Breaking News:

हरेला पर कोसी नदी के पुनर्जीवन अभियान का सीएम त्रिवेंद्र ने किया शुभारम्भ -

Monday, July 16, 2018

क्रोएशिया को हरा फ्रांस 20 साल बाद बना चैंपियन -

Monday, July 16, 2018

मोहम्मद शहजाद बसपा से निष्कासित, जानिये खबर -

Monday, July 16, 2018

लकवाग्रस्त बीरा को हेल्पेज ने दिया सहारा, जानिये खबर -

Monday, July 16, 2018

रैंप वॉक कर मॉडल्स ने बिखेरे जलवे , जानिये खबर -

Monday, July 16, 2018

मैड के सदस्यों ने किया बाढ़ प्रभावित जगहों के निरक्षण के साथ मदद -

Monday, July 16, 2018

गरीबी से लड़कर अपना एक अलग मुकाम हासिल किया हिमा दास ने -

Sunday, July 15, 2018

विम्बलडन मैदान का एक बाज 10 साल से कर रहा निगरानी, जानिये खबर -

Sunday, July 15, 2018

ट्विंकल खन्ना के लिए अक्षय का ट्वीट मचा रहा धमाल -

Sunday, July 15, 2018

सबका साथ-सबका विकास की भावना ही सच्ची देशभक्ति : उपराष्ट्रपति -

Saturday, July 14, 2018

नाबालिगों से रेप मामले में मृत्युदंड कानून लाने पर सीएम का जताया आभार, जानिये खबर -

Saturday, July 14, 2018

जल्द बनेगा काशी स्मार्ट सिटी : मोदी -

Saturday, July 14, 2018

साहसिक खेलों से संबंधित उपकरणों की पर्यटन विभाग लगाएगा प्रदर्शनी -

Saturday, July 14, 2018

तीन अगस्त से दून में इडिया इंटरनेशनल फैशन डिजाइनर वीक -

Saturday, July 14, 2018

सीएम त्रिवेंद्र ने विकास कार्यों में तेजी लाने के दिए निर्देश -

Saturday, July 14, 2018

सेब की नई प्रजाति विकसित की, पौधे में एक वर्ष में ही शुरु हो जाता उत्पादन -

Saturday, July 14, 2018

स्कूल हो रोशन इस लिए बिजली विभाग के कर्मचारियों ने दिया एक दिन का वेतन , जानिए खबर -

Friday, July 13, 2018

किसानों को धान का मूल्य समय पर : त्रिवेन्द्र सिंह रावत -

Friday, July 13, 2018

मुझे रेस 3 में काम करने से रोका गया था : अनिल कपूर -

Friday, July 13, 2018

भारत में पाकिस्तानी रेसलर दिखाएँगे अपनी पहलवानी , जानिये खबर -

Friday, July 13, 2018

नेशनल महिला कुश्ती खिलाड़ी शारदा ठेले पर पोहा बेच चला रही घर का खर्च

national-khiladi

रायपुर (छत्तीसगढ़) | एक बबिता कुमारी वह कुश्ती की खिलाड़ी है जो ओलिंपिक में अपने खेल के दम पर देश को पदक दिलाया और इनके इस सफलता पर ढेरो पुरस्कार की बरसात हुई तथा साथ ही साथ अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया गया वही दूसरी तस्वीर एक नेशनल प्लेयर को अपना घर चलाने के लिए ठेले पर पोहा बेचना पड़ रहा है। शारदा यादव नाम की यह प्लेयर 2013 में जूनियर और 2014 में सीनियर लेवल की नेशनल चैम्पियनशिप में भाग ले चुकी है। अगले महीने भोपाल में होने जा रहे नेशनल स्कूल गेम्स में भी वह छत्तीसगढ़ को रिप्रेजेंट करेगी। इन सब वाक्यांश का आशय यह नही की महिला खिलाड़ी बबिता को ऐसा संम्मान क्यों दिया जा रहा है बल्कि एक और बबिता बनना चाहने वाली शारदा यादव को ऐसी सुविधाये क्यों नही जिससे देश के पदको में इजाफा हो सके |

शारदा ने अपने तीन बहनों की शादी भी कराई

शारदा जब बहुत छोटी थी, तभी उसके पिता का साया उनसे दूर हो गया था आकस्मिक निधन हो गया था । मां के साथ दूसरे घरों में काम करके कुछ पैसा इकट्ठा किया और फिर पोहे का ठेला लगाना शुरू किया। शारदा की पांच बहनें और हैं। इनमें से तीन बड़ी बहनों की वह शादी करवा चुकी है। उसके काम में मां भी हाथ बंटाती हैं। जिससे घर का जीवन यापन हो सके |

ओलिंपिक पर है अगला लक्ष्य , लेकिन गरीबी आ रही सामने

शारदा ओलिंपिक गेम्स में देश के लिए मेडल जीतना चाहती है, लेकिन आर्थिक रूप से कमजोर होने गरीबी की वजह से उसे नियमतः डाइट भी नहीं मिल पाती है।इतनी दिक्कत के बावजूद किसी न किसी तरह शारदा आधी डाइट लेकर ही प्रैक्टिस करती है। इसके पहले उसे घर और ठेले का काम भी पूरा करना पड़ता है। शारदा रोजाना चार घंटे प्रैक्टिस करती है।

खेल मंत्री का जबाब

शारदा को लेकर सवाल किए जाने पर छत्तीसगढ़ के स्पोर्ट्स मिनिस्टर भैयालाल राजवाड़े नाराज हो गए। उन्होंने कहा,प्रदेश में और भी खेल और काम हैं, किसी एक खेल या खिलाड़ी पर ध्यान नहीं दिया जा सकता।

Leave A Comment