Breaking News:

बुजुर्गो से ठगी करने वाला गिरफ्तार , जानिए खबर -

Tuesday, November 12, 2019

फीस वृद्धि के खिलाफ आयुष छात्रों का आंदोलन जारी -

Tuesday, November 12, 2019

धूमधाम से मनाया गया 550वां प्रकाशोत्सव -

Tuesday, November 12, 2019

पिथौरागढ़ में भूकंप के झटके, जानिए खबर -

Tuesday, November 12, 2019

बचपन की कुछ बातें और उनसे जुडी कुछ यादें….. -

Tuesday, November 12, 2019

प्रकाशपर्व: मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने मत्था टेक प्रदेश की खुशहाली की कामना की -

Tuesday, November 12, 2019

उत्तराखण्ड: सीएम को फोन पर धमकी देने वाला आरोपी गिरफ्तार -

Monday, November 11, 2019

छात्रो ने फैशन शो में पेश किया नया क्लेक्शन -

Monday, November 11, 2019

पौड़ी के विकास में सीता माता सर्किट होगा मील का पत्थर साबित : सीएम -

Monday, November 11, 2019

सिन्मिट कम्युनिकेशन्स द्वारा मिस टैलेंटेड का आयोजन -

Monday, November 11, 2019

सीएम त्रिवेंद्र 550वें प्रकाश उत्सव एवं कार्तिक पूर्णिमा पर प्रदेशवासियों को दी शुभकामनाएं -

Monday, November 11, 2019

शहर के इस हालात पर अवैध टैक्सी स्टैंड जिम्मेदार, जानिए खबर -

Sunday, November 10, 2019

एक दिसम्बर को केंद्रीय कूर्मांचल परिषद का द्विवार्षिक चुनाव -

Sunday, November 10, 2019

सीएम त्रिवेंद्र ने फिल्म “शुभ निकाह” का मुहूर्त शॉट लिया -

Sunday, November 10, 2019

पौड़ी सांसद तीरथ सिंह रावत घायल, ऋषिकेश एम्स में भर्ती -

Sunday, November 10, 2019

डीएम सविन बंसल की एक पहलः स्कूूली बच्चों को सिखा रहे चित्रकारी -

Sunday, November 10, 2019

रास्ते में पड़े सिंगल यूज प्लास्टिक को भी उठाएं: सीएम त्रिवेंद्र -

Sunday, November 10, 2019

IPL-2020 : तीन नए शहर होगे सकते है शामिल , जानिए खबर -

Saturday, November 9, 2019

उत्तराखंड सैन्यधाम और विद्याधाम भी : रक्षामंत्री राजनाथ सिंह -

Saturday, November 9, 2019

आयुष्मान की सबसे बड़ी ओपनर बनी ‘बाला’, जानिए खबर -

Saturday, November 9, 2019

तीन माह में 4257 बार सांसदों का मुफ्त यात्रा : रोडवेज मुख्यालय

रोडवेज मुख्यालय ने पकड़ी हेराफेरी, 90 दिन में 4257 बार सांसदों ने की मुफ्त यात्रा, लेकिन हैरानी वाली बात यह है कि सूबे में महज पांच लोकसभा और तीन राज्यसभा सांसद हैं, महंगी लग्जरी गाड़ियां होने के बावजूद इन आठों ने तीन माह में 660 बार रोडवेज की हल्द्वानी डिपो की बसों में मुफ्त यात्रा की। इतना ही नहीं इन आठों ने इसी अवधि में पर्वतीय डिपो की बसों में 366 बार, रुद्रपुर डिपो की बसों में 302 बार, पिथौरागढ़ की बसों में 288 बार, हरिद्वार के दो डिपो की बसों में 300 बार मुफ्त यात्रा की। मामला यहीं शांत नहीं होता, इन्हीं आठ सांसदों ने भवाली डिपो में 124, ग्रामीण में 177, काशीपुर में 111, काठगोदाम के दो डिपो में 376 बार मुफ्त यात्रा का सुख लिया। रोडवेज परिचालकों ने फर्जी टिकट बनाने की पराकाष्ठा में न तो सांसदों की संख्या पर गौर किया, न यात्रा दिनों की। रोडवेज की विशेष श्रेणी में चल रही मुफ्त यात्रा आजकल सवालों के घेरे में है। खुद रोडवेज मुख्यालय ने डिपो से आए आंकड़ों में हेराफेरी पकड़ी है। इनमें तीन श्रेणी की यात्रा संदिग्ध है। सांसदों के साथ ही विधायकों व पूर्व विधायकों द्वारा की गई यात्रएं इनमें शामिल हैं। रोडवेज मुख्यालय ने इसकी जांच शुरू कर दी है। रोडवेज के एक जनवरी 2018 से 31 मार्च तक के आंकड़े तो यही बता रहे हैं। आंकड़ों के अनुसार टनकपुर डिपो में 365 बार और देहरादून जेएनएनयूआरएम डिपो में 129 बार मुफ्त यात्रा सांसदों ने की है। कुल मिलाकर 90 दिन में आठ सांसदों ने 4257 बार मुफ्त यात्रा की। यह आंकड़े न किसी को हजम हो रहे हैं, न व्यवहारिक तौर पर फिट बैठ रहे हैं। रोडवेज बस में विशेष श्रेणी में कौन यात्रा कर रहा, इसकी सत्यता जांचने का कोई भी मापदंड रोडवेज प्रबंधन के पास नहीं है। जनकल्याणकारी योजनाओं के नाम पर इस समय उत्तराखंड रोडवेज में 15 श्रेणियों में मुफ्त यात्रा का प्रावधान है। सर्वाधिक मुफ्त यात्रा छात्राओं-वरिष्ठजनों की है, लेकिन गड़बड़ी हो रही सांसद एवं विधायक श्रेणी में। सांसद व विधायक खुद तो यात्रा करते नहीं, लेकिन चर्चाएं है कि उनके प्रतिनिधियों के द्वारा कईं दफा नियम विरुद्ध जरूर मुफ्त यात्रा का आनंद लिया जा रहा। रोडवेज प्रबंधन को संदेह है कि सांसद, विधायक और पूर्व विधायक की श्रेणी की आड़ में परिचालकों ने बेटिकट यात्रा को बढ़ावा दिया। यात्रियों से किराया वसूलकर उनका टिकट विशेष श्रेणी का बना दिया। ऐसे परिचालकों को चिह्नित किया जा रहा है।

Leave A Comment