Breaking News:

घर में सुख-शांति बनाए रखना हो तो न रखें यह … -

Thursday, December 14, 2017

आज चुनाव मोदी की रवानगी बनी रोड शो, कांग्रेस भड़की -

Thursday, December 14, 2017

खादी मात्र कपड़ा ही नही बल्कि एक विचारधारा भी है : त्रिवेंद्र सिंह रावत -

Thursday, December 14, 2017

सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने दिव्यांग खिलाडियों का बढ़ाया हौसला -

Thursday, December 14, 2017

जड़ी-बूटी एवं चाय के कृषिकरण से रोका जाएगा पलायन -

Thursday, December 14, 2017

LPG उपभोक्ता यह जरूर जाने … -

Wednesday, December 13, 2017

अनशन आंदोलनकारियों को उठाये जाने के खिलाफ किया प्रदर्शन -

Wednesday, December 13, 2017

गैरसैंण जल्द बने राजधानी : दिवाकर भट्ट -

Wednesday, December 13, 2017

वित्त मंत्री ने योजनाओं के लिए मांगे 3435 करोड़ की धनराशि -

Wednesday, December 13, 2017

रिस्पना व कोसी नदी के पुनर्जीवीकरण का कार्य प्रारंभ : मुख्य सचिव -

Wednesday, December 13, 2017

आर्धिक तंगी से जूझ रही टेलिविजन जगत की कलाकार, जानिए खबर -

Tuesday, December 12, 2017

कुली से सुपरस्‍टार तक रजनीकांत, जानिए खबर -

Tuesday, December 12, 2017

केदारनाथ में जबरदस्त बर्फबारी -

Tuesday, December 12, 2017

जनसुनवाई दिवस में डीएम ने सुनी समस्याएं -

Tuesday, December 12, 2017

कैदियों को स्वालम्बी बनाने के लिये करनी होगी नई पहल : डीएम -

Tuesday, December 12, 2017

उत्तराखंड सरकार की हाईकोर्ट ने की तारीफ -

Monday, December 11, 2017

शादीशुदा जोड़ों का अनोखा शो ‘‘आपकी खूबसूरती उनकी नज़र से’’ -

Monday, December 11, 2017

जज्बा हो तो सब मुमकिन है, जानिये खबर -

Monday, December 11, 2017

जन क्रांति विकास मोर्चा ने ड्रग माफियाओं का फूंका पुतला -

Monday, December 11, 2017

गरीब बच्चो का हक न मारे रावत सरकार : आम आदमी पार्टी -

Monday, December 11, 2017

झारखंड के कतरास में 230 लोगों ने मांगी इच्छा मृत्यु , जानिए ख़बर

rail

कतरास | झारखंड के कतरास में एक ऐसी ख़बर आ रही है जो सभी को अचम्भित कर रहा है जी हां वहा के 230 लोगों ने राष्ट्रपति को खत लिखकर इच्छा मृत्यु की मांग की है. दरअसल, झारखंड में रेल मंत्रालय ने 15 जून 2017 को 34 किलोमीटर लंबी धनबाद- चंद्रपुर रेल लाइन को बंद कर दिया था. ये रेल लाइन 1894 से चल रही थी. इस रास्ते में रेल ट्रैक के नीचे कोयले की खदान में आग जल रही है और आगे भी आग का खतरा है यह दावा रेल मंत्रालय करता आ रहा है इस प्रभाव के कारण इलाके में काम ठप्प होने और जीवन यापन पर मार पड़ने के चलते 230 लोगों ऐसा खत लिखने को मजबूर हो गए हैं. यही नहीं यहां के स्थानीय निवासी एवं समाजसेवी राकेश रंजन यादव ने इस रेल लाइन बंद को लेकर भूख हड़ताल भी कर चुके है वही अन्य संगठनों द्वारा इसको लेकर विरोध प्रदर्शन भी किया गया | लेकिन फैसला जस का तस स्थिर है | जानकारी हो की यही एक रेल लाइन है जो इस इलाके को एक तरफ राजधानी रांची और दूसरी तरफ आदिवासी बहुल संथाल परगना को जोड़ती है. हाल में झारखंड कांग्रेस के प्रभारी आरपीएन सिंह से भी इन लोगों ने मुलाकात कर अपनी व्यथा बताई. इसके बाद आरपीएन सिंह ने इस पूरे मामले पर रेल मंत्री पीयूष गोयल को खत लिखकर रेल लाइन बन्द करने पर फिर से विचार करने को कहा है. आरपीएन ने खत में लिखा है कि, 26 जोड़ी ट्रेन रोजाना 3 लाख यात्रियों और 20 हज़ार टन कोयले को लाती ले जाती थी. कुल मिलाकर करीब 7 लाख लोग इससे सीधे तौर पर प्रभावित हैं.

Comments
3 Responses to “झारखंड के कतरास में 230 लोगों ने मांगी इच्छा मृत्यु , जानिए ख़बर”
  1. Abhishek sinha - छात्र नेता says:

    इच्छामृत्यु के अलावा और कोई चारा बचता ही कहाँ है ,, जब कतरास वासियों की लाइफ लाइन ही बंद है , लोगो का रोजगार ही छीन गया है तो क्या करेंगे जी के ।।

  2. RAKESH KUMAR saw says:

    Ache din ane wale or sari vikash Jane wali hai

  3. sumit gaur says:

    bhai ay sarkar kese ke sunai wali nhi ketna bhi kuch kar lo ay hitler ke sarkar hai apni apni chlatee hai

Leave A Comment