Breaking News:

अमिताभ बच्चन के बाद अभिषेक बच्चन की जाँच में भी कोरोना पॉजिटिव मिला -

Sunday, July 12, 2020

अमिताभ बच्चन को हुआ कोरोना, अस्पताल में भर्ती -

Saturday, July 11, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3417, आज कुल 45 नए मरीज मिले -

Saturday, July 11, 2020

रिकवरी रेट में उत्तराखण्ड देश में लद्दाख के बाद दूसरे नम्बर पर -

Saturday, July 11, 2020

पांच वर्ष एक झटके में निकल गए : शाहिद कपूर -

Saturday, July 11, 2020

आखिर क्यों मैदान में खिलाड़ी, अंपायर घुटने के बल बैठे, जानिए खबर -

Saturday, July 11, 2020

अमेरिका विश्व स्वास्थ्य संगठन से हुआ अलग, जानिए क्यों -

Saturday, July 11, 2020

प्रत्येक व्यक्ति को अपनी सुविधा और कौशल के अनुसार व्यवसाय चयन करने का रोजगार प्रदान करने का अवसर : मदन कौशिक -

Friday, July 10, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3373, आज कुल 68 नए मरीज मिले -

Friday, July 10, 2020

विकास दुबे पुलिस मुठभेड़ में ढेर, जानिए खबर -

Friday, July 10, 2020

उत्तरांचल पंजाबी महासभा द्वारा कोमल वोहरा को महानगर महिला मोर्चा का अध्यक्ष चुना गया -

Friday, July 10, 2020

देहरादून : सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने व मास्क ना पहनने पर 21 लोगों का चालान -

Friday, July 10, 2020

जरा हटके : 300 वर्ष पुरानी वोगनबेलिया की बेल पेड़ सहित टूटी -

Friday, July 10, 2020

उत्तरांचल पंजाबी महासभा के प्रतिनिधिमंडल ने भेंट की फेस मास्क व फेस शील्ड -

Thursday, July 9, 2020

उत्तराखंड : विश्वविद्यालय स्तर पर अन्तिम वर्ष एवं अन्तिम सेमेस्टर की परीक्षायें 24 अगस्त से 25 सितम्बर -

Thursday, July 9, 2020

गफूर बस्ती के लोगों के उत्पीड़न पर अन्य पिछड़ा वर्ग आयोग सख्त, जानिए खबर -

Thursday, July 9, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3305, आज कुल 47 नए मरीज मिले -

Thursday, July 9, 2020

प्रधानमंत्री द्वारा ‘वोकल फाॅर लोकल एंड मेक इट ग्लोबल’ के लिए किए गए आह्वान को सभी देशवासियों का मिला समर्थन : सीएम त्रिवेंद्र -

Thursday, July 9, 2020

‘देसी गर्ल’ फिर नज़र आएगी हॉलीवुड फ़िल्म में , जानिए खबर -

Thursday, July 9, 2020

कानपुर का मुख्य आरोपी विकास दुबे उज्जैन से गिरफ्तार, जानिए खबर -

Thursday, July 9, 2020

तेज रफ्तार से हो जायेगा जीवन बेकार

accident

यह कथन उस वक्त सही साबित होता ह जब तेज गति में गाडी चलाने का खामियाजा चालक या किसी अन्य व्यक्ति को भुगतना पडता है।रश ड्राइविंग की बात करे तो हमारे युवा गाडी पर बैठकर सत्तर-अस्सी की स्पीड रखते हैं और इसमें रोमांच का अनुभव करते हैंऐसे युवक तेज रफ्तार में हवा से बात करना कौतूहल का विषय मानते हैं।पर्वमीय क्षेत्र में आए दिन सडक दुर्घटना की खबरे हम सुनते हैं जिनका कारण ड्राइविंग होता है और कुछ शराब पीकर भी गाडी चलाने में अपनी जान की परवाह नहीं करते हैं।तेज गति से सडक पर वाहन चलाने से रास्ते में चलने वाले लोग तो प्रभावित होते ही हैं साथ ही कुछ युवक या तो अपने जीवन को गवां बैठते हैं या फिर कुछ अपंग हो जाते हैं।ऐसे में स्वयं का जीवन जीवन तो खत्म हो ही जाता है साथ ही परिजनों को भी जिंदगी भर के लिए दुख दे जाते हैं।युवकों को अपने माँ-बाप का ध्यान रखकर गाडी को उचित गति से चलानी चाहिए हजससे स्थिति उसके नियंत्रण में हो सके।शहरों में यह अधिकतर होता है।इसलिए युवाओं को इस विषय पर गंभीरता से विचार करना चाहिए, न कि इसे रोमांच का विषय बनाया जाना चाहिए।सछक् पर सरकार ने जो मानक गमि निर्धारित की है जिसमें कई जगह बोर्ड लगे होते हैं उसी गति से गाडी चलानी चाहिए,यातायात के नियमो का पालन करने से दूसरों की परेशानियां तो दूर होंगी ही साथ ही अपना अनमोल जीवन बचा रहेगा।

– हिना आजमी(मासकाॅम)
क्लेमेंटाउन,देहरादून

Leave A Comment