Breaking News:

उत्तराखंड: आज कोरोना का महा कहर , दो हज़ार से अधिक मरीज मिले जानिए खबर -

Saturday, September 19, 2020

हर स्थिति के साथ बढ़ती गयी हिम्मत : नमन भारद्वाज -

Saturday, September 19, 2020

जरा हटके : कोरोना मरीजो के मनोरंजन के लिए गीत संगीत का आयोजन -

Saturday, September 19, 2020

उत्तराखंड की जेलों में बड़ी संख्या में गंभीर रोगी हैैं केैद, जानिए खबर -

Saturday, September 19, 2020

देहरादून : होम आईसोलेशन के लिए जिला सर्विलांस अधिकारी से अनुमति प्राप्त करना अनिवार्यः डीएम -

Saturday, September 19, 2020

कोरोना योद्धा हुए सम्मानित, जानिए खबर -

Friday, September 18, 2020

उत्तराखंड: प्रदेश में कोरोना मरीजो की संख्या 38 हज़ार पार , जानिए खबर -

Friday, September 18, 2020

जनता से किए 85 फीसदी वायदे किये पूरे : सीएम त्रिवेंद्र -

Friday, September 18, 2020

किस अभिनेत्री ने कही यह बात , मेरा मीडिया ट्रायल ना किया जाए -

Friday, September 18, 2020

एसबीआई : एटीएम से दस हज़ार से अधिक की राशि निकालने पर यह नियम लागू, जानिए खबर -

Friday, September 18, 2020

उत्तराखंड: प्रदेश में कोरोना मरीजो की संख्या पहुँची 37139 , जानिए खबर -

Thursday, September 17, 2020

कैबिनेट बैठक : सरकार ने व्यावसायिक वाहनों के टैक्स में छूट तीन माह तक बढ़ाया -

Thursday, September 17, 2020

कुपोषण मुक्त बच्चों के अभिभावकों को सीएम त्रिवेंद्र ने किया सम्मानित -

Thursday, September 17, 2020

शिकागो के अर्थशास्त्री राज साह ने भेंट की स्मृति पट्टिका, जानिए खबर -

Thursday, September 17, 2020

भारत : देश मे कोरोना मरीजो की संख्या पहुँची 50 लाख के पार, जानिए खबर -

Thursday, September 17, 2020

सीएम त्रिवेंद्र ने पीएम नरेन्द्र मोदी को उनके जन्मदिन पर दी बधाई -

Thursday, September 17, 2020

नेक कार्य : लावारिस अस्थियों को मां गंगा में पूर्ण वैदिक विधि विधान से किया विसर्जित -

Thursday, September 17, 2020

“राजयोग में साइलेंस की शक्ति और डिप्रेशन से मुक्ति’’ पुस्तक का सीएम त्रिवेंद्र ने किया लोकार्पण -

Wednesday, September 16, 2020

उत्तराखंड: प्रदेश में आज 1540 नए कोरोना मरीज मिले , जानिए खबर -

Wednesday, September 16, 2020

सेवा सप्ताह कार्यक्रम : रक्तदान शिविर का हुआ आयोजन -

Wednesday, September 16, 2020

देहरादून : केन्द्रों से कम्प्यूटरीकृत खतोनियां आज होंगी जारी

देहरादून । समस्त तहसीलों में कम्प्यूटरीकृत खतोनियों की प्रति कोरोना संक्रमण (कोविड-19) प्राकृतिक आपदा के दृष्टिगत जारी किये जाने की कार्यवाही स्थगित गई थी, इस समस्या के समाधान हेतु जिलाधिकारी द्वारा मानक परिचालन कार्यविधि के साथ तहसीलों में स्थित भू-लेख कम्प्यूटर केन्द्रों से कम्प्यूटरीकृत खतोनियां आज से जारी किये जाने के निर्देश दिये गये हैं। उक्त आशय की जानकारी देते हुए अपर जिलाधिकारी प्रशासन अरविन्द पाण्डेय ने अवगत कराया है कि जनपद में की प्रत्येक तहसील में स्थापित भू-लेख कम्प्यूटर केन्द्रों में प्रतिदिन 30 कम्प्यूटरीकृत खतौनियां जारी की जायेंगी, जिसके लिए टोकन क्रमांक दूरभाष पर आवंटित करते हुए पंजिका तैयार की जायेगी तथा पंजिका में टोकन प्राप्तकर्ता का नाम जिस राजस्व ग्राम की कम्प्यूटरीकृत खतोनियां ली जानी हों उसका खतोनी संख्या आदि का विवरण दर्ज किया जायेगा। उन्होंने बताया कि तहसील सदर हेतु दीपचन्द्र पाण्डेय (मो 9639822499), तहसील डोईवाला के लिए दीपक कठैत (मो 6395044836), तहसील ऋषिकेश के लिए अतुल कुमार (मो 9675110292) तहसील विकासनगर के लिए राकेश कुमार (मो 8279552118) तहसील कालसी के लिए मनोज कुमार (मो 7579031272), तहसील चकराता के लिए प्रदीप (मो 7579194555) तथा तहसील त्यूनी के लिए मोहन सिंह (मो 7351289068) को टोकन एवं सम्पर्क सूत्र के रूप में नामित किया गया है, जिनसे खतौनी प्राप्तकर्ता सम्पर्क कर सकता है।  उन्होंने बताया कि भू-लेख कम्प्यूटर केन्द्र का संचालन 2 पालियों  में किया जायेगा, प्रथम पाली में प्रातः 10 बजे से अपरान्ह 1 बजे तक आवेदन प्राप्त किये जायेंगे तथा दूसरी पाली में अपरान्ह 02 बजे से सांय 5 बजे तक कम्प्यूटरीकृत खतोनियां आर.ओ.आर जारी की जायेंगी। उन्होंने बताया कि भू-लेख कम्प्यूटर केन्द्र से कम्प्यूटरीकृत खतोनियों को जारी करने वाले आपरेटर के द्वारा मास्क अनिवार्य रूप से लगाया जायेगा तथा बिना मास्क पहनने वाले नागरिकों को कम्प्यूटरीकृत खतोनियां जारी नही की जायेंगी। इसके अतिरिक्त 5 से अधिक नागरिक खतोनियों की प्रति लेने हेतु एक साथ एकत्र नही होंगे साथ ही सामाजिक दूरी का कड़ाई से पालन करते हुए कम्प्यूटर केन्द्र के बाहर निश्चित दूरी पर गोले बनाकर नागरिकों को कतार में बैठाया जायेगा साथ ही भू-लेख कम्प्यूटर केन्द्र से सेवा प्राप्त करने वाले प्रत्येक नागरिक के हाथ सेनिटाइज करवाये जायेंगे। इसके अतिरिक्त यदि किसी क्षेत्र में कन्टेंनमेंट जोन घोषित किया जाता है तो उस क्षेत्र में यह अनुमति स्वतः ही रद्द मानी जायेगी।

Leave A Comment