Breaking News:

उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिलाए सम्मानित , जानिए खबर -

Monday, June 24, 2019

राजकीय अस्पताल अटाल में दो वर्षों से डाक्टर नहीं , जानिए खबर -

Monday, June 24, 2019

संस्कृत में ज्ञान व विज्ञान का अपार भंडार समाहितः आचार्य बालकृष्ण -

Monday, June 24, 2019

विस सत्र का पहला दिन , जानिए खबर -

Monday, June 24, 2019

देहरादून डब्लूआईसी इंडिया टोस्टमास्टर्स क्लब ने आयोजित की 200वीं बैठक -

Sunday, June 23, 2019

चोराबाड़ी में नहीं बनी है कोई झील : जिला प्रशासन -

Sunday, June 23, 2019

केदारबद्री धाम : डेढ़ माह के भीतर पहुंचे सात लाख पैंतीस हजार से ज्यादा यात्री -

Sunday, June 23, 2019

राज्यों के स्थानीय उत्पाद मिड डे मील में हो सम्मिलित : मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र -

Sunday, June 23, 2019

विपक्ष सत्र शांतिपूर्ण ढंग से संचालन में करें सहयोग : मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र -

Sunday, June 23, 2019

रिस्पना, बिंदाल और सुसवा नदियों का पानी विषाक्त पदार्थों से भरा : स्पेक्स -

Saturday, June 22, 2019

रावण गैंग के तीन शार्प शूटर देहरादून से गिरफ्तार -

Saturday, June 22, 2019

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल सीएम त्रिवेंद्र का शिष्टाचार भेंट -

Saturday, June 22, 2019

गुप्ता बंधु के बेटे के शादी में पहुँचे सीएम त्रिवेंद्र, अजय भट्ट, रामदेव -

Saturday, June 22, 2019

शादी में शामिल होने के लिए औली पहुंचे सिद्धार्थ -

Saturday, June 22, 2019

डब्लूआईसी इंडिया ने मनाया गया अंतर्राष्ट्रीय योग एवं विश्व संगीत दिवस -

Friday, June 21, 2019

बीएड टीईटी प्रशिक्षितों ने अपनी मांगो को लेकर किया धरना-प्रदर्शन -

Friday, June 21, 2019

एयरटेल पेमेंट्स बैंक ने ग्राहकों के लिए ‘अटल पेंशन योजना’ लॉन्च की -

Friday, June 21, 2019

पाँचवें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर पतंजलि के साथ पूरे विश्व ने लिया योग का लाभ -

Friday, June 21, 2019

सीएम त्रिवेंद्र ने हजारों योग साधकों के साथ किया योगा -

Friday, June 21, 2019

औली में 101 ब्राह्मणों ने संपन्न कराई शाही शादी, जानिए खबर -

Thursday, June 20, 2019

फुटपाथ पर रहने वाले बच्चे निकालते हैं अखबार, चार राज्यों में इनका है नेटवर्क

balaknama

यह खबर आप को चौका देगी लेकिन यह सत्य है साथ ही साथ आप कभी नहीं सुना होगा की बच्चे अपना खुद का अखबार भी चलाते हों? मगर ऐसा दिल्ली में कुछ बच्चे खुद रिपोर्टिंग कर अपना खुद का अखबार चलाते हैं. दिल्ली क गौतम नगर में कुछ बच्चे अपना खुद का अखबार ‘बालकनामा’ नामक नाम से चलाते है| विदित हो की यह अखबार पूरी तरह बच्चों के लिए ही है | इसकी शुरुआत सन 2003 में हुई थी | इससे आश्चर्य की बात यह है की इस अखबार की रिपोर्टर कोई खास बच्चे नहीं, बल्कि सड़कों पर काम करने वाले बच्चे ही करते है | ये वो बच्चे हैं जिनके मां-बाप मजदूरी करके अपना घर चलाते हैं. और ये बच्चे भी मजदूरी करके अपने मां-बाप का हाथ बंटाते थे | मगर अब ये बच्चे रिपोर्टर है. 8 पेज के इस अखबार की कीमत महज दो रुपये हैं. इसकी खास बात ये है की इसमें जिस भी रिपोर्टर की ऊम्र 18 साल से ज्यादा होती है, वो अखबार का सलाहकार बन जाता है | महीने भर की मेहनत के बाद अखबार की 8000 प्रतियां छापी जाती हैं, जो कि दिल्ली के कई अलग-अलग इलाकों में बांटी जाती हैं | ये बच्चे अपना ग्रुप बनाकर निकल पड़ते हैं अपना अखबार बांटने. कभी किसी होटल में तो कभी किसी पार्क में. कोई इस अखबार के बारे में नहीं जानता हैं, तो ये बच्चे खुद ही अपने अखबार के बारे में बतलाते है | यह भी है की इस अखबार को छापने के लिए चेतना नाम का एनजीओ इनकी मदद करता है |आज बालकनाम का नेटवर्क देश के चार राज्यों में फैला हुआ है जिनमे मध्य प्रदेश, बिहार, यूपी और हरियाणा है वर्तमान में बालकनामा से 10,000 बच्चे जुड़े हुए हैं |

Leave A Comment