Breaking News:

गैरसैण बनेगी ई-विधानसभा : सीएम त्रिवेंद्र -

Friday, June 5, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1215 , ठीक हुए मरीजो की संख्या हुई 344 -

Friday, June 5, 2020

“उत्तराखंड की शान भैजी विरेन्द्र सिंह रावत” ऑडियो वीडियो का हुआ शुभारम्भ -

Friday, June 5, 2020

डेंगू से बचाव के लिए जागरूकता जरूरी -

Friday, June 5, 2020

कोरोना से बचे : कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1199, देहरादून में 15 नए मामले मिले -

Friday, June 5, 2020

7 जून से “एसपीओ” द्वारा राष्ट्रीय ऑनलाइन योगा प्रतियोगिता का आयोजन -

Friday, June 5, 2020

उत्तराखंड : 10वीं च 12वीं की शेष परीक्षाएं 25 जून से पहले होंगी -

Friday, June 5, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1153 आज 68 नए मरीज मिले -

Thursday, June 4, 2020

पांच जून को अधिकांश जगह बारिश की संभावना -

Thursday, June 4, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1145 -

Thursday, June 4, 2020

जागरूकता और सख्ती पर विशेष ध्यान हो : सीएम त्रिवेंद्र -

Thursday, June 4, 2020

दुःखद : बॉलीवुड कास्टिंग निदेशक का निधन -

Thursday, June 4, 2020

वक्त का फेर : चैम्पियन तीरंदाज सड़क पर बेच रही सब्जी -

Thursday, June 4, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या 1085 हुई , 42 नए मरीज मिले -

Wednesday, June 3, 2020

अभिनेत्री ने जहर खाकर की खुदकुशी, जानिए खबर -

Wednesday, June 3, 2020

मुझे बदनाम करने की साजिश : फुटबॉल कोच विरेन्द्र सिंह रावत -

Wednesday, June 3, 2020

मोदी 2.0 : पहले साल लिए गए कई ऐतिहासिक निर्णय -

Wednesday, June 3, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या 1066 हुई -

Wednesday, June 3, 2020

सराहनीय पहल : एक ट्वीट से अपनों के बीच घर पहुंचा मानसिक दिव्यांग मनोज -

Tuesday, June 2, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1043 -

Tuesday, June 2, 2020

बाल मजदूरी करानें वालों को कानून का नही रहा भय

13gpl1-c-3

देहरादून। बच्चों का भविष्य राष्ट्र निर्माण में एक अहम योगदान रखता हैं बच्चों से ही आने वालें समय में देश का दिशा एवं दशा तय होता हैं लेकिन पूरे देश की बात दूर उत्तराखण्ड़ राज्य में ही अनेक बच्चें से बधुंआ बाल मजदूरी कराया जाता हैं। हाल ही में देहरादून की एक एन.जी.ओ. के माध्यम से देहरादून में दो स्थानों पर एक ओगल (टर्नर रोड़) एवं एक ड़़ी.एल रोड़ देहरादून सी.ड़ब्लू.सी द्वारा छापा मारा गया। सर्वप्रथम ड़ी.एल रोड़ सिथत एक हाँस्टल संचालक के यहाँ एक लड़की को बधुंआ बाल मजदूरी के तहत छापा मारा गया। आश्चर्य हुआ जब संचालक पुलिस एवं सी.ड़ब्लू.सी के सामने ही अपना धौंस दिखाने लगा मैं यहाँ का गुंड़ा हूँ मेरा कोर्इ कुछ नही बिगाड़ पायेगा इससे भी कही ज्यादा आश्चर्य तो तब हुआ जब उल्टा एन.जी.ओ. के सदस्यों को पुलिस कांस्टेबल ही धमकाने लगे। कानून के आड़ में संचालक लड़की को बचा लिया जिससे खानापूर्ति कर मामला वही दब गया इसी तरह आज के समय में दूसरे ओगल टर्नर रोड़ केस में भी सिथति वही की वही रही दोनों बच्चों का भविष्य उड़ान भरनें की दूर की बात बच्चों के भविष्य पर ही प्रश्न चिन्ह लग रहा हैं। ऐसे कैसे बच्चों का जीवन प्रकाशमय बनेगा। इस कानून के द्वारा सजा के पात्र होने चाहिए ऐसे काम करनें वालों पर परन्तु ऐसे लोग इसी कानून के आड़ में बच निकलते हैं।

Leave A Comment