Breaking News:

किन्नरों ने लोगों को भोजन, राशन वितरित किया -

Thursday, April 2, 2020

3 अप्रैल से बैंक सुबह 8 से अपरान्ह 1 बजे तक खुले रहेंगे -

Thursday, April 2, 2020

पहल : तीन बेटियों ने डेढ़ सौ परिवारों के पास घर-घर पहुंचाया खाने का सामान -

Thursday, April 2, 2020

हम सब उत्तराखंड पुलिस को सहयोग करे: दीपक सक्सेना -

Thursday, April 2, 2020

लोगों को अधिक से अधिक जागरूक किया जाए : सीएम त्रिवेन्द्र -

Thursday, April 2, 2020

डीडी उत्तराखंड का प्रसारण 24 घंटे का हुआ -

Wednesday, April 1, 2020

फेक न्यूज या गलत जानकारी देने पर प्रशासन द्वारा होगी कानूनी कार्रवाई -

Wednesday, April 1, 2020

लाकडाऊन के दौरान रखे संयम: पीआरएसआई देहरादून चैप्टर -

Wednesday, April 1, 2020

लॉकडाउन : डीएम के आदेश को रखा ठेंगे पर, जानिए खबर -

Wednesday, April 1, 2020

मुंबई की सड़कों पर खाना बाँटते नज़र आये अली फजल, जानिए कैसे -

Wednesday, April 1, 2020

कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष पद की अपवाह से तूफान, जानिए खबर -

Tuesday, March 31, 2020

आकाश इंस्टीट्यूट ने कोरोना वायरस से मुकाबले को केंद्र सरकार को एक करोड़ रु की सहायता दी -

Tuesday, March 31, 2020

हजारों ई-बुक फ्री में उपलब्ध करने की घोषणा, जानिए खबर -

Tuesday, March 31, 2020

सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन कराया जाए : सीएम त्रिवेन्द्र -

Tuesday, March 31, 2020

सीएम त्रिवेंद्र पांच माह का देंगे वेतन , जानिए खबर -

Tuesday, March 31, 2020

मजदूर और मजबूर : 58 ठेकेदारों के खिलाफ एफआईआर दर्ज -

Monday, March 30, 2020

कोरोना से बचाव कार्यों में कार्यरत 68457 कार्मिकों को मिलेगा 4-4 लाख का बीमा लाभ -

Monday, March 30, 2020

प्रधानमंत्री राहत कोष में यह कम्पनी देगी 25 करोड़ , जानिए खबर -

Monday, March 30, 2020

कोरोना : नैनीताल के 33 होटलों एवं केएमवीएन के पर्यटक आवास गृहोें का हुआ अधिग्रहण -

Monday, March 30, 2020

उत्तराखंड : निजी अस्पतालों और नर्सिंग होम में ओपीडी खुली रहेगी -

Monday, March 30, 2020

फील्ड कर्मचारियों की 15 सितम्बर तक छुट्टियों पर रोक

uk

मीडिया सेंटर, सचिवालय में आयोजित प्रेस वार्ता में सचिव आपदा प्रबंधन अमित नेगी ने बताया कि प्रदेश में भारी बारिश को देखते हुए शासन प्रशासन अलर्ट है। हालांकि वर्तमान में स्थिति सामान्य है। मुख्यमंत्री व मुख्य सचिव सहित विभिन्न स्तरों पर लगातार समीक्षाएं करते हुए सभी आवश्यक तैयारियां की गई हैं। प्रदेश में विभिन्न मार्गों पर भूस्खलन की दृष्टि से अति संवेदनशील क्षेत्रों को चिन्हित करते हुए आवश्यक संख्या में जेसीबी, पाॅकलैंड मशीनें मेनपावर सहित तैनात की गई हैं। ताकि कहीं भी मार्ग बाधित होने पर तुरंत खोला जा सके। जेई, एई व इन जेसीबी मशीनों के ड्राईवरों के मोबाईल नम्बर जिला आपदा प्रबंधन केंद्रों व संबंधित तहसीलों में उपलब्ध करवाए गए हैं। बारिश को देखते हुए फील्ड कर्मचारियों की 15 सितम्बर तक छुट्टियों पर रोक है। आपदा प्रबंधन से जुड़े सभी संबंधित अधिकारियों व कर्मचारियों को अलर्ट पर रखा गया है। सेना, आईटीबीपी, बीआरओ व अन्य एजेंसियों के साथ समन्वय बनाया गया है। राजमार्गों पर जहां क्रानिक लैंडस्लाईड जोन चिन्हित किए गए हैं, वहां वैकल्पिक ट्रेक रूट भी बनाए गए हैं। दोनों तरफ वाहनों की व्यवस्था करते हुए ट्रांसशिपमेंट की भी तैयारी है। चार धाम यात्रा मार्ग पर शेल्टर पाॅइन्ट चिन्हित हैं जहां आवश्यक होने पर यात्रियों को सुरक्षित रोका जा सके। तहसील स्तर तक आपदा राहत हेतु आवश्यक उपकरण आवश्यक संख्या में उपलब्ध हैं। कैलाश मानसरोवर यात्रा में जाने वाले सभी यात्री पूरी तरह से सुरक्षित हैं। हमारी कोशिश है कि किसी भी परिस्थिति में सूचना व संचार तंत्र बरकरार रहे। उत्तराखण्ड उन राज्यों में है, जहां आपदा प्रबंधन के लिए सर्वाधिक संख्या में सैटेलाईट फोन उपयोग किए जा रहे हैं। हमारे पास इस समय 74 सैटेलाईट फोन है, जो कि जिलाधिकारियों को उपलब्ध कराए गए हैं। दो हेलीकाप्टर की व्यवस्था की जा रही है। इनमें से एक हेलीकाप्टर गढ़वाल के लिए व 1 हेलीकाप्टर कुमायूं के लिए होगा। सभी दूरस्थ क्षेत्रों में तीन माह के लिए आवश्यक राशन व अन्य सामग्री का प्र्याप्त स्टाॅक मौजूद है। राज्य में 31 स्थानों पर एसडीआरएफ की टीमें पहले ही तैनात की जा चुकी हैं। दूरस्थ चैकियों में तैनात लगभग 7500 पुलिसकर्मियों को आपदा प्रबंधन का प्रशिक्षण दिया जा चुका है। वालन्टियर्स को भी सक्रिय किया जा चुका है। प्रेस वार्ता में सचिव सूचना डाॅ. पंकज पाण्डे, आईजी एसडीआरएफ संजय गुन्ज्याल, अपर सचिव आपदा प्रबंधन सविन बंसल मौजूद थे ।

Leave A Comment