Breaking News:

5 अप्रैल को रात 9 बजे 9 मिनट के लिए अपने घरों में लाईट बंद कर दीपक जलाए : सीएम त्रिवेंद्र -

Saturday, April 4, 2020

लापता व्यक्ति का शव पाषाण देवी के मंदिर पास झील से बरामद हुआ -

Saturday, April 4, 2020

देहरादून : स्वयंसेवी संस्थाओं के सहयोग से 9482 भोजन पैकेट वितरित किये गये -

Saturday, April 4, 2020

उत्तराखंड में कोरोना पॉजिटिव मामलों की संख्या हुई 22 -

Saturday, April 4, 2020

सोशियल पॉलीगोन ग्रुप ऑफ कंपनी ने मुख्यमंत्री राहत कोष में 5 लाख का चेक दिया -

Saturday, April 4, 2020

लॉकडाउन : रचायी जा रही शादी पुलिस ने रुकवाई, 15 लोगों पर मुकदमा दर्ज -

Friday, April 3, 2020

उत्तराखंड : त्रिवेन्द्र सरकार ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए जारी किये 85 करोङ रूपए -

Friday, April 3, 2020

ऋषियों का मूल मंत्र ’तमसो मा ज्योतिर्गमय’ एक अद्भुत आइडियाः स्वामी चिदानन्द सरस्वती -

Friday, April 3, 2020

आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने किया रक्तदान -

Friday, April 3, 2020

कोरोना वॉरियर्स का सभी करे सहयोग : सीएम त्रिवेंद्र -

Friday, April 3, 2020

किन्नरों ने लोगों को भोजन, राशन वितरित किया -

Thursday, April 2, 2020

3 अप्रैल से बैंक सुबह 8 से अपरान्ह 1 बजे तक खुले रहेंगे -

Thursday, April 2, 2020

पहल : तीन बेटियों ने डेढ़ सौ परिवारों के पास घर-घर पहुंचाया खाने का सामान -

Thursday, April 2, 2020

हम सब उत्तराखंड पुलिस को सहयोग करे: दीपक सक्सेना -

Thursday, April 2, 2020

लोगों को अधिक से अधिक जागरूक किया जाए : सीएम त्रिवेन्द्र -

Thursday, April 2, 2020

डीडी उत्तराखंड का प्रसारण 24 घंटे का हुआ -

Wednesday, April 1, 2020

फेक न्यूज या गलत जानकारी देने पर प्रशासन द्वारा होगी कानूनी कार्रवाई -

Wednesday, April 1, 2020

लाकडाऊन के दौरान रखे संयम: पीआरएसआई देहरादून चैप्टर -

Wednesday, April 1, 2020

लॉकडाउन : डीएम के आदेश को रखा ठेंगे पर, जानिए खबर -

Wednesday, April 1, 2020

मुंबई की सड़कों पर खाना बाँटते नज़र आये अली फजल, जानिए कैसे -

Wednesday, April 1, 2020

जेईई मेन के अंक और रैंक में सुधार करने का दूसरा मौका, जानिए खबर

देहरादून । जेईई मेन में अच्छी रैंक पाने के इच्छुक उम्मीदवारों के पास पहले से बेहतर करने के लिए अब दूसरा मौका भी उपलब्ध है। 2019 से वर्ष में दो बार जेईई मेन परीक्षा आयोजित करने के एनटीई के निर्णय से, कई उम्मीदवारों को एक अतिरिक्त लाभ मिल रहा है। जो छात्र पहले प्रयास में चूक गए या जेईई एडवांस के लिए क्वालिफाई करने के लिए अपनी रैंकिंग में सुधार करना चाहते हैं, उनके लिए अपनी तैयारी में सुधार करने का यह बेहतर मौका है। पहली मेन परीक्षा के प्रयास को मॉक टेस्ट माना जाना चाहिए जो विस्तृत विश्लेषण और आगे की तैयारी के लिए कमजोर क्षेत्रों को जानने और समझने में सहायक साबित होगा। जेईई मेन का दूसरा सत्र 7 अप्रैल से आयोजित होने वाला है। पहला पेपर (बी.ई. ध् बी.टेक.) 8, 9, 10 और 12 अप्रैल, 2019 को होगा, और दूसरा पेपर (बी.आर्क. ध् बी. प्लानिंग) 7 अप्रैल, 2019 को आयोजित होगा। जेईई मेन 2019 के जनवरी या अप्रैल दोनों में हासिल अधिक अंकों पर जेईई मेन 2019 की मेरिट सूची तैयार करते समय विचार किया जाएगा। इस बार जेईई मेन 2019 के जनवरी और अप्रैल सत्र कंप्यूटर आधारित टेस्ट हैं। जेईई मेन 2019 में कट ऑफ को क्लीयर करने वाले छात्र 19 मई 2019 को जेईई एडवांस के लिए उपस्थित हो सकेंगे। जेईई मेन के पिछले कट ऑफ छात्रों के लिए महत्वपूर्ण साबित होंगे क्योंकि देश के सबसे प्रतिष्ठित परीक्षाओं में से एक को क्रैक करने की इच्छा रखने वाले छात्र इससे प्रेरित होते हैं। फिटजी के विशेषज्ञ रमेश बैटलिश ने कहा, ‘‘पहली मेन परीक्षा में षामिल होने वाले छात्रों को इसे एक मॉक टेस्ट के रूप में लेना चाहिए जो विस्तृत विश्लेषण और आगे की तैयारी के लिए कमजोर क्षेत्रों को जानने और समझने में सहायक साबित होगा। पिछले साल के पेपर की प्रवृत्ति को जानना छात्रों के लिए आसान और उपयोगी साबित होगा। परीक्षा को क्रैक करने के लिए समय का प्रबंधन करना, भौतिकी, रसायन विज्ञान और गणित प्रत्येक विषय में महत्वपूर्ण टॉपिक पर फोकस करना और परीक्षा के पैटर्न के बारे में जानकारी होना जैसे कुछ महत्वपूर्ण सुझाव लाभदायक साबित होंगे। जेईई मेन 2019 अप्रैल का परिणाम 30 अप्रैल (पहला पेपर) और 15 मई (दूसरा पेपर) को घोषित किया जाएगा। जेईई मेन 2019 का परिणाम एनआईटी, आईआईआईटी और जीएफटीआई में स्नातक कार्यक्रमों में प्रवेश के लिए गेटवे के रूप में भी काम करेगा।’’जेईई मेन 2019 के दूसरे सत्र में अपने अंकों में सुधार करने और बेहतर रैंक प्राप्त करने के लिए, छात्रों को प्रत्येक विषय यानी भौतिकी, रसायन विज्ञान और गणित में कम से कम 50-60 न्यूमेरिकल प्रति दिन हल करने की सलाह दी जाती है। हालांकि अच्छी संख्या में प्रॉब्लम को हल करना आवश्यक है, लेकिन इन्हें अवधारणा की स्पष्टता के साथ करना जरूरी है क्योंकि इससे अधिक सफलता हासिल होती है क्योंकि परीक्षा में एक निश्चित पैटर्न नहीं हो सकता है। हालांकि सवालों को हल करना अच्छा है, लेकिन अवधारणाओं को समझने पर अधिक ध्यान केंद्रित करें। जेईई को क्रैक करने के लिए क्रिटिकल थींकिग पर अधिक जोर देने के साथ-साथ विश्लेषणात्मक कौशल की अच्छी समझ और पकड़ की आवश्यकता होती है। इस प्रकार अवधारणा के अनुप्रयोग को भी समझना अत्यावश्यक है।

Leave A Comment