Breaking News:

5 अप्रैल को रात 9 बजे 9 मिनट के लिए अपने घरों में लाईट बंद कर दीपक जलाए : सीएम त्रिवेंद्र -

Saturday, April 4, 2020

लापता व्यक्ति का शव पाषाण देवी के मंदिर पास झील से बरामद हुआ -

Saturday, April 4, 2020

देहरादून : स्वयंसेवी संस्थाओं के सहयोग से 9482 भोजन पैकेट वितरित किये गये -

Saturday, April 4, 2020

उत्तराखंड में कोरोना पॉजिटिव मामलों की संख्या हुई 22 -

Saturday, April 4, 2020

सोशियल पॉलीगोन ग्रुप ऑफ कंपनी ने मुख्यमंत्री राहत कोष में 5 लाख का चेक दिया -

Saturday, April 4, 2020

लॉकडाउन : रचायी जा रही शादी पुलिस ने रुकवाई, 15 लोगों पर मुकदमा दर्ज -

Friday, April 3, 2020

उत्तराखंड : त्रिवेन्द्र सरकार ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए जारी किये 85 करोङ रूपए -

Friday, April 3, 2020

ऋषियों का मूल मंत्र ’तमसो मा ज्योतिर्गमय’ एक अद्भुत आइडियाः स्वामी चिदानन्द सरस्वती -

Friday, April 3, 2020

आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने किया रक्तदान -

Friday, April 3, 2020

कोरोना वॉरियर्स का सभी करे सहयोग : सीएम त्रिवेंद्र -

Friday, April 3, 2020

किन्नरों ने लोगों को भोजन, राशन वितरित किया -

Thursday, April 2, 2020

3 अप्रैल से बैंक सुबह 8 से अपरान्ह 1 बजे तक खुले रहेंगे -

Thursday, April 2, 2020

पहल : तीन बेटियों ने डेढ़ सौ परिवारों के पास घर-घर पहुंचाया खाने का सामान -

Thursday, April 2, 2020

हम सब उत्तराखंड पुलिस को सहयोग करे: दीपक सक्सेना -

Thursday, April 2, 2020

लोगों को अधिक से अधिक जागरूक किया जाए : सीएम त्रिवेन्द्र -

Thursday, April 2, 2020

डीडी उत्तराखंड का प्रसारण 24 घंटे का हुआ -

Wednesday, April 1, 2020

फेक न्यूज या गलत जानकारी देने पर प्रशासन द्वारा होगी कानूनी कार्रवाई -

Wednesday, April 1, 2020

लाकडाऊन के दौरान रखे संयम: पीआरएसआई देहरादून चैप्टर -

Wednesday, April 1, 2020

लॉकडाउन : डीएम के आदेश को रखा ठेंगे पर, जानिए खबर -

Wednesday, April 1, 2020

मुंबई की सड़कों पर खाना बाँटते नज़र आये अली फजल, जानिए कैसे -

Wednesday, April 1, 2020

डीएम लेंगी पुलवामा हमले में शहीद हुए जवानों के परिवार को गोद

शेखपुरा | पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले में हुए आत्मघाती हमले में 40 जवान शहीद हो गए थे। जिसमे से बिहार के दो जवान- हेड कॉन्स्टेबल संजय कुमार सिन्हा और रतन कुमार ठाकुर पुलवामा भी हमले में शहीद हो गए थे। बिहार के शेखपुरा जिले की जिलाधिकारी इनायत खान ने दोनों शहीदों के परिवार की मदद के लिए एक फैसला किया है। उन्होंने दोनों शहीद में से एक के परिवार को गोद लेने की इच्छा जताई है। इसके अलावा उन्होंने दोनों परिवारों की मदद के लिए खाता खोलने के आदेश भी दिए हैं। इसके जरिए शहीदों के परिवार के लिए फंड इकट्ठा किया जाएगा। उन्होंने बताया कि 10 मार्च तक जितनी भी राशि इकट्ठा की जाएगी उसे बराबर-बराबर बांटकर दोनों शहीदों के परिजनों को सौंप दी जाएगी। इस घटना के बाद से केंद्र और राज्य की सरकारों की तरफ से शहीदों के परिवार को मदद भेजी जा रही है। यही नहीं आम जनता भी शहीदों के परिजनों लिए फंड इकट्ठा करने में मदद दे रही है और अब प्रशासनिक अधिकारी भी इस नेक काम के लिए आगे आ रहे हैं। पुलवामा हमले में शहीद होने वाले हेड कॉन्स्टेबल संजय कुमार सिन्हा बिहार के पटना में रारगढ़ गांव के रहने वाले थे। जबकि रतन कुमार ठाकुर वह बिहार के भागलपुर के रतनपुर गांव के रहने वाले थे। उनके पिता रामनिरंजन ठाकुर ने कहा था कि वह अपने दूसरे बेटे को भी देश की सेवा और कुर्बानी देने के लिए तैयार रहने को सेना में भेजेंगे लेकिन पाकिस्तान को करारा जवाब मिलना चाहिए।

Leave A Comment