Breaking News:

देहरादून : लिफाफे और मास्क निर्माण प्रशिक्षण कार्यशाला आयोजित हुई -

Saturday, August 8, 2020

उत्तराखंड : सीएम त्रिवेंद्र ने अधीनस्थ सेवा चयन आयोग भवन का किया लोकार्पण -

Saturday, August 8, 2020

देहरादून : एसएसपी ने किए 6 उप निरीक्षकों के तबादले -

Saturday, August 8, 2020

उत्तराखंड: आज इन जिलों में मिले अधिक कोरोना मरीज, जानिए खबर -

Friday, August 7, 2020

उत्तराखंड : हथकरघा और हस्तशिल्प उत्पादों को अमेजन के माध्यम से आनलाईन बिक्री का सीएम त्रिवेंद्र ने किया शुभारंभ -

Friday, August 7, 2020

भारत : देश मे कोरोना संक्रमित 20 लाख पार, जानिए खबर -

Friday, August 7, 2020

स्कूटी व बाइक चोर गिरोह गिरफ्तार, जानिए खबर -

Friday, August 7, 2020

एक बेहतर टीम का हाथ होता हैं किसी बड़े और पवित्र उद्देश्य की सफलता के पीछेः डीएम देहरादून -

Friday, August 7, 2020

अंतराष्ट्रीय अचीवरस अवार्ड से सम्मानित हुए विरेन्द्र सिंह रावत -

Friday, August 7, 2020

उत्तराखंड : कोरोना से मरने वालो की संख्या पहुँची सौ के पार, हरिद्वार में 71 और मरीज मिले -

Thursday, August 6, 2020

मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना की देख – रेख हेतु प्रकोष्ठ का गठन -

Thursday, August 6, 2020

उत्तराखंड: आज सात जिलों में मिले कोरोना के अधिक मामले , जानिए खबर -

Thursday, August 6, 2020

एक और अभिनेता के किया आत्महत्या, जानिए खबर -

Thursday, August 6, 2020

सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत अपने आवास में जलाए दिये, जानिए खबर -

Thursday, August 6, 2020

उत्तराखंड : 18 आईएएस समेत 19 अफसरों के दायित्वों में किया गया फेरबदल -

Thursday, August 6, 2020

सुना था कि भगवान होते हैं, लेकिन वेलमेड हॉस्पिटल में मुझे साक्षात दर्शन हुए … -

Thursday, August 6, 2020

उत्तराखंड: आज 246 नए कोरोना मरीज मिले , जानिए खबर -

Wednesday, August 5, 2020

कई वर्षों के संघर्ष के बाद आज यह स्वर्णिम अवसर आया : सीएम त्रिवेंद्र -

Wednesday, August 5, 2020

वर्षो बाद आज रच गया इतिहास, जानिए खबर -

Wednesday, August 5, 2020

सिविल सेवा परीक्षा परिणाम : रामनगर के शुभम अग्रवाल ने हासिल किए 43वीं रैंक -

Wednesday, August 5, 2020

जॉब छोड़ सब्जी की खेती कर रही यह लड़की, जानिए खबर

pehchan -shan

रायपुर | साइंस से एमटेक रही कॉलेज में असिस्टेंट प्रोफेसर रह चुकी 27 साल की वल्लरी चंद्राकर कम्प्यूटर जॉब छोड़कर 27 एकड़ जमीन पर खेती कर रही हैं। यही नहीं अपने खेत की सब्जियां दुबई और इजरायल को एक्सपोर्ट करने की तैयारी भी वल्लरी कर रही हैं। रायपुर से 88 किमी दूर बागबाहरा के सिर्री गांव की रहने वाली वल्लरी ने खेती की शुरुआत 2016 में की थी। वल्लरी के अनुसार यहां खेती में फायदा नजर आया तो नौकरी छोड़कर आ गई। शुरू में लोग लड़की समझकर मेरी बात को सीरियसली नहीं लेते थे। वल्लरी की सब्जियां दिल्ली, भोपाल, इंदौर, ओडिशा, नागपुर, बेंगलुरु तक जाती हैं। उनके खेत में अब तक करेला, खीरा, बरबटी, हरी मिर्च की खेती होती थी। लेकिन इस बार उन्हें टमाटर और लौकी का ऑर्डर मिला है। इनकी नई फसल 60-75 दिन में आएगी, जिसे दुबई और इजरायल तक एक्सपोर्ट करने की तैयारी है।उन्होंने खेती में टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल से मार्केट में जगह बनाई। वल्लरी के मुताबिक, “मैं नौकरी छोड़ खेती करने लगी तो लोगों ने मुझे पढ़ी-लिखी बेवकूफ कहा। घर में तीन पीढ़ी से किसी ने खेती नहीं की थी।

Comments
One Response to “जॉब छोड़ सब्जी की खेती कर रही यह लड़की, जानिए खबर”
  1. Sushil Kumar says:

    Very Nice wonderful your website congratulation good

Leave A Comment