Breaking News:

डीएम मंगेश घिल्डियाल राइंका खेड़ाखाल में जाकर बच्चों को पढ़ाया -

Friday, September 21, 2018

Asia Cup 2018: भारत-पाकिस्तान के बीच फिर होगा मुकाबला, जानिए खबर -

Friday, September 21, 2018

इस साल दो पीढ़ियों ने एक साथ बनाया गणेशोत्सव और मुहर्रम -

Friday, September 21, 2018

निवेशकों की पहली पसंद बन रहा है उत्तराखण्ड -

Thursday, September 20, 2018

गोविंदा इस ऐक्टर को मानते है सबसे मेहनती, जानिए खबर -

Thursday, September 20, 2018

हार्दिक पंड्या चोटिल, स्ट्रेचर पर मैदान से बाहर ले जाए गए -

Thursday, September 20, 2018

उत्तराखंड : 22 सितम्बर को ‘रेलवे स्वच्छता दिवस’ -

Thursday, September 20, 2018

बाजार में नकली हेलमेटों की बाढ़ -

Thursday, September 20, 2018

दून में आयोजित करेंगी जुड़वा पर्वतारोही बहनें नुंग्शी व ताशी बेस कैंप फेस्टिवल आॅफ इंडिया -

Thursday, September 20, 2018

विधानसभा में गाय को राष्ट्रमाता घोषित करने के अनुरोध का संकल्प पारित -

Wednesday, September 19, 2018

पाकिस्तान से क्रिकेट पर शर्तों के साथ प्रतिबंध नहीं होना चहिए -

Wednesday, September 19, 2018

2500 बच्चियों को शिक्षा के लिए 90 दिन में तय करेंगे 6 हजार किमी -

Wednesday, September 19, 2018

‘मेंटल है क्या’ की राइटर का खुलासा, जानिए खबर -

Wednesday, September 19, 2018

फर्जी प्रमाणपत्रों के जरिए फर्जी तरीके से नौकरी कर रहे हैं कई लोगः चौहान -

Wednesday, September 19, 2018

हर मुद्दे पर विधानसभा में चर्चा को तैयार सरकार : सीएम -

Wednesday, September 19, 2018

भारतीय सेना में चयनित लेफ्टिनेंट मालविका रावत को सीएम त्रिवेंद्र ने किया सम्मानित -

Wednesday, September 19, 2018

उत्तराखंड विधानसभा सत्र : अनेक मुद्दों पर हुई चर्चा -

Tuesday, September 18, 2018

26 सालों से मंदिर की देखभाल कर रहे हैं मुसलमान -

Tuesday, September 18, 2018

हर बाधाओं को पार कर हमारे खिलाड़ियों ने पायी सफल -

Tuesday, September 18, 2018

अनुष्का शर्मा ने खोला वरुण धवन का राज! -

Tuesday, September 18, 2018

तभी शायद ‘‘ऊँ‘‘ का भाव सार्थक हो सकेगा…..

om

 

“जीवन की पुकार’’(मन की बात)
कल का दिन देश के इतिहास में,नये भारत की राह में,विश्व गुरू/जगद्गुरू बनने की राह में एक महत्तवपूर्ण टर्निंग प्वाइंट,तीन तलाक के खिलाफ लोकसभा में विधेयक पारित होना,इस चीज को यदि हम धर्म विशेष(मुस्लिम धर्म) तक सीमित रखे तो सम्भवतः कुछ कमी रह जायेगी,व्यापक रुप से इस चीज को यदि हम जीवन धर्म तक ले जाएं तो सम्भवतः हमें व हमारे देश को वह स्थान मिल जायेगा,जिसकी हम कल्पना करते हैं। पंच महाभूत/पंच तत्वों में से प्रथम तत्व पृथ्वी जो धारण करती है जीवन को तथ्रत्रा जीवन के पुरुषार्थ/लक्ष्य जिसमें प्रथम चीज ,धर्म(धर्म,अर्थ,काम और मोक्ष में से) इन दोनों प्रथम चीजों (धरती और धर्म) के विषय में हम सोच चुके हैं,मातृ शक्ति/नारी शक्ति को स्थायित्व मिले तो निश्चित ही धरती तत्व को भी स्थिरता मिलेगी,परिणाम स्वरुप जीवन में भी यह चीज लक्षित होगी। एक तरफ धर्म निरपेक्षता,जिस पर चल कर आज हम यहां तक पहुंच गये हैं न्यायालय भी यह कह चुका है कि हिंदुत्व जीवन जीने का तरीका है,पद्धति है, तो क्यों न हम हिन्दुत्व शब्द को ‘‘जीवनत्व‘‘ में परिवर्तित कर दें, और जीवन भी न केवल मनुष्यों का वरन, समस्त पशु-पक्षी, जीव-जन्तु, वृक्ष-वनस्पति यहां तक कि समग्र जड उर्जा जिसमें धरती, वायुु, जल, अग्नि तथा आकाश सम्मिलित हों, तभी शायद ‘‘ऊँ‘‘ का भाव सार्थक हो सकेगा, इन सभी बातों को यदि ‘‘बूंद में सागर‘‘ की तहत कहें तो अभी तक हम धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष को जीवन के पुरूषार्थ/ लक्ष्य मान कर आए हैं, क्यों न अब हम इन चीजों को जीनव की कलायें मान कर चलें, तो सम्भवतः जीवन की स्थिति कुछ और हो।

 

vinod kumar 'jivan ki pukar''

– विनोद कुमार ‘‘जीवन की पुकार”

क्लेमेंटाउन देहरादून

Leave A Comment