Breaking News:

सीएम ने की विभिन्न निर्माण कार्यों का शिलान्यास, जानिए खबर -

Sunday, December 9, 2018

पौराणिक मेले हमारी पहचान : सीएम त्रिवेंद्र -

Sunday, December 9, 2018

मैड और एनसीसी की टीम ने रिस्पना को किया साफ़ -

Sunday, December 9, 2018

राष्ट्रीय जनसंपर्क सम्मेलन : हिमालय और गंगा राष्ट्र का गौरव -

Sunday, December 9, 2018

दून नगर निगम बढ़ाएगा हाउस टैक्स, जानिए खबर -

Sunday, December 9, 2018

आईएमए पीओपीः 347 कैडेट बने भारतीय सेना का हिस्सा -

Saturday, December 8, 2018

सीएम त्रिवेंद्र 40वें आॅल इण्डिया पब्लिक रिलेशन्स काॅन्फ्रेंस का किया शुभारम्भ -

Saturday, December 8, 2018

कर्ज से परेशान किसान ने की आत्महत्या की कोशिश, हालत गंभीर -

Saturday, December 8, 2018

सीएम त्रिवेंद्र किये कई घोषणाएं , जानिए खबर -

Saturday, December 8, 2018

‘केदारनाथ’ फिल्म के नाम से ऐतराज: सतपाल महाराज -

Saturday, December 8, 2018

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र करेंगे राष्ट्रीय जनसंपर्क सम्मेलन का शुभारंभ -

Friday, December 7, 2018

सीएम एप ने दिलाई गरीब परिवारों को धुएं से मुक्ति, जानिए खबर -

Friday, December 7, 2018

गावस्कर : विराट नहीं भारत के ओपनर करेंगे सीरीज का फैसला -

Friday, December 7, 2018

मीका सिंह को छेड़छाड़ मामले में कोर्ट में पेश किए जाएंगे -

Friday, December 7, 2018

सड़क पर बच्चे का जन्म, जानिए खबर -

Friday, December 7, 2018

गन्ना किसानों का बकाया भुगतान जल्द, जानिए खबर -

Friday, December 7, 2018

फैशन में करियर की अपार संभावनाएंः पूर्व मिस इंडिया इको ख्याती -

Thursday, December 6, 2018

उत्तराखंड : 1111 पुरूष व महिला होमगार्डस की नई भर्तियां जल्द -

Thursday, December 6, 2018

उत्तराखंड : जिलाधिकारियों के पाले में केदारनाथ फिल्म की रिलीज -

Thursday, December 6, 2018

गौतम गंभीर कोटला पर आखिरी बार थामेंगे बल्ला -

Thursday, December 6, 2018

नशीला पदार्थ एवं दवाये मिलने पर निरस्त होगे मेडिकल स्टोर और स्कूल काॅलेजों के लाइसेंस

CM_Uttarakhand

देहरादून में नशीली दवाओं पर प्रभावी रोक के लिए सघन अभियान चलाया जाए। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग, पुलिस व जिला प्रशासन के आला अधिकारियों की एक संयुक्त टीम बनाकर रेंडम चैकिंग की जाए। मुख्यमंत्री हरीश रावत ने सोमवार को बीजापुर में इस संबंध में आयोजित बैठक में छात्र छात्राओं में नशाखोरी की बढ़ती प्रवित्ति पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि स्कूल काॅलेजों के आसपास स्थित पान की दुकानों व मेडिकल स्टोरों पर विशेष नजर रखी जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसी दवाएं जिनका प्रयोग युवा नशा करने में कर रहे हैं, की सूची तैयार कर यह सुनिश्चित किया जाए कि केवल लाईसेंसी स्टाॅकिस्ट इन्हें डाक्टर के प्रेसक्रिप्सन होने पर ही बेच रहे हों। यह पाए जाने पर कि डाक्टर के पे्रसक्रिप्शन के बिना बेची जा रही हैं तो संबंधित का लाईसेंस निरस्त कर अन्य कार्यवाही की जाए। मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारी को निर्देशित किया कि शहर की शिक्षण संस्थानों के प्राचार्यों के साथ बैठक कर यह स्पष्ट कर दिया जाए कि एक सप्ताह में संस्थान सुनिश्चित कर लें कि उनके हाॅस्टलों व संस्थानों में छात्रों के पास नशे से संबंधित किसी प्रकार की सामग्री न हो। यदि कहीं से भी कोई सूचना मिलती है तो प्रशासन संस्थानों व हाॅस्टलों में जांच करवा सकता है। मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य विभाग, पुलिस व जिला प्रशासन के आला अधिकारियों की एक संयुक्त टीम बनाकर मेडिकल स्टाॅरों के लाईसेंस, स्टाॅक व रजिस्टरों का औचक निरीक्षण करने के निर्देश दिए। यह चेतावनी जारी कर दी जाए कि शिक्षण संस्थानों के निकट पान आदि की दुकानो पर तम्बाकू या अन्य पदार्थ पाउच में बेचा जाता है तो वह भी शक के दायरे में होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि अधिकारियों की भी जिम्मेवारी तय की जाए और यदि किसी स्तर पर संलिप्तता या लापरवाही पाई जाती है तो कड़ी कार्यवाही सुनिश्चित की जाए। नशे के आदी हो चुूके युवाओं से नशे की आदत छुड़ाने के लिए नशा मुक्ति केंद्रों की सहायता ली जाए। पुलिस अपने खुफिया तंत्र को नशे के नेटवर्क का पता लगाने में जुटाए। जहां से नशे की आवक होने की सूचना मिल रही है वहां विशेष रूप से ध्यान दिया जाए। बैठक में मुख्य सचिव एन रविशंकर, डीजीपी बीएस सिद्धू, डीएम देहरादून रविनाथ रमन, एसएसपी पुष्पक ज्योति सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Leave A Comment