Breaking News:

उत्तराखंड : दुकान खुलने का समय प्रातः 7 बजे से सांय 7 बजे तक हुआ -

Thursday, May 28, 2020

कोरोना कहर : उत्तराखंड में कोरोना मरीजों की संख्या पहुँची 500 -

Thursday, May 28, 2020

टीवी अभिनेत्री का सड़क हादसे में हुई मौत -

Thursday, May 28, 2020

बिहार की बेटी ज्योति के मुरीद हुए विदेशी भी, जानिए खबर -

Thursday, May 28, 2020

मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना’’ का शुभारंभ हुआ -

Thursday, May 28, 2020

उत्तराखंड : कोरोना मरीजो की संख्या हुई 493 -

Thursday, May 28, 2020

उत्तराखंड : मुख्यमंत्री राहत कोष में आज यह दिए दान, जानिए खबर -

Wednesday, May 27, 2020

देहरादून से विशेष ट्रेन द्वारा हज़ारो मजदूर बिहार एंव उत्तर प्रदेश के लिए रवाना, जानिए खबर -

Wednesday, May 27, 2020

उत्तराखंड : कोरोना मरीजो की संख्या हुई 469, आज 69 मरीज मिले कोरोना के -

Wednesday, May 27, 2020

ऋषिकेश-धरासू हाइवे पर 440 मीटर लंबी टनल हुई तैयार, सीएम त्रिवेंद्र ने जताया आभार -

Wednesday, May 27, 2020

कोरोना का कहर : उत्तराखंड में कोरोना मरीज हुए 438 -

Wednesday, May 27, 2020

उत्तराखंड : राज्य में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 401 -

Tuesday, May 26, 2020

“आप” पार्टी से जुड़े कई लोग, जानिए खबर -

Tuesday, May 26, 2020

उत्तराखंड : प्रदेश भाजपा ने विभिन्न समितियों का गठन किया -

Tuesday, May 26, 2020

कोरोना संक्रमित लोगों की जाँच कर रहे अस्पतालो को मिलेगा 50 लाख रूपए की प्रोत्साहन राशि -

Tuesday, May 26, 2020

उत्तराखंड : 51 कोरोना मरीज और मिले, संख्या हुई 400 -

Tuesday, May 26, 2020

नेक कार्य : पर्दे के हीरो से रियल हीरो बने सोनू सूद -

Monday, May 25, 2020

संक्रमण का दौर है सभी जनता अपनी जिम्मेदारियों को समझे : सीएम त्रिवेंद्र -

Monday, May 25, 2020

उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या 349 हुई -

Monday, May 25, 2020

उत्तराखंड : राज्य में कोरोना मरीजो की संख्या 332 हुई -

Monday, May 25, 2020

बाल विवाह से बचकर भागी लड़की, बोर्ड परीक्षा में लाई 90% नंबर

मैसूर | कर्नाटक के मैसूर में बाल विवाह से बचने के लिए अपना घर छोड़कर भागी एक लड़की हाल ही में प्री यूनिवर्सिटी परीक्षा का रिजल्ट घोषित किया गया, अब उसी लड़की ने परीक्षा में 90 पर्सेंट नंबर हासिल किए हैं। चिक्काबल्लापुरा जिले के कोत्तुरु गांव की रेखा वी 18 साल की हैं और आईएएस अधिकारी बनना उनका सपना है। जानकारी के मुताबिक, दो साल पहले रेखा ने 10वीं की बोर्ड परीक्षा में 74 पर्सेंट नंबर हासिल किए थे। घरों में नौकरानी का काम करने वाली उनकी मां ने रेखा पर दबाव बनाना शुरू किया था कि वह शादी कर लें। रेखा ने इसका विरोध किया और घर छोड़कर अपनी एक दोस्त के साथ बेंगलुरु आ गईं। बेंगलुरु में बिना समय गंवाए उन्होंने एक कंप्यूटर ट्रेनिंग सेंटर जॉइन कर लिया। कंप्यूटर कोर्स से संतुष्ट ना होने के बाद रेखा ने चाइल्ड हेल्पलाइन 1098 पर कॉल करके अपनी पढ़ाई जारी रखने के लिए मदद मांगी। बाद में बाल कल्याण समिति के सदस्यों ने उनकी मदद की और उन्हें स्पर्श ट्र्स्ट में रहने की व्यवस्था की। उन्होंने नेहामांगला स्थित सरकारी प्री यूनिवर्सिटी स्कूल में रेखा का ऐडमिशन भी कराया। हाल ही में आए रिजल्ट में रेखा को 600 में से 542 नंबर मिले हैं। इतिहास विषय में उन्हें 100 में से 100 नंबर मिले हैं। अब वह इतिहास, राजनीति विज्ञान और अर्थशास्त्र में बीए करना चाहती हैं। स्पर्श ट्र्स्ट के मैनेजिंग ट्रस्टी आर गोपीनाथ कहते हैं, ‘रेखा अपने लक्ष्य के प्रति समर्पित थी। बाल कल्याण समिति की टीम ने उसकी मदद की थी। हमें उसकी सफलता पर गर्व है।’

Leave A Comment