Breaking News:

बांगर पट्टी की महिला दो सप्ताह से लापता….. -

Thursday, June 20, 2019

एक बार फिर से पहाड़ में ई रिक्शा चढ़ने को तैयार -

Thursday, June 20, 2019

राज्य कैबिनेट बैठक : आरक्षण में अब पत्नी को भी मिलेगा लाभ -

Thursday, June 20, 2019

108 सेवा के पूर्व कर्मचारियों के धरने में पहुॅंचे पूर्व सीएम हरीश रावत -

Wednesday, June 19, 2019

मोटरसाईकल पर चारधाम यात्रा के लिए निकले विधायक देशराज -

Wednesday, June 19, 2019

आपदा की स्थिति में कम से कम हो रेस्पोंस टाइम-मुख्यमंत्री -

Wednesday, June 19, 2019

आर्थिक विकास में महिला कारोबारियों का विशिष्ट स्थान : प्रेमचंद -

Wednesday, June 19, 2019

आईएसबीटी का फ्लाईओवर फिर विवादों के घेरे में…. -

Wednesday, June 19, 2019

हाई प्रोफाइल शादी को हाईकोर्ट ने दी राहत -

Wednesday, June 19, 2019

दिव्यांग प्रतिभाओं का लोक कला प्रदर्शन 23 जून को दून में -

Tuesday, June 18, 2019

मोर्चा प्रतिनिधिमंडल अटल आयुष्मान योजना की खामियों को लेकर समिति को सौंपा ज्ञापन -

Tuesday, June 18, 2019

महाकुम्भ के लिए हरिद्वार में रेल सुविधाओं का हो विस्तार -

Tuesday, June 18, 2019

IND vs PAK: शोएब मलिक भड़के पाक मीडिया पर ,दिया करारा जवाब -

Tuesday, June 18, 2019

शादी छोड़कर ऐक्टर से मिलने पहुंची फैन -

Tuesday, June 18, 2019

मुजफ्फरपुर में मौतों का आंकड़ा बढ़ा ,107 बच्चों की मोत -

Tuesday, June 18, 2019

मौसम ने करवट बदली, हुई बारिश, ओले भी गिरे -

Monday, June 17, 2019

सोशल मीडिया ,भड़काउ पोस्ट और गए जेल, जानिए खबर -

Monday, June 17, 2019

दुर्घटना : सीआईएसएफ इंसपेक्टर समेत छह लोगों की मौत -

Monday, June 17, 2019

टिहरी के पर्यटन स्थल नागटिब्बा पहुँचे सीएम त्रिवेंद्र -

Monday, June 17, 2019

पांच हेक्टेयर तक वन भूमि हस्तांतरण का अधिकार राज्य को मिले : मुख्यमंत्री -

Monday, June 17, 2019

जेईई मेन के अंक और रैंक में सुधार करने का दूसरा मौका, जानिए खबर

देहरादून । जेईई मेन में अच्छी रैंक पाने के इच्छुक उम्मीदवारों के पास पहले से बेहतर करने के लिए अब दूसरा मौका भी उपलब्ध है। 2019 से वर्ष में दो बार जेईई मेन परीक्षा आयोजित करने के एनटीई के निर्णय से, कई उम्मीदवारों को एक अतिरिक्त लाभ मिल रहा है। जो छात्र पहले प्रयास में चूक गए या जेईई एडवांस के लिए क्वालिफाई करने के लिए अपनी रैंकिंग में सुधार करना चाहते हैं, उनके लिए अपनी तैयारी में सुधार करने का यह बेहतर मौका है। पहली मेन परीक्षा के प्रयास को मॉक टेस्ट माना जाना चाहिए जो विस्तृत विश्लेषण और आगे की तैयारी के लिए कमजोर क्षेत्रों को जानने और समझने में सहायक साबित होगा। जेईई मेन का दूसरा सत्र 7 अप्रैल से आयोजित होने वाला है। पहला पेपर (बी.ई. ध् बी.टेक.) 8, 9, 10 और 12 अप्रैल, 2019 को होगा, और दूसरा पेपर (बी.आर्क. ध् बी. प्लानिंग) 7 अप्रैल, 2019 को आयोजित होगा। जेईई मेन 2019 के जनवरी या अप्रैल दोनों में हासिल अधिक अंकों पर जेईई मेन 2019 की मेरिट सूची तैयार करते समय विचार किया जाएगा। इस बार जेईई मेन 2019 के जनवरी और अप्रैल सत्र कंप्यूटर आधारित टेस्ट हैं। जेईई मेन 2019 में कट ऑफ को क्लीयर करने वाले छात्र 19 मई 2019 को जेईई एडवांस के लिए उपस्थित हो सकेंगे। जेईई मेन के पिछले कट ऑफ छात्रों के लिए महत्वपूर्ण साबित होंगे क्योंकि देश के सबसे प्रतिष्ठित परीक्षाओं में से एक को क्रैक करने की इच्छा रखने वाले छात्र इससे प्रेरित होते हैं। फिटजी के विशेषज्ञ रमेश बैटलिश ने कहा, ‘‘पहली मेन परीक्षा में षामिल होने वाले छात्रों को इसे एक मॉक टेस्ट के रूप में लेना चाहिए जो विस्तृत विश्लेषण और आगे की तैयारी के लिए कमजोर क्षेत्रों को जानने और समझने में सहायक साबित होगा। पिछले साल के पेपर की प्रवृत्ति को जानना छात्रों के लिए आसान और उपयोगी साबित होगा। परीक्षा को क्रैक करने के लिए समय का प्रबंधन करना, भौतिकी, रसायन विज्ञान और गणित प्रत्येक विषय में महत्वपूर्ण टॉपिक पर फोकस करना और परीक्षा के पैटर्न के बारे में जानकारी होना जैसे कुछ महत्वपूर्ण सुझाव लाभदायक साबित होंगे। जेईई मेन 2019 अप्रैल का परिणाम 30 अप्रैल (पहला पेपर) और 15 मई (दूसरा पेपर) को घोषित किया जाएगा। जेईई मेन 2019 का परिणाम एनआईटी, आईआईआईटी और जीएफटीआई में स्नातक कार्यक्रमों में प्रवेश के लिए गेटवे के रूप में भी काम करेगा।’’जेईई मेन 2019 के दूसरे सत्र में अपने अंकों में सुधार करने और बेहतर रैंक प्राप्त करने के लिए, छात्रों को प्रत्येक विषय यानी भौतिकी, रसायन विज्ञान और गणित में कम से कम 50-60 न्यूमेरिकल प्रति दिन हल करने की सलाह दी जाती है। हालांकि अच्छी संख्या में प्रॉब्लम को हल करना आवश्यक है, लेकिन इन्हें अवधारणा की स्पष्टता के साथ करना जरूरी है क्योंकि इससे अधिक सफलता हासिल होती है क्योंकि परीक्षा में एक निश्चित पैटर्न नहीं हो सकता है। हालांकि सवालों को हल करना अच्छा है, लेकिन अवधारणाओं को समझने पर अधिक ध्यान केंद्रित करें। जेईई को क्रैक करने के लिए क्रिटिकल थींकिग पर अधिक जोर देने के साथ-साथ विश्लेषणात्मक कौशल की अच्छी समझ और पकड़ की आवश्यकता होती है। इस प्रकार अवधारणा के अनुप्रयोग को भी समझना अत्यावश्यक है।

Leave A Comment