Breaking News:

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1043 -

Tuesday, June 2, 2020

उत्तराखंड : मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना में करें अब आनलाईन आवेदन -

Tuesday, June 2, 2020

10 वर्षीय आन्या ने अपने गुल्लक के पैसे देकर मजदूर का किया मदद -

Tuesday, June 2, 2020

उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या 999 हुई, 243 मरीज हुए ठीक -

Tuesday, June 2, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 958 -

Monday, June 1, 2020

उत्तराखंड : कोरोना मरीजो की संख्या 929 हुई, चम्पावत में 15 नए मामले मिले -

Monday, June 1, 2020

जागरूकता: तंबाकू छोड़ने की जागरूकता के लिए स्वयं तत्पर होना जरूरी -

Monday, June 1, 2020

मदद : गांव के छोटे बच्चों को पढ़ा रही भावना -

Monday, June 1, 2020

नही रहे मशहूर संगीतकार वाजिद खान -

Monday, June 1, 2020

नेक कार्य : जरूरतमन्दों के लिए हज़ारो मास्क बना चुकी है प्रवीण शर्मा -

Sunday, May 31, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या पहुँची 907, आज 158 कोरोना मरीज मिले -

Sunday, May 31, 2020

सोशल डिस्टन्सिंग के पालन से कोरोना जैसी बीमारी से बच सकते है : डाॅ अनिल चन्दोला -

Sunday, May 31, 2020

कोरोंना से बचे : उत्तराखंड में मरीजो की संख्या 802 हुई -

Sunday, May 31, 2020

उत्तराखंड : 1152 लोगों को दून से विशेष ट्रेन से बेतिया बिहार भेजा गया -

Sunday, May 31, 2020

पूर्व सीएम हरीश रावत ने किया जनता से संवाद, जानिए खबर -

Sunday, May 31, 2020

प्रदेश में खेती को व्यावसायिक सोच के साथ करने की आवश्यकताः सीएम त्रिवेंद्र -

Sunday, May 31, 2020

अनलॉक के रूप में लॉकडाउन , जानिए खबर -

Saturday, May 30, 2020

कोरोना का कोहराम : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 749 -

Saturday, May 30, 2020

रहा है भारतीय पत्रकारिता का अपना एक गौरवशाली इतिहास -

Saturday, May 30, 2020

पहचान : फ्री ऑन लाइन कोचिंग दे रहे फुटबाल कोच विरेन्द्र सिंह रावत, जानिए खबर -

Saturday, May 30, 2020

झील के पानी की गुणवत्ता समय-समय पर जांची जायः मंडलायुक्त

uk

नैनीताल। नैनी झील का पानी पेयजल के तौर पर शहर के वाशिन्दों के साथ ही आने वाले पर्यटकों द्वारा प्रयोग किया जाता है। शहर में पेयजल की आपूर्ति के लिए झील ही एकमात्र साधन है जिससें शहर व आप पास के क्षेत्रों को पेयजल आपूर्ति की जा रही है। झील के पानी की गुणवत्ता समय-समय पर जाॅची जाये। यह बात आयुक्त कुमायू मण्डल राजीव रौतेला ने झील विकास कार्यों की समीक्षा के दौरान कही। उन्होंने कहा कि लोगों को शुद्ध एवं गुणवत्तायुक्त पेयजल की आपूर्ति करना हमारा दायित्व है। इस काम के लिए जल संस्थान और सिंचाई विभाग दोनों संयुक्त रूप से समय-समय पर नैनी झील के पानी का नमूना लेकर आधुनिकतम प्रयोगशालाओं से उनकी जाॅच कराये। उन्होंने महाप्रबन्धक जल संस्थान डीके मिश्रा को निर्देश दिये कि वह सिंचाई विभाग के साथ समन्वय कर झील के पानी के नमूने लें। उन्होंने हिदायत दी कि झील में आने वाले नाले जहाॅ-जहाॅ झील में प्रवेश कर रहे हैं, उन स्थानों के साथ ही झील के मध्य व अन्य कोनो के पानी के सम्पल लिए जाये। आयुक्त ने जिलाधिकारी विनोद कुमार सुमन से कहा कि नैनी झील की सफाई के लिए झील के पास सीवर ट्रीटमेन्ट प्लांट (एसटीपी) लगाये जाने की जुरूरत है इसके लिए आईआईटी रूड़की ने भी अपनी रिपोर्ट में उल्लेख किया है। उन्होंने जिलाधिकारी से कहा कि वह एसटीपी निर्माण के लिए विशेषज्ञों के मार्ग दर्शन में एक कार्य योजना तैयार करें ताकि एसटीपी स्थापना की दिशा में कार्यवाही की जा सके। गौरतलब है कि वर्तमान में रूसी बाईपास पर एसटीपी कार्यरत है। आयुक्त द्वारा अधिकारियों के साथ लोअर माल रोड की मरम्मत कार्यों की समीक्षा करते हुए अधिशासी अभियन्ता चन्दन सिंह नेगी से कहा कि नन्दा देवी महोत्सव आयोजन का समय नज़दीक आता जा रहा है, ऐसे में लोअर माल रोड पर मरम्मत का कार्य युद्ध स्तर पर किया जाये ताकि माॅ नन्दा के डोले को परम्परागत तौर पर लोअर माल रोड से गुजारा जा सके। उन्होंने जिलाधिकारी से कहा कि डोला विसर्जन के समय लोअर माल रोड पर श्रद्धालुओं को ही अनुमति दी जाये। लोअर माल रोड की नाजुक स्थिति को ध्यान में रखते हुए डोले के साथ गुजरने वाले वाहनों को एहतियात के तौर पर अपर माल रोड से गुजारा जाये। इसके लिए प्रशासन को चाहिए कि मेला आयोजकों से वार्ता कर निर्णय लिया जाये। उन्होंने कहा कि मेले में जो भी दुकाने झूले व अन्य भारी सामान लगाया जा रहा है उसका ट्रान्सपोर्टेशन अपर माल रोड से न किया जाये। मेला प्रारम्भ होने और उसके बाद झूले व मेले का अन्य सामान कालाढुंगी रोड से वापस भेजा जाये। आयुक्त ने जिलाधिकारी श्री सुमन से कहा कि नैनी झील का स्तर काफी संतोष जनक है, झील लबालब भरी हुई है, झील के पानी का डिस्चार्ज किया जा रहा है। पानी डिस्चार्ज करने के स्थान पर शहरवासियों एवं श्रद्धालुओ के लिए पेयजल उलब्धता के लिए पेयजल आपूर्ति के समय को बढ़ाने के लिए प्रशासन विचार कर ले ताकि मेला अवधि में पेयजल की कोई दिक्कत न रहे। बैठक में अपर जिलाधिकारी हरबीर सिंह, अधिशासी अभियन्ता लोनिवि सीएस नेगी, सहायक अभियन्ता डीएस बिष्ट, एमएम जोशी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Leave A Comment