 14, 2020

ग्रामीण विकास के केंद्र बनेगे रूरल ग्रोथ सेंटर : सीएम त्रिवेंद्र -

Tuesday, July 14, 2020

प्यार एक एहसास…….. -

Tuesday, July 14, 2020

सलमान खान ने शुरू की खेती , जानिए खबर -

Tuesday, July 14, 2020

नाबार्ड ने मनाया अपना 39 वां स्थापना दिवस , जानिए खबर -

Tuesday, July 14, 2020

सम्मान: मां बृजेश्वरी योग माया मंदिर ट्रस्ट द्वारा सचिन आनंद को किया गया सम्मानित -

Tuesday, July 14, 2020

“आईआईटीटी” ने ऑनलाइन इंटरनेशनल कांफ्रेंस और वेबिनार का किया आयोजन -

Monday, July 13, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3608, आज कुल 71 नए मरीज मिले -

Monday, July 13, 2020

आत्मनिर्भर भारत में पंचायतों की महत्वपूर्ण भूमिका: सीएम त्रिवेंद्र -

Monday, July 13, 2020

पुलिस की यह वर्दी तुम्हारे बाप की गुलामी करने के लिए नहीं पहनी है…. -

Monday, July 13, 2020

उत्तरांचल पंजाबी महासभा महानगर युवा इकाई अध्यक्ष बने सन्तोष नागपाल -

Monday, July 13, 2020

खिलाड़ी वित्तिय तौर पर मजबूत हो : फेडरर -

Monday, July 13, 2020

अभिनेत्री रेखा का बंगला सील, जानिए क्यों -

Monday, July 13, 2020

कोरोना योद्धा : भारतीय चिकित्सा परिषद उत्तराखंड द्वारा विजय कुमार नौटियाल सम्मानित -

Sunday, July 12, 2020

फिल्म के किरदार के लिए सब कुछ न्योछावर कर बैठे “मेजर मोहम्मद अली शाह” , जानिए खबर -

Sunday, July 12, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3537, आज कुल 120 नए मरीज मिले -

Sunday, July 12, 2020

रमाकांत जायसवाल की कैंसर पीड़ित पत्नी की मदद को आगे आये सलमान, जानिए खबर -

Sunday, July 12, 2020

पूर्व डब्ल्यूडब्ल्यूई स्टार जल्द ही मां बनने वाली है, तस्वीरें वायरल -

Sunday, July 12, 2020

जरा हटके : प्रकृति के बीच फैशन शो -

Sunday, July 12, 2020

जल संचय जीवन के लिए अनमोल : सीएम त्रिवेंद्र

देहरादून | मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सचिवालय में पेयजल विभाग की समीक्षा की। उन्होंने जल संचय पर ध्यान देने के लिये पेयजल लाईनों के लीकेज को ठीक करने पर विशेष ध्यान देने को कहा।  मुख्यमंत्री ने कहा कि पेयजल लाईन बिछाते समय मानकों का ध्यान रखा जाए, ताकि वह जल्दी खराब न हो। उन्होंने कहा कि हमारी सेवाएं तथा व्यवस्थाएं बेहतर होनी चाहिए। उन्होंने जल संग्रहण क्षेत्रों के विकास पर विशेष ध्यान देने पर भी बल दिया।  बैठक में बताया गया कि पेरी अर्बन क्षेत्रों में नगरीय मानकों के अनुरूप पेयजल व्यवस्था के लिये 12 शहरों के लिये 975 करोड़ की योजना स्वीकृत की गई है। जबकि नगरीय जलोत्सरण योजनाओं के अन्तर्गत 26 नगरों में आंशिक जलोत्सरण व्यवस्था, 224.41 एमएलडी की क्षमता के 26 ट्रीटमेंट प्लांट स्थापित किये गये है। नमामि गंगे योजना के अधीन 188.75 एमएलडी के 30 एसटीपी का निर्माण, 6 एसटीपी का उच्चीकरण तथा 61 नालों का टेप करने का लक्ष्य रखा गया है। जिसके सापेक्ष 19 एसटीपी निर्मित, 06 एसटीपी का उच्चीकरण तथा 41 नालों को टेप किया गया है।  इसी प्रकार स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन की 614 ग्राम पंचायतों के कार्य पूर्ण किये जा चुके है। तथा 2313 के कार्य प्रगति पर है। प्रदेश में जल संचय अभियान के तहत मार्च, 2019 तक 214.63 करोड़ मीटर जल संचय क्षमता सृजित की गई है।  बैठक में अपर मुख्य सचिव श्रीमती राधा रतूड़ी, सचिव श्री अमित नेगी, श्री अरविन्द सिंह ह्यांकी, श्री सुशील कुमार, अपर सचिव, मुख्यमंत्री, डॉ.मेहरबान सिंह बिष्ट सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे। 

Leave A Comment