Breaking News:

अधिकारियों व कार्मिकों को निरन्तर प्रशिक्षण की जरूरत , जानिए खबर -

Tuesday, December 11, 2018

एनआईटी मामला : हाईकोर्ट ने राज्य,एनआईटी और केंद्र सरकार को जवाब दाखिल करने को कहा -

Tuesday, December 11, 2018

जनसंपर्क और मीडिया लोक कल्याणकारी राज्य की प्रमुख विशेषता : राज्यपाल -

Monday, December 10, 2018

मानव अधिकार दिवस : इस वर्ष 2090 वाद में से 1434 वाद निस्तारित -

Monday, December 10, 2018

एकता कपूर व माही गिल गंगाआरती में हुए शामिल -

Monday, December 10, 2018

एकता कपूर और जितेंद्र हरिद्वार में करेंगे महाआरती , जानिए खबर -

Monday, December 10, 2018

पहल : एक साथ विवाह बंधन में बंधे 21 जोड़े -

Monday, December 10, 2018

सीएम ने की विभिन्न निर्माण कार्यों का शिलान्यास, जानिए खबर -

Sunday, December 9, 2018

पौराणिक मेले हमारी पहचान : सीएम त्रिवेंद्र -

Sunday, December 9, 2018

मैड और एनसीसी की टीम ने रिस्पना को किया साफ़ -

Sunday, December 9, 2018

राष्ट्रीय जनसंपर्क सम्मेलन : हिमालय और गंगा राष्ट्र का गौरव -

Sunday, December 9, 2018

दून नगर निगम बढ़ाएगा हाउस टैक्स, जानिए खबर -

Sunday, December 9, 2018

आईएमए पीओपीः 347 कैडेट बने भारतीय सेना का हिस्सा -

Saturday, December 8, 2018

सीएम त्रिवेंद्र 40वें आॅल इण्डिया पब्लिक रिलेशन्स काॅन्फ्रेंस का किया शुभारम्भ -

Saturday, December 8, 2018

कर्ज से परेशान किसान ने की आत्महत्या की कोशिश, हालत गंभीर -

Saturday, December 8, 2018

सीएम त्रिवेंद्र किये कई घोषणाएं , जानिए खबर -

Saturday, December 8, 2018

‘केदारनाथ’ फिल्म के नाम से ऐतराज: सतपाल महाराज -

Saturday, December 8, 2018

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र करेंगे राष्ट्रीय जनसंपर्क सम्मेलन का शुभारंभ -

Friday, December 7, 2018

सीएम एप ने दिलाई गरीब परिवारों को धुएं से मुक्ति, जानिए खबर -

Friday, December 7, 2018

गावस्कर : विराट नहीं भारत के ओपनर करेंगे सीरीज का फैसला -

Friday, December 7, 2018

पॉवर इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों के निर्माण में शक्ति पंप ने रखा कदम

pump

देहरादून। भारत के अग्रणी एनर्जी एफ़ीशिएंट स्टेनलेस स्टील और सोलर इंटीग्रेटेड पंप बनाने वाली शक्ति पम्पस (इंडिया) लिमिटेड जो 110 देशो में अपने उत्पादों को निर्यात करती है, ने शनिवार को पिथमपुर, सेक्टर-3, में अपने पॉवर इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों के निर्माण संयंत्र का उद्घाटन किया। भारत के सभी बड़े सोलर इंटीग्रेटर्स और पॉवर इलेक्ट्रॉनिक्स में अनुसंधान करने वाले पांच आईआईटी के प्रोफ़ेसर इस उद्घाटन में सम्मिलित हुए। शक्ति पंप इंडिया लिमिटेड कृषि, औद्योगिक, घरेलू और बागवानी जैसे विभिन्न क्षेत्रों के पंपिंग समाधान के लिए जाना जाता है। इस नए संयंत्र के माध्यम से कंपनी भारत में निर्मित नए उत्पाद बाज़ार में लाएगी। नई इकाई सौर चलित ड्राइव हाइब्रिड इनवर्टर, मोटर स्टार्टर्स और अन्य पॉवर इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों का निर्माण करेगी। संयंत्र में सालाना 1 लाख वीएफडी और इनवर्टर के निर्माण की क्षमता है। कंपनी इस वित्त वर्ष में 10,000 वीएफडी उत्पादन करके पहले वर्ष में लगभग 10 प्रतिशत क्षमता का उपयोग करने की योजना बना रही है। इस अवसर पर प्रबंध निदेशक, शक्ति पंप (इंडिया) लिमिटेड दिनेश पाटीदार ने बताया -“यह संयंत्र अद्वितीय हैं क्योंकि हमारे पास अनुसंधान और विकास इकाई और उत्पादन इकाई एक ही स्थान पर है। यह अन्य प्रमुख उत्पादकों से अलग है जिनकी डिजाइन इकाई (अनुसन्धान और विकास) और निर्माण अलग अलग स्थानों पर है। नया संयंत्र मध्य भारत में इलेक्ट्रॉनिक और पॉवर इलेक्ट्रॉनिक के क्षेत्र में रोजगार के अवसर भी पैदा करेगा और इस क्षेत्र में कुशल श्रमिकों को भी बढ़ावा देगा।’’ शक्ति पंप का ‘अनुसंधान और विकास’ भारत सरकार, विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय, और वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान विभाग द्वारा मान्यता प्राप्त है। वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान विभाग एवं विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय (भारत सरकार) ने शक्ति पंप को इन हाउस रिसर्च एंड डेवलपमेंट यूनिट के लिए सम्मानित किया।आगे पाटीदार ने बताया- “कंपनी इस नई सुविधा से तीन तरह के उत्पादों का निर्माण करेगीः इलेक्ट्रिक मोटर ड्राइव (वीएफडी) (1-10 एचपी)- विभिन्न प्रकार के मोटर्स के लिए एक सार्वभौमिक ड्राइव श्रृंखला है, इलेक्ट्रॉनिक मोटर स्टार्टर्स (1-100एचपी) – सॉफ्ट स्टार्टर और अन्य डिजिटल स्टार्टर्स, और हाइब्रिड इनवर्टर (1-10 केवीए)। शक्ति पंप द्वारा बनाया गया यह ड्राइव सौर पंपिंग उद्योग, प्रोसेस उद्योग, और कपड़ा उद्योग क्षेत्रों में इस्तेमाल किया जा सकेगा, जहां भी गति नियंत्रण की आवश्यकता होती है जैसे कन्वेयर, एक्सट्रूडर, पंप, पंखे, कंप्रेसर इत्यादि वहां यह उपयोगी सिद्ध होगा।“ वैश्विक चर आवृत्ति ड्राइव बाजार 2016 से 2021 तक 5.94 प्रतिशत के सीएजीआर में बढ़ने का अनुमान है। 2021 तक, यह बाजार कुल 24.8 अरब डॉलर का होगा।

Leave A Comment