Breaking News:

अरविंद पांडेय ने हरेला कार्यक्रम के अंर्तगत “मेरा गांव हरा भरा गांव” अभियान का किया शुभारंभ -

Monday, July 6, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3161, आज कुल 37 नए मरीज मिले -

Monday, July 6, 2020

विरेन्द्र सिंह रावत बने खेलों मास्टर गेम्स फाउंडेशन इंडिया उत्तराखंड के महासचिव -

Monday, July 6, 2020

उत्तराखंड के हित में सदैव करते रहेंगे धरने प्रदर्शनः आप -

Monday, July 6, 2020

डॉ0 रमेश पोखरियाल ’निशंक’ ने पब्लिक रिलेशंस सोसायटी ऑफ इण्डिया के ’विजय भारत अभियान’ का किया शुभारम्भ -

Monday, July 6, 2020

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना में गड़बड़ी पर डीएसओ होंगे जिम्मेवार : सीएम त्रिवेंद्र -

Monday, July 6, 2020

सीएम त्रिवेंद्र ने कहा कोविड-19 को लेकर पांच बातों पर विशेष जोर जरूरी, जानिए खबर -

Sunday, July 5, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3124, आज कुल 31 नए मरीज मिले -

Sunday, July 5, 2020

अनुष्का विराट और कोरोना महामारी का समय …… -

Sunday, July 5, 2020

उत्तराखंड : तीन महिलाओं की कोसी नदी में डूबने की खबर, एक महिला का मिला शव -

Sunday, July 5, 2020

जरा हटके : यह शख्स सोने के मास्क का कर रहे उपयोग -

Sunday, July 5, 2020

देहरादून : सिटी बस संघ के 145 चालकों एवं परिचालकों को दिया राशन -

Saturday, July 4, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3093, आज कुल 45 नए मरीज मिले -

Saturday, July 4, 2020

कोरोना की लड़ाई में लगातार सतर्कता जरूरी: सीएम उत्तराखंड -

Saturday, July 4, 2020

आरडी प्रोडक्शन पूरे करेगा मॉडलिंग और एक्टिंग के सपने , जानिए खबर -

Saturday, July 4, 2020

“दिल बेचारा” सुशांत की आखिरी फ़िल्म को लेकर खुलासा -

Saturday, July 4, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3048, आज कुल 64 नए मरीज मिले -

Friday, July 3, 2020

आरटीआई कार्यकर्ता सैफअली सिद्दीकी के पत्र पर राज्य अल्पसंख्यक आयोग ने जांच के आदेश दिए , जानिए खबर -

Friday, July 3, 2020

उत्तराखंड में बने जड़ी बूटी मंडी : डा. राणा -

Friday, July 3, 2020

त्रिवेन्द्र सरकार ने जारी की 11 करोड़, जानिए क्यों -

Friday, July 3, 2020

नैनीताल : सीएम त्रिवेंद्र ने परियोजनाओं का किया लोकार्पण व शिलान्यास

नैनीताल/देहरादून । वैदिक मंत्रों के बीच मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिह रावत ने कलैक्टेट प्रांगण में आयोजित भव्य कार्यक्रम के दौरान जिला कार्यालय मुख्य द्वार से कैम्प कार्यालय की ओर जाने वाले मार्ग पर आगमन तथा म्यूरल का अनावरण किया, उन्होने स्वयं सहायता समूह के सुढरीकरण हेतु निर्मित हिलांस आउटलैट, दिव्यांग एवं वृद्वजनों के जनसेवार्थ स्थापित लिफ्ट चेयर, विधानसभा नैनीताल क्षेत्र की 12 विकास परियोजनाओं लागत 26.96 करोड का लोकार्पण तथा 33 विकास परियाजनाओं लागत 61.18 करोड का शिलान्यास किया।कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ने जनशिकायतों के समाधान हेतु संतुष्टि पोर्टल, आशा कार्यकत्रियों के कार्यो के सापेक्ष की प्रोत्साहन राशि के भुगतान सम्बन्धी समाधान हेतु तृप्ति पोर्टल का शुभारम्भ किया। उन्होने विद्यालयी बच्चों के नियमित स्वास्थ्य परीक्षण एव उपचार हेतु संचालित आरबीएसके योजना के अनुश्रवण हेतु सूद पोर्टल का शुभारम्भ, नैनीताल नगर के मुख्य नालों तथा नैनीझील के संवेदनशील बिन्दुओं पर कूडेध्मलबे की सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से निगरानी एव अनुश्रवण हेतु रियल टाइम मानिटरिंग सुपरविजन का शुभारम्भ, दूरस्थ क्षेत्रो बेतालधाट एवं ओखलकांडा में संचार चिकित्सकीय उपकरणों के माध्यम से उच्च चिकित्सा सेवायें उपलब्ध कराने हेतु टेली मेडिसन सुविधा का शुभारम्भ, नैनीझील की स्वच्छता एवं नौकायान करने वाले पर्यटकों की सुरक्षा हेतु जिला प्रशासन द्वारा स्वच्छुरक्षित योजनान्तर्गत झील मे राहत एवं बचाव उपकरणों युक्त तैनात 02 नौकाओं का लोकार्पण, नैनीताल की दूरस्थ प्रशासनिक इकाईयों कोश्याकुटौली तथा धारी को वीडियोकांफ्रेसिंग सुविधायुक्त करना तथा मातृत्व एवं शिशु विकास सुद्ढीकरण हेतु 08 प्रसव केन्द्र तथा 04 आशाघर का शुभारम्भ किया।अपने सम्बोधन में मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिह रावत ने कहा कि जिलाधिकारी नैनीताल सविन बंसल ने जो स्वास्थ्य, बेटी बचाओ बेटी पढाओं तथा शिक्षा के क्षेत्र मे जो अद्वितीय कार्य किये है सरकार उसकी प्रशंसा करती है। उन्होने कहा कि उत्तराखण्ड ने राष्ट्रीय फलक पर विकास के मायनो मे एक अलग पहचान बनाई है। उन्होने कहा कि उत्तराखण्ड  की कल्पना नैनीताल व मंसूरी के बगैर नही की जा सकती। नैनीताल देश की पहली कमिश्नरी है तथा पर्यटक नगरी नैनीताल का भी लगभग 200 वर्ष पुराना इतिहास है। हम झीलों के शहर को तथा झीलों को बचाये रखने के लिए पूरजोर प्रयास कर रहे हैं। उन्होने कहा कि नैनीताल तथा कुमाऊं के घने आबादी वाले शहरो के पेयजल एवं सिचाई की समस्या के लिए जमरानी बांध प्रोजेक्ट पर तेजी से कार्य भारत सरकार द्वारा किया जा रहा है। इसके साथ ही जामरानी क्षेत्र के प्रभावित लोगों को तराई विस्थापित करने की दिशा मे भी तेजी से कार्य किया जा रहा है। अब वो दिन दूर नही कि यहां के वाशिंदो का दशकों पुराना जामरानी बांध प्रोजेक्ट जल्द ही धरातल पर मूर्त रूप लेगा। कोसी बांध पर भी कार्य किये जाने की सरकार की योजना है इससे भी पेयजल की समस्या से निजात मिलेगी।मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि दूरस्थ पर्वतीय इलाको के लोंगो के लिए टेलीमेडिसन सेवा बहुत ही मुफीद है।

राज्य मे निवेशक बढ़ा रहे कदम

इस दिशा मे सरकार प्रयत्नशील है प्रदेश में ऑप्टिकल फाइबर बिछाने का कार्य तेजी से किया है। इस कार्य के पूर्ण होते ही प्रदेश मे कनैक्टिविटी बढेगी और टेलीमेडिसन सेवाओं को नई दिशा मिलेगी।मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार की नीति राज्य मे निवेश को प्रोत्साहित करने की है, पिछले वर्ष अक्टूबर मे पहली बार डेस्टिनेशन उत्तराखण्ड के नाम से इन्वैस्टर्स समिट का आयोजन किया गया। जिसमे 1 लाख 24 हजार करोड के एमओयू साइन किये गये। उन्होने कहा कि उत्तराखण्ड पर्यटन प्रदेश है, पर्यटकों को सुविधाये दिये जाने के उददेश्य से होम स्टे योजना लागू की गई है।

Leave A Comment