Breaking News:

स्कूली बच्चे बने 400 लोगों को मिलेगा नया ‘सहारा’ -

Tuesday, November 20, 2018

देहरादून में केटीएम ने किया शानदार स्टंट शो का आयोजन -

Tuesday, November 20, 2018

वर्ल्ड बॉक्सिंग: एमसी मैरी कॉम का 7वां पदक पक्का -

Tuesday, November 20, 2018

उत्तराखंड निकाय चुनाव: निर्दलीय उम्मीदवारों का रहा बोलबाला -

Tuesday, November 20, 2018

नेहा-अंगद ने शेयर की बेटी पहली तस्वीर -

Tuesday, November 20, 2018

गोवा में अन्तर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव का हुआ शुभारम्भ -

Tuesday, November 20, 2018

देहरादून में चार दिवसीय किड्स फिल्म फेस्टिवल 20 से 23 नवंबर तक -

Monday, November 19, 2018

इंटरनेशनल ह्यूमन राइट कॉउन्सिल ने अपना 8वां स्थापना दिवस मानाया -

Monday, November 19, 2018

मतगणना तैयारियां पूरी, एसएसपी ने दिए आवश्यक निर्देश -

Monday, November 19, 2018

उत्तराखण्ड दिवस समारोह का आयोजन -

Monday, November 19, 2018

उत्तरकाशी : बस खाई में गिरी, 14 लोगों की मौत -

Sunday, November 18, 2018

शादी से पहले वोट डालने पहुंचे युवक और युवती -

Sunday, November 18, 2018

सीएम ने शांतिपूर्ण व उत्साहपूर्ण मतदान के लिए मतदाताओं का जताया आभार -

Sunday, November 18, 2018

निकाय चुनावः प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला मतपेटियों में बंद -

Sunday, November 18, 2018

जरा हट के : ब्याज पर पैसे लेकर ग्रामीणों ने खुद बनाई डेढ़ सौ मीटर लम्बी सड़क -

Sunday, November 18, 2018

देहरादून : दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली युवती के सोमवार को दर्ज होंगे बयान -

Saturday, November 17, 2018

वरिष्ठ पत्रकार अनूप गैरोला का निधन -

Saturday, November 17, 2018

मिस उत्तराखंड : मिस रेडिएंट स्किन एंड ब्यूटीफुल हेयर सब प्रतियोगिता का आयोजन -

Saturday, November 17, 2018

सभी नागरिक अपने मताधिकार का करे प्रयोग : सीएम -

Saturday, November 17, 2018

मतदाता चुनेेंगे शहर की सरकार …. -

Saturday, November 17, 2018

नेशनल महिला कुश्ती खिलाड़ी शारदा ठेले पर पोहा बेच चला रही घर का खर्च

national-khiladi

रायपुर (छत्तीसगढ़) | एक बबिता कुमारी वह कुश्ती की खिलाड़ी है जो ओलिंपिक में अपने खेल के दम पर देश को पदक दिलाया और इनके इस सफलता पर ढेरो पुरस्कार की बरसात हुई तथा साथ ही साथ अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया गया वही दूसरी तस्वीर एक नेशनल प्लेयर को अपना घर चलाने के लिए ठेले पर पोहा बेचना पड़ रहा है। शारदा यादव नाम की यह प्लेयर 2013 में जूनियर और 2014 में सीनियर लेवल की नेशनल चैम्पियनशिप में भाग ले चुकी है। अगले महीने भोपाल में होने जा रहे नेशनल स्कूल गेम्स में भी वह छत्तीसगढ़ को रिप्रेजेंट करेगी। इन सब वाक्यांश का आशय यह नही की महिला खिलाड़ी बबिता को ऐसा संम्मान क्यों दिया जा रहा है बल्कि एक और बबिता बनना चाहने वाली शारदा यादव को ऐसी सुविधाये क्यों नही जिससे देश के पदको में इजाफा हो सके |

शारदा ने अपने तीन बहनों की शादी भी कराई

शारदा जब बहुत छोटी थी, तभी उसके पिता का साया उनसे दूर हो गया था आकस्मिक निधन हो गया था । मां के साथ दूसरे घरों में काम करके कुछ पैसा इकट्ठा किया और फिर पोहे का ठेला लगाना शुरू किया। शारदा की पांच बहनें और हैं। इनमें से तीन बड़ी बहनों की वह शादी करवा चुकी है। उसके काम में मां भी हाथ बंटाती हैं। जिससे घर का जीवन यापन हो सके |

ओलिंपिक पर है अगला लक्ष्य , लेकिन गरीबी आ रही सामने

शारदा ओलिंपिक गेम्स में देश के लिए मेडल जीतना चाहती है, लेकिन आर्थिक रूप से कमजोर होने गरीबी की वजह से उसे नियमतः डाइट भी नहीं मिल पाती है।इतनी दिक्कत के बावजूद किसी न किसी तरह शारदा आधी डाइट लेकर ही प्रैक्टिस करती है। इसके पहले उसे घर और ठेले का काम भी पूरा करना पड़ता है। शारदा रोजाना चार घंटे प्रैक्टिस करती है।

खेल मंत्री का जबाब

शारदा को लेकर सवाल किए जाने पर छत्तीसगढ़ के स्पोर्ट्स मिनिस्टर भैयालाल राजवाड़े नाराज हो गए। उन्होंने कहा,प्रदेश में और भी खेल और काम हैं, किसी एक खेल या खिलाड़ी पर ध्यान नहीं दिया जा सकता।

Leave A Comment