Breaking News:

सीएम ने की विभिन्न निर्माण कार्यों का शिलान्यास, जानिए खबर -

Sunday, December 9, 2018

पौराणिक मेले हमारी पहचान : सीएम त्रिवेंद्र -

Sunday, December 9, 2018

मैड और एनसीसी की टीम ने रिस्पना को किया साफ़ -

Sunday, December 9, 2018

राष्ट्रीय जनसंपर्क सम्मेलन : हिमालय और गंगा राष्ट्र का गौरव -

Sunday, December 9, 2018

दून नगर निगम बढ़ाएगा हाउस टैक्स, जानिए खबर -

Sunday, December 9, 2018

आईएमए पीओपीः 347 कैडेट बने भारतीय सेना का हिस्सा -

Saturday, December 8, 2018

सीएम त्रिवेंद्र 40वें आॅल इण्डिया पब्लिक रिलेशन्स काॅन्फ्रेंस का किया शुभारम्भ -

Saturday, December 8, 2018

कर्ज से परेशान किसान ने की आत्महत्या की कोशिश, हालत गंभीर -

Saturday, December 8, 2018

सीएम त्रिवेंद्र किये कई घोषणाएं , जानिए खबर -

Saturday, December 8, 2018

‘केदारनाथ’ फिल्म के नाम से ऐतराज: सतपाल महाराज -

Saturday, December 8, 2018

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र करेंगे राष्ट्रीय जनसंपर्क सम्मेलन का शुभारंभ -

Friday, December 7, 2018

सीएम एप ने दिलाई गरीब परिवारों को धुएं से मुक्ति, जानिए खबर -

Friday, December 7, 2018

गावस्कर : विराट नहीं भारत के ओपनर करेंगे सीरीज का फैसला -

Friday, December 7, 2018

मीका सिंह को छेड़छाड़ मामले में कोर्ट में पेश किए जाएंगे -

Friday, December 7, 2018

सड़क पर बच्चे का जन्म, जानिए खबर -

Friday, December 7, 2018

गन्ना किसानों का बकाया भुगतान जल्द, जानिए खबर -

Friday, December 7, 2018

फैशन में करियर की अपार संभावनाएंः पूर्व मिस इंडिया इको ख्याती -

Thursday, December 6, 2018

उत्तराखंड : 1111 पुरूष व महिला होमगार्डस की नई भर्तियां जल्द -

Thursday, December 6, 2018

उत्तराखंड : जिलाधिकारियों के पाले में केदारनाथ फिल्म की रिलीज -

Thursday, December 6, 2018

गौतम गंभीर कोटला पर आखिरी बार थामेंगे बल्ला -

Thursday, December 6, 2018

फुटपाथ पर लोगों का फ्री इलाज करते है डॉक्टर अजीत

pehchan

कानपुर | उम्र कोई भी हो यदि सम्माज की सेवा करनी है तो करनी है यह जज्बा कायम किया है फुटपाथ पर लोगों का फ्री इलाज करने वाले डॉ अजीत ने | यही नहीं इन डॉक्टर को प्रधानमंत्री ने मन की बात में फुटपाथ पर लोगों का फ्री इलाज करने वाले डॉक्टर का जिक्र भी किया है, उनकी कहानी काफी प्रेरणादायक है। एमडी करने के बाद 1980 से प्रैक्टिस शुरू करने वाले डॉ अजीत मोहन चौधरी पिछले एक महीने से चकेरी के चेतना चौराहे पर रोज एक घंटे गरीबों का इलाज करते हैं। डॉ अजीत कहते हैं, मैंने सारी दुनिया घूम ली। पारिवारिक जिम्मेदारियां पूरी हो गईं। ऐसे में कोई ख्वाहिश नहीं बची। उनके इस सेवा भाव की खबर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लगी तो उन्होंने डॉक्टर के बारे में प्रशासन से पूरी डिटेल मंगवाई और रविवार को मन की बात कार्यक्रम में उनकी प्रशंसा की।पिछले एक महीने से वह रोज चकेरी के चेतना चौराहे पर लोगों को सुबह 10-11 के बीच देखते हैं। यहां गरीबों और असहाय लोगों का मुफ्त इलाज करते हैं। उनके पास इलाज के लिए हर तरह के मरीज आते हैं। उन्हें देखने के बाद वह फ्री में सैंपल की दवाएं भी देते हैं। अगर उनकी स्थिति गंभीर होती है तो उन्हें तत्काल सही रास्ता बताते हैं। इतना ही नहीं वह जहां बैठकर इलाज करते हैं वहां वह एक दान पात्र भी रखते हैं। इस पर उन्होंने शहीद सैनिकों के परिवार के लिए दान लिखकर रखा है। डॉ अजीत कहते हैं कि हर शख्स की जिम्मेदारी है कि वह समाज और गरीबों के लिए कुछ करे। उन्नाव के मूल निवासी डॉ. अजीत मोहन चौधरी का जन्म कानपुर में हुआ था। उनके पिता राजेंद्र शंकर चौधरी की गिनती कानपुर के नामी क्रिमिनल लॉयर्स में होती थी। डॉ अजीत ने 1977 में बिहार से एमबीबीएस और कानपुर से एमडी किया। 1980 में प्रैक्टिस शुरू की और चकेरी एरिया में अपना एक नर्सिंग होम खोला। डॉ अजीत 67 साल के हो चुके हैं, वह बताते हैं क‍ि, मेरे बच्चों के सेटल होने के बाद कोई जिम्मेदारी नहीं बची। ऐसे में सोचा कि गरीबों के लिए कुछ किया जाए।

Leave A Comment