Breaking News:

अमिताभ बच्चन के बाद अभिषेक बच्चन की जाँच में भी कोरोना पॉजिटिव मिला -

Sunday, July 12, 2020

अमिताभ बच्चन को हुआ कोरोना, अस्पताल में भर्ती -

Saturday, July 11, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3417, आज कुल 45 नए मरीज मिले -

Saturday, July 11, 2020

रिकवरी रेट में उत्तराखण्ड देश में लद्दाख के बाद दूसरे नम्बर पर -

Saturday, July 11, 2020

पांच वर्ष एक झटके में निकल गए : शाहिद कपूर -

Saturday, July 11, 2020

आखिर क्यों मैदान में खिलाड़ी, अंपायर घुटने के बल बैठे, जानिए खबर -

Saturday, July 11, 2020

अमेरिका विश्व स्वास्थ्य संगठन से हुआ अलग, जानिए क्यों -

Saturday, July 11, 2020

प्रत्येक व्यक्ति को अपनी सुविधा और कौशल के अनुसार व्यवसाय चयन करने का रोजगार प्रदान करने का अवसर : मदन कौशिक -

Friday, July 10, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3373, आज कुल 68 नए मरीज मिले -

Friday, July 10, 2020

विकास दुबे पुलिस मुठभेड़ में ढेर, जानिए खबर -

Friday, July 10, 2020

उत्तरांचल पंजाबी महासभा द्वारा कोमल वोहरा को महानगर महिला मोर्चा का अध्यक्ष चुना गया -

Friday, July 10, 2020

देहरादून : सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने व मास्क ना पहनने पर 21 लोगों का चालान -

Friday, July 10, 2020

जरा हटके : 300 वर्ष पुरानी वोगनबेलिया की बेल पेड़ सहित टूटी -

Friday, July 10, 2020

उत्तरांचल पंजाबी महासभा के प्रतिनिधिमंडल ने भेंट की फेस मास्क व फेस शील्ड -

Thursday, July 9, 2020

उत्तराखंड : विश्वविद्यालय स्तर पर अन्तिम वर्ष एवं अन्तिम सेमेस्टर की परीक्षायें 24 अगस्त से 25 सितम्बर -

Thursday, July 9, 2020

गफूर बस्ती के लोगों के उत्पीड़न पर अन्य पिछड़ा वर्ग आयोग सख्त, जानिए खबर -

Thursday, July 9, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3305, आज कुल 47 नए मरीज मिले -

Thursday, July 9, 2020

प्रधानमंत्री द्वारा ‘वोकल फाॅर लोकल एंड मेक इट ग्लोबल’ के लिए किए गए आह्वान को सभी देशवासियों का मिला समर्थन : सीएम त्रिवेंद्र -

Thursday, July 9, 2020

‘देसी गर्ल’ फिर नज़र आएगी हॉलीवुड फ़िल्म में , जानिए खबर -

Thursday, July 9, 2020

कानपुर का मुख्य आरोपी विकास दुबे उज्जैन से गिरफ्तार, जानिए खबर -

Thursday, July 9, 2020

‘तीन मूर्ति’ भवन के नाम का इतिहास

teen-murti-bhavan

दिल्ली में तीन मूर्ति भवन स्थित है, जो कभी पंडित नेहरु का सरकारी आवास था, जो आज नेहरु स्मारक संग्रहालय के नाम से जाना जाता है। उसके समक्ष गोलचक्कर पर तीन मूर्तियां है, उनका भारत और इजरायल के इतिहास से बहुत ही गहरा संबंध है। प्रथम विश्वयुद्ध के समय, भारत के तीन रियासत मैसूर, जोधपुर और हैदराबाद के सैनिकों को अंग्रेजों की ओर से युद्ध के लिए तुर्की भेजा गया। हैदराबाद रियासत के सैनिक मुस्लिम थे, इसलिए अंग्रेजों ने उन्हें तुर्की के खलीफा के विरुद्ध युद्ध में हिस्सा लेने से रोक दिया और केवल जोधपुर व मैसूर के रणबांकुरों को युद्ध लड़ने का आदेश दिया। अंग्रेज सेनापति को सूचना मिली कि शत्रु अत्याधुनिक हथियारों से लैस है, जबकि रियासती सैनिक भाला-तलवार लिए घोड़े पर सवार। तो उसने हमला रोकने का आदेश दिया। किंतु स्वाभिमानी सैनिकों ने भारतीय परंपरा का हवाला देते हुए आदेश को नहीं माना और कहा, बढ़ते हुए कदम को रोकने पर वह भारत लौटकर अपने महाराजा और देशवासियों को क्या मुंह दिखाएंगे? भारतीय रणबांकुरे बिजली की तेजी की तरह शत्रुओं पर टूट पड़े। इधर तलवार-भाले और उधर गोलियों की बौछार। किंतु भारतीय सैनिक हताहत होने की चिंता किए बिना आगे बढ़ते गए और लगभग 900 सैनिकों के बलिदान के बाद विजय प्राप्त की। यह युद्ध 22-23 सितंबर 1918 को लड़ा गया था, जो इतिहास में हाइफा युद्ध के नाम से विख्यात है। हाइफा इजरायल का पहला स्वतंत्र हिस्सा है और यह भारतीय सैनिकों के शौर्य व बलिदान का प्रतीक है।भारतीय हमले का नेतृत्व करने वाले जोधपुर के मेजर दलपत सिंह शेखावत को हाइफा के नायक के रुप में जाना जाता है।

Leave A Comment