Breaking News:

मेयर से मांगी ज़रूरतमंदो के लिए मदद, जानिए खबर -

Wednesday, April 8, 2020

उत्तराखंड : शाक्य बौद्ध समुदाय ने मुख्यमंत्री राहत कोष में 23 लाख रूपये की राशि दी -

Wednesday, April 8, 2020

सीएम, मंत्रियों व विधायकों के वेतन मेें होगी 30 प्रतिशत की कटौती -

Wednesday, April 8, 2020

दून के तीन होटलों को सरकार ने किया अधिग्रहित -

Wednesday, April 8, 2020

उत्तराखण्ड पीसीएस एसोसिएशन 15 दिन के वेतन का चेक सीएम राहत कोष में दिया -

Wednesday, April 8, 2020

नैनीताल बैंक प्रधानमंत्री राहत कोष में देगा 15 लाख रुपये की धनराशि -

Wednesday, April 8, 2020

लॉकडाउन : मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने अधिकारियों से लिए फीडबैक -

Tuesday, April 7, 2020

सीएम त्रिवेन्द्र ने शहीद जवान अमित कुमार और देवेंद्र सिंह की पार्थिव देह पर पुष्प चक्र अर्पित कर दी श्रद्धांजलि -

Tuesday, April 7, 2020

सफाई कार्मिकों को किया पुरस्कृत, जानिए खबर -

Tuesday, April 7, 2020

फूल उगाने वाले किसानों के चेहरे मुरझाए, जानिए खबर -

Tuesday, April 7, 2020

हेल्प मी वेलफेयर सोसायटी ने गरीबों की मदद किये -

Tuesday, April 7, 2020

उत्तराखंड में पांच और कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आए, संक्रमित मरीजों की संख्या हुई 31 -

Monday, April 6, 2020

सीएम ने उत्तराखंड के जवानों की शहादत को नमन किया -

Monday, April 6, 2020

उत्तराखंड : मुख्यमंत्री कैम्प कार्यालय में बेहतर समन्वय के लिए बनाया गया कंट्रोल रूम -

Monday, April 6, 2020

पौड़ी : पाबौ में चट्टान से गिरने से महिला की मौत -

Monday, April 6, 2020

जुबिन नौटियाल ने ऑनलाइन शो से कोरोना फाइटर्स को कहा थैंक्यू -

Monday, April 6, 2020

अनूप नौटियाल व डा. दिनेश चौहान रहे कोरोना वाॅरियर -

Monday, April 6, 2020

पहल : देहरादून में 7745 भोजन पैकेट वितरित किये गये -

Sunday, April 5, 2020

सीएम त्रिवेन्द्र ने परिवार संग दीप जला कर हौसला बढाने का दिया सन्देश -

Sunday, April 5, 2020

उत्तराखंड में चार और कोरोना पाॅजीटिव मामले सामने आए, संख्या 26 हुई -

Sunday, April 5, 2020

नारी निकेतन प्रकरण को लेकर अभाविप ने दिया धरना

kk

देहरादून। नारी निकेतन में संवासनियों के यौन उत्पीडन एवं मौत की सीबीआई जांच की मांग को लेकर भाजपा महिला मोर्चा द्वारा गांधी पार्क के मुख्य गेट पर चलाए जा रहे आठ दिवसीय धरने के अंतिम दिन अभाविप की छात्रा कार्यकर्ताओं द्वारा धरना दिया गया।प्रदर्शनकारियों का कहना था कि आठ दिन के धरने के बावजूद सरकार द्वारा इस मामले में अभी तक कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई है। उन्होंने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया। उनका कहना है कि जिस प्रकार से संवासनियों की मौत हुई है उस पर सरकार गंभीर नहीं है और महज खानापूर्ति के लिए कार्यवाही व जांच की बात कर असली दोषियों को बचाने का प्रयास कर रही है। महिला सम्मान की बात करने वाली कांग्रेस सरकार आज महिला संवासनियों के साथ हो रहे शोषण, दुराचार पर पर्दा डालने की कोशिश कर रही है। पिछले तीन सालों में इसी नारी निकेतन में लगभग 12 संवासनियों की मौत हो चुकी है और सरकार एवं जिला प्रशासन तमाम घटनाओं पर लीपापोती करता आया है जो कि अत्यधिक शर्मनाक है।

Leave A Comment