Breaking News:

मनाया जा रहा उत्तराखण्ड में वर्ष 2019 रोजगार वर्ष के रूप में, जानिए खबर -

Wednesday, February 20, 2019

दून में फ्लाईओवरों के नाम शहीदों के नाम पर रखे जाएंः यूकेडी -

Wednesday, February 20, 2019

उत्तराखण्ड के युवाओं को रोजगार के अवसर प्रदान करना सीएम त्रिवेन्द्र की प्राथमिकता, जानिए खबर -

Wednesday, February 20, 2019

क्षय रोग के प्रति जागरूकता कार्यक्रम का हुआ आयोजन -

Wednesday, February 20, 2019

डीएम लेंगी पुलवामा हमले में शहीद हुए जवानों के परिवार को गोद -

Wednesday, February 20, 2019

रणवीर सिंह की फिल्म ‘गली बॉय’ ने की 88 करोड़ की कमाई -

Wednesday, February 20, 2019

15 गरीब कन्याओं का कराया सामूहिक विवाह -

Wednesday, February 20, 2019

पौड़ी और अल्मोड़ा में सबसे अधिक पलायन -

Tuesday, February 19, 2019

कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग ने पाकिस्तान व आतंकियों का फूंका पुतला -

Tuesday, February 19, 2019

शहीद मेजर विभूति शंकर ढ़ौडियाल के अंतिम दर्शन में उमड़ा जनसैलाब, सीएम त्रिवेन्द्र पुष्प चक्र अर्पित कर दी श्रद्धांजलि -

Tuesday, February 19, 2019

भारत को वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के खिलाफ नहीं खेलना चाहिए: हरभजन -

Tuesday, February 19, 2019

फिल्‍म ‘नोटबुक’ से सलमान खान ने रिप्‍लेस किया सिंगर आतिफ असलम को -

Tuesday, February 19, 2019

त्रिवेंद्र सरकार ने पेश किया 48663.90 करोड़ रु का बजट -

Monday, February 18, 2019

समावेशी विकास को समर्पित है बजट-मुख्यमंत्री -

Monday, February 18, 2019

मुख्यमंत्री ने की प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना की समीक्षा -

Monday, February 18, 2019

मोहाली स्टेडियम से पंजाब क्रिकेट संघ ने हटावाईं पाकिस्तानी क्रिकेटरों की तस्वीरें -

Monday, February 18, 2019

तुलाज इंस्टीट्यूट में मनाया गया अमौर -

Monday, February 18, 2019

द न्यू देवतास का बुक डब्लूआईसी इंडिया में हुआ लॉन्च -

Monday, February 18, 2019

मैड ने चलाया अभियान, गंदी दीवारों का किया कायाकल्प -

Monday, February 18, 2019

देहरादून के लिए मिस्टर एंड मिस फैशन आइकॉन ऑडिशन का आयोजन -

Monday, February 18, 2019

नेशनल महिला कुश्ती खिलाड़ी शारदा ठेले पर पोहा बेच चला रही घर का खर्च

national-khiladi

रायपुर (छत्तीसगढ़) | एक बबिता कुमारी वह कुश्ती की खिलाड़ी है जो ओलिंपिक में अपने खेल के दम पर देश को पदक दिलाया और इनके इस सफलता पर ढेरो पुरस्कार की बरसात हुई तथा साथ ही साथ अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया गया वही दूसरी तस्वीर एक नेशनल प्लेयर को अपना घर चलाने के लिए ठेले पर पोहा बेचना पड़ रहा है। शारदा यादव नाम की यह प्लेयर 2013 में जूनियर और 2014 में सीनियर लेवल की नेशनल चैम्पियनशिप में भाग ले चुकी है। अगले महीने भोपाल में होने जा रहे नेशनल स्कूल गेम्स में भी वह छत्तीसगढ़ को रिप्रेजेंट करेगी। इन सब वाक्यांश का आशय यह नही की महिला खिलाड़ी बबिता को ऐसा संम्मान क्यों दिया जा रहा है बल्कि एक और बबिता बनना चाहने वाली शारदा यादव को ऐसी सुविधाये क्यों नही जिससे देश के पदको में इजाफा हो सके |

शारदा ने अपने तीन बहनों की शादी भी कराई

शारदा जब बहुत छोटी थी, तभी उसके पिता का साया उनसे दूर हो गया था आकस्मिक निधन हो गया था । मां के साथ दूसरे घरों में काम करके कुछ पैसा इकट्ठा किया और फिर पोहे का ठेला लगाना शुरू किया। शारदा की पांच बहनें और हैं। इनमें से तीन बड़ी बहनों की वह शादी करवा चुकी है। उसके काम में मां भी हाथ बंटाती हैं। जिससे घर का जीवन यापन हो सके |

ओलिंपिक पर है अगला लक्ष्य , लेकिन गरीबी आ रही सामने

शारदा ओलिंपिक गेम्स में देश के लिए मेडल जीतना चाहती है, लेकिन आर्थिक रूप से कमजोर होने गरीबी की वजह से उसे नियमतः डाइट भी नहीं मिल पाती है।इतनी दिक्कत के बावजूद किसी न किसी तरह शारदा आधी डाइट लेकर ही प्रैक्टिस करती है। इसके पहले उसे घर और ठेले का काम भी पूरा करना पड़ता है। शारदा रोजाना चार घंटे प्रैक्टिस करती है।

खेल मंत्री का जबाब

शारदा को लेकर सवाल किए जाने पर छत्तीसगढ़ के स्पोर्ट्स मिनिस्टर भैयालाल राजवाड़े नाराज हो गए। उन्होंने कहा,प्रदेश में और भी खेल और काम हैं, किसी एक खेल या खिलाड़ी पर ध्यान नहीं दिया जा सकता।

Leave A Comment