Breaking News:

विकास दुबे पुलिस मुठभेड़ में ढेर, जानिए खबर -

Friday, July 10, 2020

उत्तरांचल पंजाबी महासभा द्वारा कोमल वोहरा को महानगर महिला मोर्चा का अध्यक्ष चुना गया -

Friday, July 10, 2020

देहरादून : सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने व मास्क ना पहनने पर 21 लोगों का चालान -

Friday, July 10, 2020

जरा हटके : 300 वर्ष पुरानी वोगनबेलिया की बेल पेड़ सहित टूटी -

Friday, July 10, 2020

उत्तरांचल पंजाबी महासभा के प्रतिनिधिमंडल ने भेंट की फेस मास्क व फेस शील्ड -

Thursday, July 9, 2020

उत्तराखंड : विश्वविद्यालय स्तर पर अन्तिम वर्ष एवं अन्तिम सेमेस्टर की परीक्षायें 24 अगस्त से 25 सितम्बर -

Thursday, July 9, 2020

गफूर बस्ती के लोगों के उत्पीड़न पर अन्य पिछड़ा वर्ग आयोग सख्त, जानिए खबर -

Thursday, July 9, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3305, आज कुल 47 नए मरीज मिले -

Thursday, July 9, 2020

प्रधानमंत्री द्वारा ‘वोकल फाॅर लोकल एंड मेक इट ग्लोबल’ के लिए किए गए आह्वान को सभी देशवासियों का मिला समर्थन : सीएम त्रिवेंद्र -

Thursday, July 9, 2020

‘देसी गर्ल’ फिर नज़र आएगी हॉलीवुड फ़िल्म में , जानिए खबर -

Thursday, July 9, 2020

कानपुर का मुख्य आरोपी विकास दुबे उज्जैन से गिरफ्तार, जानिए खबर -

Thursday, July 9, 2020

दुःखद : भारी बारिश के चलते ढहा मकान, मां व दो बेटियों की मौत -

Thursday, July 9, 2020

उत्तराखंड : अपराधियों की एंट्री पर लगेगी रोक -

Thursday, July 9, 2020

उत्तराखंड राज्य कैबिनेट बैठक : लिए गए कई अहम फैसले, जानिए खबर -

Wednesday, July 8, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3258, आज कुल 28 नए मरीज मिले -

Wednesday, July 8, 2020

दुःखद : फिल्मी कलाकार अशोक मल्ल का हुआ निधन -

Wednesday, July 8, 2020

भोजपुरी एक्ट्रेस ने कहा कर लूंगी आत्महत्या , पुलिस आयी हरकत में, जानिए खबर -

Wednesday, July 8, 2020

अक्षय कुमार फिल्म की शूटिंग अगस्त से करेंगे शुरू, जानिए खबर -

Wednesday, July 8, 2020

खुशखबरी : चिकित्सकों के 763 रिक्त पदों पर सीधी भर्ती जल्द -

Tuesday, July 7, 2020

समिति ने तकनीकी कर्मचारियों के प्रति किये जा रहे भेद- भाव पर रोष जताया -

Tuesday, July 7, 2020

दुःखद : एक बाइक ,छह लोग सवार , हुआ दुर्घटना, तीन की मौत

रुड़की । मंगलौर में एक बाइक पर सवार होकर जा रहे छह लोगों को ट्रक ने पीछे से टक्कर मार दी। हादसे में बाइक सवार मां-बेटे और एक महिला की मौके पर ही मौत हो गई जबकि दो बच्चों समेत तीन लोग घायल हो गए। टक्कर मारने के बाद चालक ट्रक छोड़कर फरार हो गया। हादसा होते देख मौके पर लोगों की भीड़ जमा हो गई। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और घायलों को सिविल अस्पताल में भर्ती कराया। साथ ही तीनों शवों का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। वहीं, घटना की सूचना मिलते ही परिवार में कोहराम मच गया। मंगलौर कोतवाली क्षेत्र के गांव ऊदलहेड़ी निवासी कुलदीप उर्फ फोनी शनिवार सुबह किसी काम से अपनी पत्नी पूनम और डेढ़ साल के बेटे सागर को लेकर रुड़की आया था। दोपहर में तीनों बाइक से घर लौट रहे थे। इसी बीच रुड़की रोडवेज बस स्टैंड के पास उसके भाई संदीप की पत्नी मीनाक्षी अपने दो बच्चों चिंकी और किरण के साथ घर जाने के लिए सवारी का इंतजार कर रही थी। भाभी को देख कुलदीप ने बाइक रोक ली और तीनों को बैठा लिया। इसके बाद एक ही बाइक से छह लोग मंगलौर की ओर चल पड़े। जैसे ही वे कस्बे में एसबीआई की शाखा के सामने पहुंचे तो पीछे से आ रहे एक अनियंत्रित ट्रक ने टक्कर मार दी। इससे बाइक दूर तक फिसलती हुई सड़क पर जा गिरी। हादसे में कुलदीप की पत्नी पूनम और बेटे सागर की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि कुलदीप, उसकी भाभी और दोनों बच्चे भी गंभीर रूप से घायल हो गए। हादसे के बाद भीड़ को देख चालक मौके पर ही ट्रक छोड़कर फरार हो गया। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और घायलों को एंबुलेंस से सिविल अस्पताल रुड़की भेजा। यहां उपचार के दौरान मीनाक्षी ने भी दम तोड़ दिया। पुलिस ने घटना की सूचना परिजनों को दी। आनन फानन में परिजन अस्पताल की तरफ दौड़ पड़े। कोतवाली प्रभारी प्रदीप चैहान ने बताया कि शवों का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। ट्रक चालक की तलाश की जा रही है। पीड़ित पक्ष की ओर से तहरीर आने पर केस दर्ज किया जाएगा। शनिवार को मंगलौर में हुए सड़क हादसे ने कई सवाल खड़े कर दिए हैं। हादसे में सिस्टम के साथ बाइक सवार की भी भारी लापरवाही सामने आई है। पहले तो एक बाइक पर छह लोगों ने बैठकर नियम तोड़ा, इसके बाद लॉकडाउन में यातायात नियमों का पालन कराने का दम भरने वाली ट्रैफिक पुलिस से लेकर सीपीयू और सिविल पुलिस को एक बाइक पर सवार छह लोग नजर नहीं आए। जबकि रोडवेज बस स्टैंड के पास पुलिसकर्मियों की ड्यूटी रहती है। इतना ही नहीं तहसील के सामने और मिलिट्री चैक पर पुलिस से लेकर सीपीयू की फौज खड़ी रहती है, लेकिन कहीं भी बाइक सवार को रोका नहीं गया, जो कहीं न कहीं चेकिंग में पुलिस की लापरवाही उजागर कर रहा है। दूसरी ओर, ट्रक चालक की भी लापरवाही सामने आई, जिसे आगे चल रही बाइक नजर नहीं आई और उसने तीन लोगों की जान लेकर परिवार की खुशियां छीन लीं।

Leave A Comment