Breaking News:

एमबीए की डिग्री, बेटा अमेरिका में इंजीनियर पर गलियों में मांग रही थी भीख ! -

Tuesday, November 21, 2017

सीएम से एडिशनल डायरेक्टर जनरल एन.सी.सी ने की मुलाक़ात -

Tuesday, November 21, 2017

सफारी वाहनों का संचालन होगा काॅर्बेट टाइगर रिजर्व कोटद्वार में -

Tuesday, November 21, 2017

एडीजी ने एसटीएफ की कार्यक्षमता बढ़ाने को लेकर दिए दिशा-निर्देश -

Tuesday, November 21, 2017

मत्स्य पालन में जागरूकता की कमी : सीएम -

Tuesday, November 21, 2017

जब अपहरणकर्ताओं पर भारी पड़ा 9 साल का बच्चा, जानिए खबर -

Monday, November 20, 2017

शशि थरूर के ट्वीट का जवाब कुछ इस तरह दिया मिस वर्ल्ड मानुषी छिल्लर, जानिए खबर -

Monday, November 20, 2017

नमामि गंगे को लेकर सीएम ने की अहम बैठक -

Monday, November 20, 2017

मित्र पुलिस की भूमिका साकार करे : पुलिस महानिदेशक -

Monday, November 20, 2017

राष्ट्र की विशालता और विविधता में एकता की परिचायक , जानिये खबर -

Monday, November 20, 2017

पत्नियों के हिंसा से बचने के लिए 6,646 पुरुषों ने डायल किया यूपी 100 -

Sunday, November 19, 2017

ट्विटर ने पाक मिनिस्ट्री का ट्विटर अकाउंट किया सस्पेंड -

Sunday, November 19, 2017

कई लड़कियों का हो रहा यौन उत्पीड़न : सनी लियोनी -

Sunday, November 19, 2017

१०८ देशो को पछाड़ कर भारत की मानुषी छिल्लर बनी मिस वर्ल्ड -

Saturday, November 18, 2017

केदारनाथ में बर्फबारी, पढ़े खबर… -

Saturday, November 18, 2017

स्वास्थ्य सुविधाओं को दुरूस्त करना सरकार की पहली प्राथमिकता : सीएम -

Saturday, November 18, 2017

दस करोड़ बार देखा गया यह गाना , जानिए खबर -

Friday, November 17, 2017

अजब गजब : लड़के ने मुर्गी के साथ किया यौन हिंसा, जानिए खबर -

Friday, November 17, 2017

रिस्पना के पुनर्जीवीकरण के लिए माया इंस्टीट्यूट देगा पांच लाख रु -

Friday, November 17, 2017

कल देखिए ‘जीटीएम काॅमेडी नाइट विद सुनील ग्रोवर‘ का कार्यक्रम -

Friday, November 17, 2017

जो वह न कर सके उसे पैरालंपिक खिलाड़ी मारियप्पन ने कर दिखाया

RIO-PARALYMPIC

एथलीट मारियप्पन थांगावेलु ने भारत के हाई जंप रियो में हो रहे पैरालंपिक खेलों में पुरुषों की हाई जंप टी-42 स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता है. 21 साल के मारियप्पन इसके साथ ही इस साल के पैरालंपिक खेलों में भारत की तरफ से मेडल जीतने वाले पहले एथलीट बन गए हैं. मारियप्पन का जन्म तमिलनाडु के सेलम से 50 किमी दूर स्थित एक गांव में हुआ था. उनकी मां घर चलाने के लिए सब्जी बेचती हैं. विदित हो की उनकी मां ने कुछ सालों पहले मारियप्पन के इलाज के लिए 3 लाख रुपये लोन लिया था, जिसे आज तक उसे लौटा नहीं सकी है. स्कूल में वो वॉलीबॉल खेलना पसंद करते थे. मारियप्पन के फिजिकल एजुकेशन के टीचर ने उन्हें हाई जंप के लिए प्रेरित किया. मारियप्न जब पांच साल के थे, उस समय स्कूल जाते वक्त उनका दायां पैर पहिए के नीचे आ गया था, जिसमें उनका घुटना कुचल गया था. 18 साल की उम्र में उनके कोच सत्यनारायण ने नेशनल पैरा-एथलेटिक्स चैंपियनशिप में इनकी प्रतिभा को पहचाना था. उसके बाद बंगलुरू में इन्होंने कड़ी मेहनत की. कड़ी मेहनत का ही नतीजा था कि साल 2015 में ये वर्ल्ड नम्बर 1 बन गएं. 14 साल की उम्र में इन्होंने अपनी पहली प्रतिस्पर्धा सक्षम एथलीट्स के साथ की थी

Leave A Comment