Breaking News:

उत्तराखण्ड : सीएम ने प्रयोगशाला काॅम्पलेक्स का किया उद्घाटन -

Thursday, May 24, 2018

विराट कोहली ने मोदी को दिया फिटनेस चैलेंज, पीएम ने किया स्वीकार -

Thursday, May 24, 2018

फिल्म एप्रिसिएशन कोर्स हेतु आवेदन की तिथि हुई 30 मई, जानिए ख़बर -

Thursday, May 24, 2018

डोनाल्ड ट्रंप ने किम से होने वाली मुलाकात रद्द की जानिए ख़बर -

Thursday, May 24, 2018

सीएम त्रिवेंद्र ने उच्च स्तरीय कमेटी गठित करने के निर्देश दिए, जानिए खबर -

Thursday, May 24, 2018

फिल्म ‘स्टूडेंटऑफ द इयर 2’ का पहला पोस्टर रिलीज़ -

Thursday, May 24, 2018

एक साथ दो महिलाओं से शादी जानिए ख़बर -

Thursday, May 24, 2018

अगर तैयारी पूरी थी तो परिणाम क्यों नहीं, जानिए खबर -

Wednesday, May 23, 2018

देश मे तापमान 40 डिग्री के पार, उत्तराखण्ड में अलर्ट -

Wednesday, May 23, 2018

स्वरोजगार से लगेगा पलायन पर अंकुश : मुख्यमंत्री -

Wednesday, May 23, 2018

दिल्ली सरकार ने 575 निजी स्कूलों को दिया बढ़ी फीस वापस करने का आदेश -

Wednesday, May 23, 2018

पीएम द्वारा चारधाम महामार्ग विकास परियोजना के प्रगति की सराहना, जानिए ख़बर -

Wednesday, May 23, 2018

कुमारस्वामी बने कर्नाटक के सीएम, विपक्षी ने दिखाई एकता -

Wednesday, May 23, 2018

उत्तराखण्ड में होगी टी.वी. सीरियल स्पिलिट विला सीजन 11 की शूटिंग जानिए ख़बर -

Tuesday, May 22, 2018

कुमारस्वामी कल लेंगे मुख्यमंत्री पद की शपथ -

Tuesday, May 22, 2018

हाईकोर्ट ने एकलपीठ के आदेश को किया रद्द, निकाय चुनाव कराने का रास्ता साफ -

Tuesday, May 22, 2018

फिल्म ‘सूरमा’ का नया पोस्टर रिलीज, फिल्म 13 जुलाई को होगी रिलीज -

Tuesday, May 22, 2018

एसबीआई का घाटा 7718 करोड़ पर पहुंचा जानिए ख़बर -

Tuesday, May 22, 2018

सीएम त्रिवेंद्र ने केदारनाथ धाम में 10 बैड के अस्पताल का किया उद्घाटन -

Monday, May 21, 2018

शराब दुकानों के आवंटन में करोड़ो का खेल : विकेश सिंह नेगी -

Monday, May 21, 2018

झूठी वीडियो पर कोर्ट ने लगाई रोक, जानिए खबर

aata

देहरादून। भारत के नंबर 1 पैकेज वाले आटा ब्रांड आशीर्वाद आटा में प्लास्टिक के आरोपों को बनाने, प्रसारण और इन का संचार करने वाले वीडियो पर न्यायालय के आदेश में प्रतिवादियों को प्रतिबंध लगाने का आदेश दिया है। आशिर्वाद आटा जो देश में पैक किए हुए आटे का नंबर 1 ब्रांड है, इस पर इंटरनेट प्लेटफार्मों पर दुर्भावनापूर्ण वीडियो सामने आ रहे थे जिन में यह आरोप लगाया जा रहा है कि आटे में प्लास्टिक मिला हुआ है। इन वीडियो में दावा किया गया है कि यदि ‘आशिर्वाद आटे’ से बने पेड़ों को कई बार धोया जाए तो इससे गम जैसा पदार्थ बन जाता है, जिस में प्लास्टिक होने का संदेह था। इन विडियोज में जिसे ‘प्लास्टिक’ का रूप दिया जा रहा है वास्तव में वह एक गेहूं प्रोटीन (जिसे ग्लूटेन के रूप में भी जाना जाता है) है जो आटे को एक साथ बांधता है और आटा गूंधने के बाद आटे को लचीला बनाता है। उक्त वीडियो को, आशिर्वाद आटे के उपयोग और उपभोग के बारे में आम लोगों के बीच भ्रम और झूठे आरोप पैदा करने और ‘आशिर्वाद’ ब्रांड की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुँचाने के इरादे से बनाया और प्रसारित किया गया है। यहां तक कि खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियम, 2006 के तहत एफसीसीआई नियमों की यह आवश्यकता है कि आटे में न्यूनतम 6 प्रतिशत गेहूं प्रोटीन(ग्लूटेन) होना चाहिए। प्रतिष्ठित ब्रांड के खिलाफ किए गए आधारहीन आरोपों पर ध्यान देते हुए, कंपनी ने पहले ही खबर समय के मालिक और उनके अज्ञात सहयोगियों, जिन्हें इन वीडियो के पीछे माना जाता है, के खिलाफ कोलकाता में एक पुलिस शिकायत दायर की थी। इसके अलावा, कंपनी ने खबर समय के मालिक संजय शर्मा और अन्य लोगों के विरुद्ध, वीडियो के खिलाफ और प्रतिष्ठा के नुकसान के लिए बेंगलुरु के सिटी सिविल एंड सेशन जज के न्यायालय में याचिका दायर की है। मामले की सुनवाई पर, कोर्ट ने 16.12.2017 को प्रतिवादियों, जिसमें इंटरनेटध्सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म प्रदाता, जैसे गूगल, यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर शामिल हैं, को ऐसे विडियो के प्रकाशन, प्रसारण, संचार या ऐसे वीडियो को उपलब्ध करवाने या ऐसे विडियो को किसी भी तरह से सार्वजनिक देखने के लिए उपलब्ध करवाने या जारी रखने से प्रबंधित कर दिया है। कोर्ट ने इंटरनेट, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म प्रदाताओं को सूट में समन्स भी जारी किए हैं। प्रयोगशाला की रिपोर्ट ने यह भी पुष्टि की, कि जब आटे को पानी, स्टार्च और फाइबर से धोया जाता है और एक अवशेष प्राप्त होता है जो लस (ग्लूटेन) है और प्लास्टिक नहीं है। विश्व स्तरीय एफएमसीजी ब्रांड बनाने की अपनी प्रतिबद्धता के अनुरूप, भारत में अपना मूल्य बनाता, उसे ग्रहण करता और उसे बनाए रखता है, आईटीसी लिमिटेड ने उपभोक्ता के हित को हमेशा आगे रखा है। 6500 से अधिक चयन केंद्रों से सावधानीपूर्वक सोर्सिंग, वर्ष में दो बार 410 से अधिक परीक्षण, आईएसओ 22000 प्रमाणीकरण वाले कारखानों में उत्पादन, के साथ, आईटीसी यह सुनिश्चित करता है कि सभी आईटीसी के उत्पादों की तरह आशिर्वाद आटा, विनिर्माण प्रक्रियाओं और आपूर्ति श्रृंखला में उच्चतम स्तर की शुद्धता, गुणवत्ता, सुरक्षा और स्वच्छता मानकों का अनुपालन करता है।

Leave A Comment