Breaking News:

राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री ने नारायण दत्त तिवारी के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया -

Thursday, October 18, 2018

उत्तराखंड : राज्यपाल बेबी रानी मौर्य केदारनाथ धाम में की पूजा-अर्चना -

Thursday, October 18, 2018

अपने जन्मदिन के दिन विकास पुरुष एनडी तिवारी ने ली अंतिम सांस -

Thursday, October 18, 2018

अब उत्तराखंड में भी केशर का उत्पादन हो सकेगा -

Thursday, October 18, 2018

इन्वेस्टर्स समिट के दौरान एमओयू को फॉलो अप करे अधिकारी : मुख्य सचिव -

Thursday, October 18, 2018

नहीं हटाया जाएंगे ‘हाउसफुल 4’ से नाना पाटेकर के सीन्स ! -

Thursday, October 18, 2018

दशहरे पर रावण दहन शाम 6 बजकर पांच मिनट पर -

Wednesday, October 17, 2018

राज्यपाल ने 101 कन्याओं का पूजन कर अपने हाथों से भोजन परोसा -

Wednesday, October 17, 2018

नगर निकाय चुनावः पत्र बिक्री, प्राप्ति, जांच व चुनाव चिन्ह आवंटन को स्थल हुए निर्धारित -

Wednesday, October 17, 2018

व्यंग्यः हर मानुष को पता चल गया है कि मीटू क्या है…. -

Wednesday, October 17, 2018

रामपाल समेत 15 दोषियों को उम्रकैद -

Tuesday, October 16, 2018

वित्त आयोग की बैठक में अहम निर्णय , जानिए खबर -

Tuesday, October 16, 2018

उत्तराखंड : राज्यपाल ने जरूरतमंद बच्चो एवं वृद्धजन के बीच बिताये समय -

Tuesday, October 16, 2018

दशहरा को लेकर डीएम व एसएसपी ने लिया व्यवस्थाओं का जायजा -

Tuesday, October 16, 2018

सिंधु, साइना डेनमार्क ओपन बैडमिंटन में भारतीय चुनौती संभालेंगी -

Tuesday, October 16, 2018

उत्तराखंड : निकाय चुनाव का मतदान 18 नवंबर को -

Monday, October 15, 2018

व्यंग्यः कितना दर्द दिया मीटू के टीटू ने…..! -

Monday, October 15, 2018

टिहरी गढ़वाल के बंगसील स्कूल में सफाई अभियान की अनोखी पहल -

Monday, October 15, 2018

गडकरी, एम्स डायरेक्टर समेत आठ लोगों के खिलाफ मातृसदन दर्ज कराएगा हत्या का मुकदमा -

Monday, October 15, 2018

साधन विहीन व निर्बल वर्ग के बच्चों को यथा सम्भव पहुंचे सहायता : राज्यपाल -

Monday, October 15, 2018

पॉवर इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों के निर्माण में शक्ति पंप ने रखा कदम

pump

देहरादून। भारत के अग्रणी एनर्जी एफ़ीशिएंट स्टेनलेस स्टील और सोलर इंटीग्रेटेड पंप बनाने वाली शक्ति पम्पस (इंडिया) लिमिटेड जो 110 देशो में अपने उत्पादों को निर्यात करती है, ने शनिवार को पिथमपुर, सेक्टर-3, में अपने पॉवर इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों के निर्माण संयंत्र का उद्घाटन किया। भारत के सभी बड़े सोलर इंटीग्रेटर्स और पॉवर इलेक्ट्रॉनिक्स में अनुसंधान करने वाले पांच आईआईटी के प्रोफ़ेसर इस उद्घाटन में सम्मिलित हुए। शक्ति पंप इंडिया लिमिटेड कृषि, औद्योगिक, घरेलू और बागवानी जैसे विभिन्न क्षेत्रों के पंपिंग समाधान के लिए जाना जाता है। इस नए संयंत्र के माध्यम से कंपनी भारत में निर्मित नए उत्पाद बाज़ार में लाएगी। नई इकाई सौर चलित ड्राइव हाइब्रिड इनवर्टर, मोटर स्टार्टर्स और अन्य पॉवर इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों का निर्माण करेगी। संयंत्र में सालाना 1 लाख वीएफडी और इनवर्टर के निर्माण की क्षमता है। कंपनी इस वित्त वर्ष में 10,000 वीएफडी उत्पादन करके पहले वर्ष में लगभग 10 प्रतिशत क्षमता का उपयोग करने की योजना बना रही है। इस अवसर पर प्रबंध निदेशक, शक्ति पंप (इंडिया) लिमिटेड दिनेश पाटीदार ने बताया -“यह संयंत्र अद्वितीय हैं क्योंकि हमारे पास अनुसंधान और विकास इकाई और उत्पादन इकाई एक ही स्थान पर है। यह अन्य प्रमुख उत्पादकों से अलग है जिनकी डिजाइन इकाई (अनुसन्धान और विकास) और निर्माण अलग अलग स्थानों पर है। नया संयंत्र मध्य भारत में इलेक्ट्रॉनिक और पॉवर इलेक्ट्रॉनिक के क्षेत्र में रोजगार के अवसर भी पैदा करेगा और इस क्षेत्र में कुशल श्रमिकों को भी बढ़ावा देगा।’’ शक्ति पंप का ‘अनुसंधान और विकास’ भारत सरकार, विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय, और वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान विभाग द्वारा मान्यता प्राप्त है। वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान विभाग एवं विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय (भारत सरकार) ने शक्ति पंप को इन हाउस रिसर्च एंड डेवलपमेंट यूनिट के लिए सम्मानित किया।आगे पाटीदार ने बताया- “कंपनी इस नई सुविधा से तीन तरह के उत्पादों का निर्माण करेगीः इलेक्ट्रिक मोटर ड्राइव (वीएफडी) (1-10 एचपी)- विभिन्न प्रकार के मोटर्स के लिए एक सार्वभौमिक ड्राइव श्रृंखला है, इलेक्ट्रॉनिक मोटर स्टार्टर्स (1-100एचपी) – सॉफ्ट स्टार्टर और अन्य डिजिटल स्टार्टर्स, और हाइब्रिड इनवर्टर (1-10 केवीए)। शक्ति पंप द्वारा बनाया गया यह ड्राइव सौर पंपिंग उद्योग, प्रोसेस उद्योग, और कपड़ा उद्योग क्षेत्रों में इस्तेमाल किया जा सकेगा, जहां भी गति नियंत्रण की आवश्यकता होती है जैसे कन्वेयर, एक्सट्रूडर, पंप, पंखे, कंप्रेसर इत्यादि वहां यह उपयोगी सिद्ध होगा।“ वैश्विक चर आवृत्ति ड्राइव बाजार 2016 से 2021 तक 5.94 प्रतिशत के सीएजीआर में बढ़ने का अनुमान है। 2021 तक, यह बाजार कुल 24.8 अरब डॉलर का होगा।

Leave A Comment