Breaking News:

पौड़ी : पाबौ में चट्टान से गिरने से महिला की मौत -

Monday, April 6, 2020

जुबिन नौटियाल ने ऑनलाइन शो से कोरोना फाइटर्स को कहा थैंक्यू -

Monday, April 6, 2020

अनूप नौटियाल व डा. दिनेश चौहान रहे कोरोना वाॅरियर -

Monday, April 6, 2020

पहल : देहरादून में 7745 भोजन पैकेट वितरित किये गये -

Sunday, April 5, 2020

सीएम त्रिवेन्द्र ने परिवार संग दीप जला कर हौसला बढाने का दिया सन्देश -

Sunday, April 5, 2020

उत्तराखंड में चार और कोरोना पाॅजीटिव मामले सामने आए, संख्या 26 हुई -

Sunday, April 5, 2020

दुःखद : जंगल की आग में जिंदा जली दो महिलाएं -

Sunday, April 5, 2020

आम आदमी की रसोईः जरूरतमंदों को दे रही भोजन और राशन -

Sunday, April 5, 2020

5 अप्रैल को रात 9 बजे 9 मिनट के लिए अपने घरों में लाईट बंद कर दीपक जलाए : सीएम त्रिवेंद्र -

Saturday, April 4, 2020

लापता व्यक्ति का शव पाषाण देवी के मंदिर पास झील से बरामद हुआ -

Saturday, April 4, 2020

देहरादून : स्वयंसेवी संस्थाओं के सहयोग से 9482 भोजन पैकेट वितरित किये गये -

Saturday, April 4, 2020

उत्तराखंड में कोरोना पॉजिटिव मामलों की संख्या हुई 22 -

Saturday, April 4, 2020

सोशियल पॉलीगोन ग्रुप ऑफ कंपनी ने मुख्यमंत्री राहत कोष में 5 लाख का चेक दिया -

Saturday, April 4, 2020

लॉकडाउन : रचायी जा रही शादी पुलिस ने रुकवाई, 15 लोगों पर मुकदमा दर्ज -

Friday, April 3, 2020

उत्तराखंड : त्रिवेन्द्र सरकार ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए जारी किये 85 करोङ रूपए -

Friday, April 3, 2020

ऋषियों का मूल मंत्र ’तमसो मा ज्योतिर्गमय’ एक अद्भुत आइडियाः स्वामी चिदानन्द सरस्वती -

Friday, April 3, 2020

आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने किया रक्तदान -

Friday, April 3, 2020

कोरोना वॉरियर्स का सभी करे सहयोग : सीएम त्रिवेंद्र -

Friday, April 3, 2020

किन्नरों ने लोगों को भोजन, राशन वितरित किया -

Thursday, April 2, 2020

3 अप्रैल से बैंक सुबह 8 से अपरान्ह 1 बजे तक खुले रहेंगे -

Thursday, April 2, 2020

धूमधाम से मना हरितालिका महोत्सव

देहरादून । देहरादून में हरितालिका महोत्सव धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर महिलाओं ने एक दुसरे को रंग लगाकर कार्यक्रम की शुरूआत की।  कार्यक्रम की संचालिका लीला शमा ने बताया कि हरितालिका तीज की परमपरा हिन्दु धर्म में अनादि काल से है। मान्यता है कि भगवान शिव को पाने के लिए मां गौरी ने निर्जला व्रत रखकर भगवान की उपासना की थी। तभी से हिन्दू संस्कृति में इसका प्रचलन शुरू हो गया। उन्होंने बताया कि हरितालिका तीज पर महिलाएं निर्जला व्रत रखकर अपने सुहाग की लंबी आयु की कामना करती है तो वहीं कंुवारी लड़किया अच्छा पति पाने के लिए इस व्रत को रखकर अपने बेहतर जीवन की कामना करती है। उन्होंने बताया कि इस वर्त को पूरे विधि विधान के साथ लिया जाता हैं। गणेश चतुर्थी से तीन दिन पहले सुबह चार बजे उठकर विधिविधान के साथ नदी किनारे महिलाएं विधिविधान के नियमानुसार स्थान करती है। फिर पूजा अर्चना कर निर्जला व्रत रखती है। इस अवसर महिलाओं ने भजन कीर्तन व सांस्कृति प्रस्तुतियां भी दी।

Leave A Comment