Breaking News:

बांगर पट्टी की महिला दो सप्ताह से लापता….. -

Thursday, June 20, 2019

एक बार फिर से पहाड़ में ई रिक्शा चढ़ने को तैयार -

Thursday, June 20, 2019

राज्य कैबिनेट बैठक : आरक्षण में अब पत्नी को भी मिलेगा लाभ -

Thursday, June 20, 2019

108 सेवा के पूर्व कर्मचारियों के धरने में पहुॅंचे पूर्व सीएम हरीश रावत -

Wednesday, June 19, 2019

मोटरसाईकल पर चारधाम यात्रा के लिए निकले विधायक देशराज -

Wednesday, June 19, 2019

आपदा की स्थिति में कम से कम हो रेस्पोंस टाइम-मुख्यमंत्री -

Wednesday, June 19, 2019

आर्थिक विकास में महिला कारोबारियों का विशिष्ट स्थान : प्रेमचंद -

Wednesday, June 19, 2019

आईएसबीटी का फ्लाईओवर फिर विवादों के घेरे में…. -

Wednesday, June 19, 2019

हाई प्रोफाइल शादी को हाईकोर्ट ने दी राहत -

Wednesday, June 19, 2019

दिव्यांग प्रतिभाओं का लोक कला प्रदर्शन 23 जून को दून में -

Tuesday, June 18, 2019

मोर्चा प्रतिनिधिमंडल अटल आयुष्मान योजना की खामियों को लेकर समिति को सौंपा ज्ञापन -

Tuesday, June 18, 2019

महाकुम्भ के लिए हरिद्वार में रेल सुविधाओं का हो विस्तार -

Tuesday, June 18, 2019

IND vs PAK: शोएब मलिक भड़के पाक मीडिया पर ,दिया करारा जवाब -

Tuesday, June 18, 2019

शादी छोड़कर ऐक्टर से मिलने पहुंची फैन -

Tuesday, June 18, 2019

मुजफ्फरपुर में मौतों का आंकड़ा बढ़ा ,107 बच्चों की मोत -

Tuesday, June 18, 2019

मौसम ने करवट बदली, हुई बारिश, ओले भी गिरे -

Monday, June 17, 2019

सोशल मीडिया ,भड़काउ पोस्ट और गए जेल, जानिए खबर -

Monday, June 17, 2019

दुर्घटना : सीआईएसएफ इंसपेक्टर समेत छह लोगों की मौत -

Monday, June 17, 2019

टिहरी के पर्यटन स्थल नागटिब्बा पहुँचे सीएम त्रिवेंद्र -

Monday, June 17, 2019

पांच हेक्टेयर तक वन भूमि हस्तांतरण का अधिकार राज्य को मिले : मुख्यमंत्री -

Monday, June 17, 2019

दो साल में प्रदेश के ढाई लाख युवाओं को जोड़ा गया रोजगार से : सीएम

uk cm

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का उत्तराखंड के प्रति अगाध प्रेम है। यह इससे भी परिलक्षित होता है कि प्रधानमंत्री बनने के बाद मोदी सात बार उत्तराखंड आये। उत्तराखंड के समग्र विकास के लिए उन्होंने न केवल आश्वासन दिये बल्कि उन्हें अमलीजामा भी पहनाया है। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा हाल ही में देहरादून में दिये गये भाषण पर तंज कसते हुए कहा कि लगता है कि राहुल गांधी सामान्य शिष्टाचार भी भूल गये है। उनका देश के प्रधानमंत्री के लिए अपशब्दो का प्रयोग करना तथा आतंकी हाफिज सईद को हाफिज जी कहकर पुकारना उनकी राजनीतिक अपरिपक्वता को दर्शाता है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि आज हमारी सरकार ने दो साल पूरे कर लिए हैं। इस दौरान जहां सरकार ने पारदर्शिता और जवाबदेही तय कर सुशासन के जरिए जनता की समस्याओं को तेजी से हल किया, वहीं विकास की दृष्टि से प्रदेश तेजी से आगे बढ़ रहा है। इन दो सालों में हमने सरकारी नौकरियों, आउटसोर्स, संविदा और प्राइवेट सेक्टर में कुल मिलाकर ढाई लाख युवाओं को रोजगार मुहैया करवाया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जब हमने सत्ता संभाली तब हमारे सामने उत्तराखंड में भ्रष्टाचार एक बड़ी चुनौती रही। इसलिए हमने प्रधानमंत्री मोदी जी के जीरो टॉलरेंस मंत्र को आत्मसात किया है। एनएच-74 घोटाले से लेकर समाज कल्याण विभाग के छात्रवृ्त्ति , सिडकुल समेत कई अन्य विभागों के घोटाले को लेकर सख्त कदम उठाए। ट्रांसफर पोस्टिंग उत्तराखंड में उद्योग की तरह चलता था, हमने ट्रांसफर एक्ट लाकर इस धंधे को बंद किया है। मैं आपको आश्वस्त करना चाहता हूँ कि हमारी सरकार भ्रष्टाचार से कोई समझौता नहीं करेगी। भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई हम सबको मिलकर लड़नी होगी, तभी हम अपने भविष्य को सुरक्षित रख पाएंगे। सर्वे सन्तु निरामयाः का भाव हमारी संस्कृति में निहित है। मगर पहाड़ों में स्वास्थ्य सुविधाएं हमारे लिए चुनौती थी। हम जानते हैं कि पहाड़ों में आज भी लोगों को उचित इलाज के लिए दर दर भटकना पड़ता है। महिलाओं को गहने तक बेचने पड़ते हैं, किसान जमीन गिरवी रख देते हैं। इन हालातों को हमने नजदीक से देखा है इसलिए प्रधानमंत्री जी की आयुष्मान भारत योजना से प्रेरणा लेकर, वित्तीय संसाधनों की फिक्र किए बिना संपूर्ण प्रदेशवासियों के कल्याण के लिए अटल आयुष्मान उत्तराखंड योजना को लागू किया। इस योजना से प्रदेश के समस्त 23 लाख परिवारों को सालाना पांच लाख रुपए तक निशुल्क इलाज मुहैया करवाया जा रहा है। मुझे खुशी है कि अब तक करीब 14 हजार लोग अटल आयुष्मान योजना से निशुल्क इलाज करवा चुके हैं, जिस पर 13 करोड़ रुपए व्यय हुए हैं। इसी तरह 2160 लोग आयुष्मान भारत का लाभ ले चुके हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि शांत सुरक्षित माहौल, एक मजबूत बुनियादी ढांचा, कुशल मैनपावर, व्यावहारिक नीतिगत फैसले राज्य को आगे बढ़ाने में मदद करते हैं। उत्तराखंड में ये सबकुछ था, लेकिन राजनीतिक इच्छाशक्ति की कमी के चलते ब़डे पैमाने पर निवेश लाने की कोशिश नहीं की गई। इसी को ध्यान में रखते हुए हमने पहली बार इन्वेस्टर्स समिट का सफल आयोजन करवाया जिसमें सवा लाख करोड़ रुपए के एमओयू साइन किए गए। पिछले 17 साल में उत्तराखंड में कुल मिलाकर 40 हजार करोड़ रुपए का निवेश आया था। मुझे खुशी है कि पिछले पांच महीनों में ही हम 13 हजार करोड़ रुपए के प्रोजेक्ट पर काम शुरू कर चुके हैं। इस साल के अंत तक 20 हजार करोड़ के प्रोजेक्ट धरातल पर उतर जाएंगे। इससे रोजगार के बंपर अवसर पैदा होंगे। मैं कह सकता हूँ, एक समृद्ध उत्तराखंड के निर्माण की नींव रखी जा चुकी है।

Leave A Comment