Breaking News:

सफाई कार्मिकों को किया पुरस्कृत, जानिए खबर -

Tuesday, April 7, 2020

फूल उगाने वाले किसानों के चेहरे मुरझाए, जानिए खबर -

Tuesday, April 7, 2020

हेल्प मी वेलफेयर सोसायटी ने गरीबों की मदद किये -

Tuesday, April 7, 2020

उत्तराखंड में पांच और कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आए, संक्रमित मरीजों की संख्या हुई 31 -

Monday, April 6, 2020

सीएम ने उत्तराखंड के जवानों की शहादत को नमन किया -

Monday, April 6, 2020

उत्तराखंड : मुख्यमंत्री कैम्प कार्यालय में बेहतर समन्वय के लिए बनाया गया कंट्रोल रूम -

Monday, April 6, 2020

पौड़ी : पाबौ में चट्टान से गिरने से महिला की मौत -

Monday, April 6, 2020

जुबिन नौटियाल ने ऑनलाइन शो से कोरोना फाइटर्स को कहा थैंक्यू -

Monday, April 6, 2020

अनूप नौटियाल व डा. दिनेश चौहान रहे कोरोना वाॅरियर -

Monday, April 6, 2020

पहल : देहरादून में 7745 भोजन पैकेट वितरित किये गये -

Sunday, April 5, 2020

सीएम त्रिवेन्द्र ने परिवार संग दीप जला कर हौसला बढाने का दिया सन्देश -

Sunday, April 5, 2020

उत्तराखंड में चार और कोरोना पाॅजीटिव मामले सामने आए, संख्या 26 हुई -

Sunday, April 5, 2020

दुःखद : जंगल की आग में जिंदा जली दो महिलाएं -

Sunday, April 5, 2020

आम आदमी की रसोईः जरूरतमंदों को दे रही भोजन और राशन -

Sunday, April 5, 2020

5 अप्रैल को रात 9 बजे 9 मिनट के लिए अपने घरों में लाईट बंद कर दीपक जलाए : सीएम त्रिवेंद्र -

Saturday, April 4, 2020

लापता व्यक्ति का शव पाषाण देवी के मंदिर पास झील से बरामद हुआ -

Saturday, April 4, 2020

देहरादून : स्वयंसेवी संस्थाओं के सहयोग से 9482 भोजन पैकेट वितरित किये गये -

Saturday, April 4, 2020

उत्तराखंड में कोरोना पॉजिटिव मामलों की संख्या हुई 22 -

Saturday, April 4, 2020

सोशियल पॉलीगोन ग्रुप ऑफ कंपनी ने मुख्यमंत्री राहत कोष में 5 लाख का चेक दिया -

Saturday, April 4, 2020

लॉकडाउन : रचायी जा रही शादी पुलिस ने रुकवाई, 15 लोगों पर मुकदमा दर्ज -

Friday, April 3, 2020

प्रधानमंत्री के स्वच्छता मिशन को लगा रहे पलीता, गंगा के किनारों पर पसरी गंदगी

हरिद्वार । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पहला कार्यकाल खत्म होने को है। स्वच्छता को लेकर प्रधानमंत्री ने आखिर क्या क्या नहीं किया पर लोग है की मानाने को तैयार ही नहीं है। इतना ही नहीं आम जनमानस की बात एक बार समझ में आती है की कुछ तो मजबूरी रही होंगी ,पर नगर निगम क्या मजबूरी है यह तो उसके अधिकारी या फिर कर्मचारी ही अच्छी तरह से बता सकते है। सफाई को लेकर नव नियुक्त मेयर अनीता शर्मा जब से मेयर बानी है तभी से रोना रो रही है कि उनकी निगम में कोई अधिकारी सुनता ही नहीं है। जी हाँ ,जिसका जीता जागता उदहारण है ज्वालापुर रेलवे लालपुल के पास। जिसे देखकर आप खुद ही अंदाजा लगा सकते है। ज्वालापुर रेलवे लालपुल के आसपास गंगा किनारे भारी मात्रा में गंदगी पसरी हुई है। गंगा में भारी मात्रा में कूड़ा करकट फेंका जा रहा है। पुल जटवाड़ा के घाटों पर गंदगी के ढेर लगे हुए हैं। कांवड़ पटरी मार्ग का भी बुरा हाल है। गंगा सफाई का दम भरने वाली संस्थाएं इस और कोई ध्यान नहीं दे रही हैं। गंगा किनारे भारी मात्रा में आसपास का कूड़ा फेंका जा रहा है। शासन प्रशासन भी इस और कोई ध्यान नहीं दे रहा है। स्थानीय लोगों का कहना है कि रेलवे लाल पुल से लेकर जटवाड़े पुल तक गंगा किनारे भारी मात्रा में कूड़ा करकट फेंका जा रहा है। गंदगी गंगा में समाहित की जा रही है। कुछ लोगों का यह भी कहना है कि गंगा किनारे सुबह के समय मल मूत्र भी त्यागा जा रहा है। कुछ लोगों द्वारा गंगा घाटों पर कपड़े भी धोए जा रहे हैं। व्यापारी विपिन गुप्ता का कहना है कि शासन प्रशासन को इस और अपना ध्यान आकर्षित करना चाहिए। जबकि हमारे द्वारा बाल्मिकि घाट पर सफाई अभियान चलाया जाता है। लेकिन कुछ असामाजिक तत्व गंगा घाटों पर देर रात्रि में कूड़ा करकट फेंक जाते हैं। नगर निगम भी इस और कोई ध्यान नहीं दे पा रहा है। भारी मात्रा में गंदगी गंगा के किनारों पर फेंकी जा रही है। रिहाईशी क्षेत्रों का कूड़ा करकट भी गंगा में ही फेंका जा रहा है। बीइंग भगीरथ के संयोजक शिखर पालीवाल ने कहा कि रेलवे लाल पुल से लेकर जटवाड़ा पुल तक वृहद स्तर पर सफाई अभियान के साथ-साथ जनजागरूकता अभियान चलाया जाएगा। साथ ही गंगा किनारे रह रहे लोगों को भी जागरूक कर गंगा में गंदगी ना फेंकने की अपील भी की जाएगी। बीइंग भगीरथी की टीम साप्ताहित सफाई अभियान चलाकर गंगा को प्रदूषण मुक्त करने में जुटी हुई है। लेकिन कुछ लोगों द्वारा गलत तरीके से कूड़ा करकट गंगा में फेंका जाना गलत है। गंगा हमारी आस्था की पहचान है। सभी को मिलजुल कर गंगा घाटों को स्वच्छ सुन्दर रखना चाहिए। जबकि जटवाड़ा पुल के गंगा किनारों पर गंदगी ना करने की अपील भी साईन बोर्डो द्वारा की जाती है। उसके बावजूद भी कुछ लोग गंदगी को गंगा के किनारों पर ही फेंक रहे हैं।

Leave A Comment