Breaking News:

देहरादून में वेब मीडिया के पत्रकार आये एक फोरम में , जानिए खबर -

Sunday, July 21, 2019

एक प्रयास से कचरे का ढेर बना , 2 एकड़ का खूबसूरत पार्क -

Sunday, July 21, 2019

15 दिनों के भीतर हिमा दास ने किया कमला , जीता चौथा गोल्ड मेडल -

Saturday, July 20, 2019

नगर निगम के अब नही काटने पड़ेंगे माता-पिता को चक्कर , जानिए ख़बर -

Saturday, July 20, 2019

पश्चिमी यूपी से आ रहे अपराधियों को रोकना पुलिस के लिए बड़ी चुनौती -

Saturday, July 20, 2019

समाजिक आर्थिक उन्नयन से आयेगी समाज में जागृति : मुख्यमंत्री -

Saturday, July 20, 2019

सीएम त्रिवेंद्र ने फ्री मेडिकल कैम्प का किया शुभारंभ -

Saturday, July 20, 2019

जानी-मानी पॉलिटिशन के निधन पर बॉलिवुड में शोक -

Saturday, July 20, 2019

परिवहन के क्षेत्र में जनता के प्रति सीएम त्रिवेंद्र रहे अटल -

Friday, July 19, 2019

जल संरक्षण सरकार की प्राथमिकताः सीएम त्रिवेंद्र -

Friday, July 19, 2019

होम स्टे योजना की जानकारी देने दूरस्थ गांव पहुंचे डीएम -

Friday, July 19, 2019

पांचवे देहरादून इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल के प्रवेश आमंत्रण, जानिए खबर -

Friday, July 19, 2019

हिमालयन कान्क्लेवः हिमालयी राज्यों के प्रतिनिधि अपने अनुभवों को करेंगे साझा : सीएम -

Friday, July 19, 2019

गरीब छात्रों की मदद के लिए किताबें एकत्र करता है यह युवक -

Friday, July 19, 2019

रिलीज के कुछ घंटे बाद ऑनलाइन लीक हो गई ‘द लॉयन किंग’ , जानिए ख़बर -

Friday, July 19, 2019

बच्चों के जन्म एवं विवाह पर पौधे अवश्य लगाए : वन मंत्री हरक सिंह -

Thursday, July 18, 2019

स्नातकोत्तर महाविद्यालय ऋषिकेश को विवि का परिसर बनाने को मिली हरी झंडी -

Thursday, July 18, 2019

एसीजेएम अनुराधा गर्ग हुई बर्खास्त , जानिए खबर -

Thursday, July 18, 2019

समाज में महिलाओं को हुनरमंद बनाया जाना समय की जरूरत : मुख्यमंत्री -

Thursday, July 18, 2019

सिंधु की क्वॉर्टर फाइनल में एंट्री, जानिए ख़बर -

Thursday, July 18, 2019

फेक आईडी के प्रति रहें सचेतः डीआईजी

Social-Media

देहरादून। क्राइम ब्रांच, क्राइम इंवेस्टिगेशन डिपार्टमेंट (सीबीसीआइडी) के डीआइजी पुष्पक ज्योति ने कहा कि बाहर से आ रहे अनजान, अजनबी लोगों के सत्यापन में विभिन्न स्तर पर बरती जा रही कोताही ने बुजुर्गों, महिलाओं और बच्चों के प्रति भी अपराध को बढ़ावा दिया है। इससे पुलिस के सामने महिलाओं, बच्चों और बुजुर्गों की सुरक्षा के मद्देनजर भी चुनौती बढ़ी है। पुलिस खासकर महिलाओं, बच्चों और बुजुर्गों के प्रति होने वाले अपराध के प्रति बेहद गंभीर रहती है। दून शहर में महिलाएं देर रात तक बाजार में खरीदारी करते, घूमते और गली मोहल्लों में बेखौफ टहलती नजर आती हैं, पुलिस की सक्रियता और पुलिस पर लोगों का ऐतबार भी कहीं न कहीं इसकी एक वजह है। हालांकि, यह भी जरूरी है कि सुरक्षा और अपराध को लेकर आमजन भी सतर्क रहें। महिला सुरक्षा के मुद्दे पर डीआईजी पुष्पक ज्योति कहते हैं कि बदलते परिवेश में महिलाओं के प्रति हिंसा और अपराध में बढ़ोतरी हुई है। आपराधिक तत्वों से निपटने को पुलिस चैबीसों घंटे तत्पर रहती है। महिलाओं को भी खुद की सुरक्षा के प्रति सतर्क रहने की जरूरत है। उन्होंने महिलाओं से यह भी अपील की कि संदिग्ध नजर आने वाले व्यक्तियों, आपराधिक तत्वों के प्रति सतर्क रहें और इस तरह के लोगों के खिलाफ दृढ़ता दिखाएं। घर या बाहर किसी की भी हरकत संदिग्ध लगने पर शोर मचायें और पुलिस को सूचित करें। अकेले होने पर साथ में लाल मिर्च का पाउडर जरूर रखें, छेड़छाड़ या दूसरी तरह का अपराध करने वाले की मंशा को भांपते हुए आपराधिक तत्वों की आंखों में मिर्च फेंक दें। उन्होंने कहा कि घर में अकेले होने पर किसी अजनबी मैकेनिक, बिजली, टीवी, पानी का कनेक्शन या दूसरे किसी यंत्र की रिपेयरिंग करने वालों, बिजली मीटर रीडर और अन्य अनजान व्यक्तियों को अंदर न आने दें। मीटर रीडर आदि का आईकार्ड मांगकर उसे जरूर जांच-परख लें। घर या बाजार से ऑटो या टैक्सी कर रहे हों तो चालक का फोटो और वाहन नंबर अपने परिचितों को वाट्स ऐप कर लें। इस बात का आभास वाहन चालक को जरूर करा दें, ताकि वह कोई अपराध करने की सोच रहा हो तो इसकी हिम्मत ही न जुटा पाए। डीआईजी पुष्पक ज्योति ने कहा कि आजकल फेक आईडी से भी कुछ लोग युवतियों-महिलाओं को अपने जाल में फंसा रहे हैं। महिलाओं-युवतियों के प्रोफाइल या अन्य छद्म नामों से फेक आईडी बनाकर तमाम पुरुष उनसे दोस्ती गांठकर अपराध करते हैं। उनका कहना कि अजनबियों से भी फेसबुक, वाट्स ऐप या अन्य सोशल मीडिया पर नजदीकी न बढ़ाएं। आपराधिक और विकृत मानसिकता वाले व्यक्ति बच्चों को अपना सॉफ्ट टारगेट बनाते हैं। ऐसे में बच्चों को अपराध और अपराधियों से बचाने के लिए सबसे ज्यादा भूमिका माता-पिता और अन्य अभिभावकों की हो जाती है। घर से लेकर स्कूल तक बच्चों की सुरक्षा के जरूरी कदम उठाएं। पुलिस ने भी प्रदेश भर की तरह दून शहर के भी तमाम स्कूलों के प्रबंधन के साथ बैठक कर बच्चों की सुरक्षा व्यवस्था पर जरूरी दिशा निर्देश दिए हैं।

Leave A Comment